• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics, Boxing: लवलीना क्वार्टर फाइनल में, भारत दूसरे मेडल से एक कदम दूर

Tokyo Olympics, Boxing: लवलीना क्वार्टर फाइनल में, भारत दूसरे मेडल से एक कदम दूर

Tokyo Olympics: लवलीना बोरगोहेन (Lavlina Borgohain) मेडल से सिर्फ एक जीत दूर हैं. (AP)

Tokyo Olympics: लवलीना बोरगोहेन (Lavlina Borgohain) मेडल से सिर्फ एक जीत दूर हैं. (AP)

Tokyo Olympics: भारत को अब तक ओलंपिक में सिर्फ एक मेडल मिला है. पुरुष हॉकी टीम ने दूसरी जीत दर्ज करके मेडल की उम्मीद बढ़ा दी है. इस बीच महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन (Lavlina Borgohain) क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं.

  • Share this:
    टोक्यो. भारतीय महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन (Lavlina Borgohain) टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं. इसके साथ उन्होंने एक और मेडल की उम्मीद जगा दी है. यदि लवलीना एक और मुकाबला जीत लेती हैं तो भारत का मेडल पक्का हो जाएगा. टोक्यो ओलंपिक में अब तक भारत को सिर्फ एक मेडल मिला है. महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल जीता है.

    लवलीना बोरगोहेन को वेल्टरवेट कैटेगरी (64-69 किग्रा) के पहले राउंड में बाई मिली थी. उन्हाेंने मंगलवार को राउंड-16 के मुकाबले में जर्मनी की 35 साल की मुक्केबाज नेदिने एपेट्ज को 3-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. 23 साल की लवलीना ने यह मुकाबला 3-2 से जीता. लवलीना अब मेडल पक्का करने से सिर्फ एक जीत दूर हैं. बॉक्सिंग में सेमीफाइनल में पहुंचते ही कम से कम ब्रॉन्ज मेडल पक्का हो जाता है. सेमीफाइनल हारने वाले दोनों खिलाड़ियों को ब्रॉन्ज मेडल मिलता है. लवलीना क्वार्टर फाइनल में 30 जुलाई को ताइवान की चिन चेन से भिड़ेंगी.  एपेट्ज दो बार विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता और पूर्व यूरोपीय चैंपियन हैं. लवलीना विश्व चैंपियनशिप में दो और एशियाई चैंपियनशिप में एक बार की कांस्य पदक विजेता हैं.

    तीन महिला महिला खिलाड़ी राउंड-16 में

    लवलीना ने जहां क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई, वहीं तीन महिला बॉक्सर पहले ही राउंड-16 में पहुंच चुकी हैं. इसमें एमसी मैरीकॉम, सिमरनजीत कौर और पूजा रानी हैं. पूजा रानी का अगला मुकाबला 28 जुलाई को, मैरीकॉम का 29 को जबकि सिमरनजीत का अगला मुकाबला 30 जुलाई को होना है. ओलंपिक की बात की जाए तो बतौर महिला बॉक्सर सिर्फ एमसी मैरीकॉम ही मेडल जीत सकी हैं. उन्होंने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा किया था.

    यह भी पढ़ें: Tokyo Olympics: भारतीय हॉकी टीम की शानदार वापसी, दूसरी जीत के साथ क्वार्टर फाइनल की उम्मीद बढ़ी

    पुरुष कैटेगरी में नंबर-1 पंघाल का अगला मुकाबला 31 को

    पुरुष कैटेगरी में 5 जबकि महिला कैटेगरी में 4 मुक्केबाजों ने ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया था. लेकिन पुरुष कैटेगरी की बात की जाए तो तीन बॉक्सर पहले ही राउंड में हारकर बाहर हो चुके हैं. इसमें विकास कृष्णन, मनीष कौशिक और आशीष कुमार हैं. वर्ल्ड नंबर-1 अमित पंघाल और सतीश कुमार को पहले राउंड में बाई मिली है. सतीश राउंड-16 का मुकाबला 29 जुलाई को खेलेंगे. वहीं पंघाल 31 जुलाई को उतरेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज