• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • OTHERS TOKYO OLYMPICS ASAHI SHIMBUN NEWSPAPER SAYS JAPAN GAMES MUST BE CANCELLED

जापान के प्रमुख समाचार पत्र ने ओलंपिक रद्द करने की अपील की

टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से होनी है (AP)

जापान के एक प्रमुख समाचार पत्र असाही शिमबुन ने बुधवार को टोक्यो ओलंपिक को रद्द करने की अपील की, जिनके शुरू होने में अब दो महीने से भी कम का समय बचा है.

  • Share this:
    टोक्यो. जापान के एक प्रमुख समाचार पत्र असाही शिमबुन ने बुधवार को टोक्यो ओलंपिक को रद्द करने की अपील की, जिनके शुरू होने में अब दो महीने से भी कम का समय बचा है. असाही जापान का पहला प्रमुख समाचार पत्र है जो ओलंपिक रद्द करने की क्षेत्रीय समाचार पत्रों की मुहिम में शामिल हुआ है.

    इस समाचार पत्र का ओलंपिक के खिलाफ आवाज उठाना इसलिए महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि वह जापान के कई अन्य समाचार पत्रों की तरह 23 जुलाई से शुरू होने वाले खेलों का प्रायोजक है. असाही को उदारपंथी समाचार पत्र माना जाता है और अक्सर प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा की सत्तारूढ़ पार्टी का विरोध करता है.

    समाचार पत्र ने 'हम मांग करते हैं कि प्रधानमंत्री सुगा रद्द करने का फैसला करें' शीर्षक के तहत लिखा है, ''हम नहीं समझते कि इन गर्मियों में शहर में ओलंपिक का आयोजन करना तर्कसंगत है.'' इसमें कहा गया है, ''हम प्रधानमंत्री सुगा से मांग करते हैं कि वे शांतचित होकर परिस्थितियों का आकलन करें और गर्मियों में होने वाले इस आयोजन को रद्द करने का फैसला करें.''

    अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति या स्थानीय आयोजकों ने ओलंपिक रद्द करने की योजना के अब तक किसी तरह के संकेत नहीं दिये हैं लेकिन इन खेलों का विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है क्योंकि जापान में बहुत कम जनसंख्या का टीकाकरण हुआ है.

    टोक्यो ओलंपिक को कोविड-19 के कारण 2020 में एक साल के लिये स्थगित कर दिया गया था. बता दें कि टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से होनी है, लेकिन कोरोना (Covid-19) के कारण इस बार गेम्स में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे. टोक्यो को जब गेम्स की मेजबानी सौंपी गई थी तब उसने स्वयं को सुरक्षित स्थल के रूप में पेश किया था, जबकि इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी (IOC) के तत्कालीन उपाध्यक्ष क्रेग रीडी ने ब्यूनस आयर्स में 2013 में वोटिंग के बाद कहा था कि निश्चित रूप से यह अहम मुद्दा होगी.

    गेम्स पिछले साल ही होने थे, लेकिन कोरोना के कारण इसे एक साल के लिए टाल दिया गया था. कोविड-19 के बढ़ते मामलों और जापान में खेलों के आयोजन को लेकर जनता के विरोध के बावजूद आयोजक और आईओसी गेम्स के आयोजन पर जोर दे रहे हैं. इस बार विदेशी फैंस के आने पर रोक लग सकती है. उत्तर कोरिया की टीम पहले ही खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए गेम्स के हट चुकी है.