• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: 14 साल की क्वान ने डाइविंग में जीता गोल्ड, टोक्यो में चीन की टीम की सबसे युवा एथलीट

Tokyo Olympics: 14 साल की क्वान ने डाइविंग में जीता गोल्ड, टोक्यो में चीन की टीम की सबसे युवा एथलीट

Tokyo Olympics: चीन की 14 साल की क्ववान हॉन्गचैन ने डाइविंग में गोल्ड जीता है. वो टोक्यो गेम्स में हिस्सा लेने वाली चीन की सबसे एथलीट हैं. (AP)

Tokyo Olympics: चीन की 14 साल की क्ववान हॉन्गचैन ने डाइविंग में गोल्ड जीता है. वो टोक्यो गेम्स में हिस्सा लेने वाली चीन की सबसे एथलीट हैं. (AP)

Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक में गुरुवार को महिलाओं के डाइविंग के 10 मीटर प्लेटफॉर्म में चीन की क्वान हॉन्गचैन (Quan Hongchan) ने गोल्ड जीता. क्वान सिर्फ 14 साल की हैं और टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने आए चीन की टीम की सबसे कम उम्र की एथलीट हैं. वैसे, इस ओलंपिक में हिस्सा लेने वाली सबसे कम उम्र की एथलीट सीरिया की हेंड जाज़ा (Hend Zaza) हैं. 12 साल की जाज़ा महिला सिंगल्स के टेबल टेनिस में उतरीं थीं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में चीन की बादशाहत बरकरार है. अब तक वो 33 गोल्ड जीत चुका है. गुरुवार को महिलाओं के डाइविंग के 10 मीटर प्लेटफॉर्म में चीन की क्वान हॉन्गचैन (QUAN Hongchan) ने गोल्ड जीता. क्वान सिर्फ 14 साल की हैं और टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने आए चीन के दल की सबसे कम उम्र की एथलीट हैं. वो इस इवेंट के क्वालिफिकेशन में भी पहले स्थान पर रही थीं. उन्होंने टोक्यो एक्वेटिक्स सेंटर में हुए फाइनल में दो परफेक्ट-10 का स्कोर किया. उन्होंने कुल 466.20 अंक हासिल किए. दूसरे स्थान पर भी चीन की डाइवर चेन यूक्सी रहीं. उन्हें 425.40 अंक मिले. ऑस्ट्रेलिया की वू मलेसा ने ब्रॉन्ज मेडल जीता.

    चीन की क्वान के अलावा भी कई कम उम्र के एथलीट्स ने टोक्यो ओलंपिक में अपना लोहा मनवाया है. इसमें मेजबान जापान की मोमिजी निशिया हैं. निशिया ने वुमेंस स्ट्रीट स्केटबोर्डिंग इवेंट में गोल्ड जीतकर इतिहास रचा था और इस ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली सबसे युवा एथलीट बनीं थीं. गोल्ड जीतने के दिन निशिया की उम्र 13 साल 330 दिन थी. स्केटबोर्डिंग को पहली बार टोक्यो ओलंपिक में शामिल किया गया है.

    दिलचस्प बात यह रही कि जिस इवेंट में 13 साल की निशिया ने गोल्ड जीता. उसी इवेंट का सिल्वर मेडल ब्राजील की रेयस्सा लील को मिला था. उनकी उम्र भी 13 बरस ही है. इसके अलावा ब्रॉन्ज मेडल भी जापान की झोली में आया था और इसे जीतने वाली खिलाड़ी फुना भी सिर्फ 16 साल की हैं.

    Tokyo Olympics : उम्र भी नहीं तोड़ पाई इनका हौसला, किसी ने 58, तो किसी ने 13 साल की उम्र में जीता मेडल

    हेंड जाज़ा टोक्यो गेम्स की सबसे युवा खिलाड़ी 
    सीरिया की हेंड जाज़ा (Hend Zaza) महज 12 साल की उम्र में ओलंपिक का हिस्सा बनीं थीं. वो टोक्यो गेम्स में टेबल टेनिस के महिला सिंगल्स में उतरी थीं. हालांकि, जाज़ा पहले ही मैच में 39 साल की ऑस्ट्रिया की खिलाड़ी ल्यू जिया से हारकर बाहर हो गईं थीं. ल्यू का ये छठवां ओलंपिक था.

    दिलचस्प बात यह है कि जब जाज़ा पैदा भी नहीं हुईं थीं, तब ल्यू 3 ओलंपिक में हिस्सा ले चुकी थीं. टोक्यो के सबसे युवा एथलीट में जापान की 12 साल की कोकोना हिराकी भी शामिल हैं. उन्होंने स्केटबोर्ड इवेंट में दावेदारी पेश की थी. वो समर ओलंपिक में जापान की ओर से सबसे कम उम्र में खेलने वाली एथलीट हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज