Home /News /sports /

Tokyo Olympic: आईओए ने आयोजकों से पूछा- विदेश में ट्रेनिंग कर रहे खिलाड़ियों पर कौन सा प्रोटोकॉल लागू होगा?

Tokyo Olympic: आईओए ने आयोजकों से पूछा- विदेश में ट्रेनिंग कर रहे खिलाड़ियों पर कौन सा प्रोटोकॉल लागू होगा?

भारतीय खिलाड़ियों के लिए यह जर्सी बनाई गई है. (SAI)

भारतीय खिलाड़ियों के लिए यह जर्सी बनाई गई है. (SAI)

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic) के मुकाबले 23 जुलाई से होने हैं. भारतीय एथलीट पर आयोजकों ने कड़े प्रोटोकॉल लागू किए हैं. ऐसे में विदेश में ट्रेनिंग करने वाले हमारे खिलाड़ियों पर कौन सा नियम लागू होगा. इसके लेकर आईओए (IOA) पशोपेश में है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने टोक्यो खेलों के आयोजकों से यह स्पष्ट करने के लिए कहा कि भारतीय खिलाड़ियों पर जापान में प्रवेश करने पर लगाए जाने वाले कड़े नियम क्या उन खिलाड़ियों पर भी लागू होंगे, जो अभी विदेशों में अभ्यास कर रहे हैं और वहीं से सीधे टोक्यो पहुंचेंगे. निशानेबाज, पहलवान और मुक्केबाज सहित कई भारतीय खिलाड़ी अभी विदेशों में अभ्यास कर रहे हैं. इनमें से मुक्केबाजों को टोक्यो रवाना होने से पहले 10 जुलाई को भारत लौटना है.

    टोक्यो के आयोजकों ने भारत सहित उन 11 देशों के खिलाड़ियों, कोच और सहयोगी स्टाफ सहित सभी यात्रियों के लिए कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जहां कोविड-19 के विभिन्न रूप मिले थे. आईओए ने ओलंपिक खेलों के लिए टोक्यो आयोजन समिति को पत्र लिखकर कहा, ‘वर्तमान में भारत के कई खिलाड़ी पिछले एक महीने से भी अधिक समय से विदेशों में अभ्यास कर रहे हैं और वे वहीं से सीधे टोक्यो पहुंचेंगे. वे जिन देशों में अभ्यास कर रहे हैं, उनमें वे 11 देश शामिल नहीं हैं, जिन्हें नई अतिरिक्त शर्तों वाली सूची में रखा गया है.’

    लगातार 7 दिन तक होना है टेस्ट

    आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा और महासचिव राजीव मेहता ने पत्र में कहा, ‘यह पुष्टि करने का कष्ट करें कि पिछले 30 दिन से अधिक समय से भारत से बाहर अभ्यास करने वाले इन खिलाड़ियों को इन अतिरिक्त प्रवेश शर्तों का पालन करने की आवश्यकता नहीं होगी.’ ओलंपिक के लिए टोक्यो जाने वाले भारतीय खिलाड़ियों और अधिकारियों को जापानी सरकार ने रवाना होने से पहले एक सप्ताह तक प्रत्येक दिन कोविड-19 परीक्षण करने और आगमन के बाद तीन दिन तक किसी भी अन्य देश के खिलाड़ियों से संपर्क नहीं करने के लिए कहा है, जिससे आईओए नाराज है.

    आईओए ने आयोजकों पर उठाए हैं सवाल

    आईओए ने इससे पहले इन नियमों को ‘अनुचित और भेदभावपूर्ण’ करार देकर टोक्यो आयोजकों को पत्र लिखकर यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि कोविड-19 के बचाव के लिए तैयार की गई इस व्यवस्था का खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर विपरीत और बुरा प्रभाव न पड़े. आईओए ने टोक्यो आयोजकों से यह भी कहा है कि भारतीय दल के लिए टोक्यो रवाना होने से पूर्व 48 घंटे पहले की गई आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट लाना संभव नहीं होगा. उसने भारतीयों को रवाना होने से 48 घंटे से अधिक समय पहले परीक्षण करने की अनुमति देने का अनुरोध किया है.

    खिलाड़ी 400 किमी दूर हैं

    बयान में कहा गया है, ‘टोक्यो आयोजकों ने भारत में कोविड-19 पीसीआर परीक्षण के लिए प्रयोगशालाओं और परीक्षण सुविधाओं की जो सूची जारी की है, वह काफी कम हैं. कृपया यह ध्यान रखें कि कुछ परीक्षण प्रयोगशालाएं उन स्थानों से 400 किमी दूर हैं, जहां अभी हमारे खिलाड़ी अभ्यास कर रहे हैं. हमारे खिलाड़ी जहां अभ्यास कर रहे हैं, हम वहां अतिरिक्त प्रयोगशालाओं का अनुरोध करते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘हमें दिल्ली में मान्यता प्राप्त चिकित्सा केंद्र ने बताया कि वे पीसीआर परिणाम की एक प्रति ईमेल से 24 घंटे में जबकि उसकी मूल प्रति 30 घंटे में उपलब्ध करा पाएंगे. इस धीमी प्रक्रिया के कारण हमारे दल के सदस्यों के लिए टोक्यो पहुंचने पर 48 घंटे पहले किए गए परीक्षण की प्रति साथ में रखना संभव नहीं हो सकता है.’undefined

    Tags: Indian olympic, Sports news, Tokyo olympic

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर