• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: महिलाओं के दम पर अमेरिका को पछाड़कर चीन टॉप पर, भारत को भी 2 मेडल

Tokyo Olympics: महिलाओं के दम पर अमेरिका को पछाड़कर चीन टॉप पर, भारत को भी 2 मेडल

Tokyo Olympics: लियू शियोजून ने वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीता. चीन को अब तक 22 गोल्ड मिल चुका है. (AP)

Tokyo Olympics: लियू शियोजून ने वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीता. चीन को अब तक 22 गोल्ड मिल चुका है. (AP)

Tokyo Olympics: चीन ने टोक्यो ओलंपिक में अब तक शानदार प्रदर्शन किया है. खासकर उसकी महिला एथलीट ने बेहद उम्दा खेल दिखाया है. भारत को भी अब तक दोनों मेडल महिला खिलाड़ियों ने ही दिलाए हैं. 23 जुलाई से शुरू हुए गेम्स 8 अगस्त तक चलेंगे.

  • Share this:

    टोक्यो. टोक्यो ओलंपिक गेम्स (Tokyo Olympics) में चीन पदक तालिका में टॉप पर चल रहा है. चीन ने अब तक 22 गोल्ड, 13 सिल्वर और 12 ब्रॉन्ज सहित 47 मेडल जीते हैं. वहीं अमेरिका ने 19 गोल्ड, 20 सिल्वर और 13 ब्रॉन्ज सहित 52 मेडल पर कब्जा किया है. अमेरिका दूसरे नंबर पर है. भारत के भी अब तक 2 मेडल पक्के हुए हैं, दोनों मेडल महिला खिलाड़ियों ने जीते हैं. महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल जीता है. वहीं महिला बॉक्सर लवलीना बोरगाेहेन ने सेमीफाइनल में पहुंचकर मेडल पक्का कर लिया है.

    चीन की बात की जाए तो 22 में 12 गोल्ड मेडल महिला खिलाड़ियों ने जीते हैं. वहीं पुरुषों को 7 गोल्ड मिले हैं. 3 गोल्ड मिक्स्ड इवेंट से आए हैं. ओवरऑल मेडल की बात की जाए तो 47 में से 22 मेडल महिला खिलाड़ियों ने जीते हैं. यानी लगभग 47 फीसदी है. वहीं पुरुष खिलाड़ियों ने 19 मेडल पर कब्जा किया है. 6 मेडल मिक्स्ड इवेंट में हैं. यानी चीन को अधिक मेडल महिला खिलाड़ी दिला रही हैं.

    अमेरिका अधिक मेडल जीतकर भी दूसरे नंबर पर है

    अमेरिका की बात की जाए तो उसने अब तक 52 मेडल जीते हैं. यानी चीन से 5 मेडल ज्यादा. लेकिन गोल्ड मेडल कम होने के कारण वह दूसरे नंबर पर है. 19 गोल्ड में से 9 गोल्ड महिलाओं ने जबकि 10 गोल्ड पुरुष खिलाड़ियाें ने जीते हैं. ओवरऑल मेडल की बात की जाए तो महिला खिलाड़ियों ने 31 मेडल जीते हैं, जबकि पुरुष खिलाड़ियाें ने 16 मेडल पर कब्जा किया है. 5 मेडल मिक्स्ड इवेंट में मिले हैं. चीन की महिला खिलाड़ियों ने तीन अधिक गोल्ड जीतकर तालिका में अपने देश को टॉप पर रखा है.

    दो तिहाई गोल्ड महिलाओं ने जीते

    1984 के बाद से चीन ने ओलंपिक में ध्यान देना शुरू किया. उसने 1984 के बाद जितने भी गोल्ड जीते हैं, उनमें से 75 फीसदी गोल्ड 6 खेलों में आए हैं. इसमें टेबल टेनिस, शूटिंग, डाइविंग, बैडमिंटन, जिम्नास्टिक और वेटलिफ्टिंग शामिल है. इसमें से दो तिहाई मेडल महिला खिलाड़ियों ने जीते. टोक्यो की बात की जाए तो चीन ने 406 खिलाड़ियों को उतारा है. इसमें से 281 यानी 70 फीसदी खिलाड़ी महिलाएं हैं.

    यह भी पढ़ें: Tokyo Olympics: गोल्ड जीतने पर सिंगापुर देता है सबसे अधिक पैसा, 3 देश करते हैं लाइफ टाइम मदद

    यह भी पढ़ें: Tokyo Olympics: सतीश कुमार क्वार्टर फाइनल में हारे, पुरुष बॉक्सर नहीं जीत सके मेडल

    2008 में अमेरिका को पछाड़ा

    1988 ओलंपिक में चीन ने ओलंपिक में सिर्फ 5 गोल्ड मेडल जीते थे, लेकिन 20 साल में ही उसने अमेरिका को पीछे छोड़ दिया. 2008 में बीजिंग में हुए ओलंपिक गेम्स में चीन पदक तालिका में टॉप पर रहा. 2012 में भी उसका प्रदर्शन अच्छा रहा और वह टॉप-2 में जगह बनाने में सफल रहा. हालांकि 2016 रियो ओलंपिक में चीन के खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके. 2008 में चीन ने 48 गोल्ड के साथ 100 मेडल जीते. वहीं अमेरिका 36 गोल्ड के साथ 112 मेडल जीतने में सफल रहा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज