• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: 2 ही खेलों में भारत के महिला और पुरुष दोनों खिलाड़ियों ने जीते हैं मेडल, ये है रोचक कहानी

Tokyo Olympics: 2 ही खेलों में भारत के महिला और पुरुष दोनों खिलाड़ियों ने जीते हैं मेडल, ये है रोचक कहानी

Tokyo Olympics: एमसी मैरीकॉम और साक्षी मलिक मेडल जीत चुकी हैं. (मैरीकॉम और साक्षी के इंस्टाग्राम से)

Tokyo Olympics: एमसी मैरीकॉम और साक्षी मलिक मेडल जीत चुकी हैं. (मैरीकॉम और साक्षी के इंस्टाग्राम से)

Tokyo Olympics: भारतीय खिलाड़ियों का पहला दल ओलंपिक (Tokyo Olympics) के लिए रवाना हो चुका है. गेम्स के मुकाबले 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होने हैं. हालांकि कोरोना के कारण थोड़ा संशय है. भारत के 125 खिलाड़ी 18 खेलों में दमखम दिखाएंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) के लिए भारतीय खिलाड़ी तैयार हैं. पहला दल रवाना हो चुका है. भारत के 125 खिलाड़ी 18 खेलों में उतर रहे हैं. इस बार खिलाड़ियों से दहाई मेडल की उम्मीद की जा रही है. हालांकि 2016 रियो ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ियों को सिर्फ दो मेडल मिले थे और दोनों महिला खिलाड़ियों ने दिलाए थे. पीवी सिंधु ने बैडमिंटन में सिल्वर जीता था तो साक्षी मलिक को कुश्ती में ब्रॉन्ज मेडल मिला था.

    भारतीय खिलाड़ी 25वीं बार ओलंपिक में उतर रहे हैं. लेकिन अब तक भारतीय खिलाड़ी सिर्फ 28 मेडल ही जीत सके हैं. इतना ही नहीं सिर्फ दो खेलों में महिला और पुरुष दोनों खिलाड़ियों ने मेडल जीते हैं. बॉक्सिंग और कुश्ती में भारतीय खिलाड़ियों ने यह कारनामा किया है. ओलंपिक के इतिहास में भारतीय खिलाड़ियों ने 8 खेलों में मेडल जीते हैं. सबसे अधिक 11 मेडल हॉकी में मिले हैं.



    केडी जाधव ने 1952 में कुश्ती में जीता ब्रॉन्ज मेडल

    कुश्ती खिलाड़ी केडी जाधव ने 1952 हेलसिंकी ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. वे देश की आजादी के बाद व्यक्तिगत खेलों में मेडल जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी थे. इसके बाद इसी खेल में सुशील कुमार ने 2008 में ब्रॉन्ज जबकि 2012 में सिल्वर मेडल जीता. योगेश्वर दत्त ने 2012 में ब्रॉन्ज पर कब्जा किया. 2016 रियो ओलंपिक में महिला खिलाड़ी साक्षी मलिक ने ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रचा था. सुशील के अलावा कुश्ती में कोई खिलाड़ी एक से अधिक मेडल नहीं जीत सका है.



    एमसी मैरीकॉम ने बॉक्सिंग में किया कारनामा

    बॉक्सिंग की बात की जाए तो इसमें पहले मेडल के लिए लंबा इंतजार करना पड़ा. विजेंदर सिंह ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता. वे खेल में मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बने. 2012 लंदन ओलंपिक में एमसी मैरीकॉम ने ब्रॉन्ज जीतकर इतिहास रच दिया. हालांकि 2016 में कोई मेडल नहीं मिला. एमसी मैरीकॉम टोक्यो में भी दावेदारी पेश कर रही हैं.

    2 ही खेलों में मिले हैं 5 से अधिक मेडल

    ओलंपिक इतिहास की बात की जाए तो भारत को अब तक कुल 28 मेडल मिले हैं. 1900 में पहली बार भारतीय खिलाड़ी ओलंपिक में उतरे थे, जबकि गेम्स की शुरुआत 1896 में हुई थी. ओलंपिक में हमें बतौर खेल सबसे अधिक 11 मेडल हॉकी में मिले हैं. इसमें 8 गोल्ड, 1 ब्रॉन्ज और 2 सिल्वर मेडल शामिल है. भारतीय खिलाड़ियाें ने सिर्फ दो ही खेल में 5 से अधिक मेडल जीते हैं. हॉकी में 11 मेडल के अलावा कुश्ती में 5 मेडल मिले हैं. बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु से भी इस बार मेडल की उम्मीद है. यदि वे मेडल जीत लेती हैं तो व्यक्तिगत खेलों में दो मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन जाएंगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज