Tokyo Olympics : ओलंपिक खेल शुरू होने से पहले चर्चा में 'एंटी सेक्स' बेड, जानिए- क्या है पूरा मामला

टोक्यो के खेल गांव में इस तरह के बेड लगाए गए हैं जिन्हें एंटी-सेक्स बेड कहा जा रहा है. (Instagram-nsfwedepsiz)

Anti Sex Bed in Olympics : 23 जुलाई से ओलंपिक खेल शुरू होने हैं लेकिन इससे पहले खेल गांव में खिलाड़ियों के लिए बनाए गए बेड चर्चा में हैं. इन्हें एंटी सेक्स बेड भी कहा जा रहा है. आयोजकों ने इससे पहले 1.5 लाख से ज्यादा कंडोम बांटने का लक्ष्य रखा था जिस पर काफी विवाद भी हुआ.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) के लिए कई देशों के खिलाड़ी जापान पहुंच चुके हैं. इसके शुरू होने में अब एक सप्ताह से भी कम वक्त बचा है लेकिन इससे पहले ही कोरोना वायरस के मामले सामने आ रहे हैं. इस बीच खेल गांव में एथलीटों के लिए लगाए गए बेड भी काफी चर्चा में हैं. 23 जुलाई से शुरू होने वाले इन खेलों से पहले ही बेड चर्चा में आ गए हैं. इनकी तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं और इन्हें एंटी सेक्स बेड (Anti Sex Bed) कहा जा रहा है.

    जाहिर तौर से आप सोच रहे होंगे कि आखिर ये किस तरह के बेड हैं. दरअसल, ओलंपिक खेलों के दौरान खिलाड़ी जहां मैदान पर अपना दम दिखाता है तो वहीं खेल के बाद अपने चाहने वालों के साथ खुलकर रोमांस भी करता है. ओलंपिक खेलों के आयोजकों ने इससे पहले 1.5 लाख से ज्यादा कंडोम बांटने का लक्ष्य रखा था. हालांकि इस पर काफी विवाद हुआ क्योंकि कोरोना वायरस के कारण सोशल डिस्टैंसिंग का ख्याल रखने की लगातार अपील की जा रही है. अब बेड भी चर्चा में आ गए हैं.

    खेल गांव में एक खिलाड़ी को जिस बेड पर सुलाया जाएगा, उसे एंटी-सेक्स कहा जा रहा है. एंटी सेक्स इस वजह से क्योंकि उस पर चाहकर भी रोमांस नहीं किया जा सकेगा. आयोजकों ने इस साल कोरोना वायरस को देखते हुए यह फैसला किया है कि बेड को कार्डबोर्ड से बनाया जाए और उस पर दो लोग के सोने की स्थिति ही ना बन पाए. वैसे भी ओलंपिक खेलों में स्टेडियम में दर्शकों को आने की अनुमति ही नहीं दी गई है.

    इसे भी पढ़ें, रवि दहिया के ओलंपिक पदक का बेसब्री से इंतजार कर रहा है हरियाणा का नाहरी गांव

    खिलाड़ियों के लिए जो बेड बनाया गया है, वह कार्डबोर्ड से तैयार किया गया है. इसका डिजाइन कुछ इस तरह का है कि ये सिर्फ एक शख्स का भार उठा सके. अगर दो लोग इस पर चढ़े और थोड़ा भी प्रेशर हुआ तो यह टूट सकता है. किसी भी तरह के झटके को बर्दाश्त करने की भी इसमें ताकत नहीं है. कहा जा रहा है कि इसकी भार सहने की क्षमता 200 किलो तक है लेकिन कुछ खिलाड़ियों का कहना है कि ये बेड उनका खुद का भार भी नहीं सह पाएगा. साथ ही बेड का साइज भी छोटा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.