• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • India vs Germany, Hockey Highlights: भारतीय हॉकी को 41 साल बाद Olympics मेडल, 2 गोल से पिछड़कर भी जीता महारोमांचक मुकाबला

India vs Germany, Hockey Highlights: भारतीय हॉकी को 41 साल बाद Olympics मेडल, 2 गोल से पिछड़कर भी जीता महारोमांचक मुकाबला

India vs Germany, Hockey Highlights: भारत ने दो गोल से पिछड़ने के बाद ब्रॉन्ज मेडल का मुकाबला जीता. (AP)

India vs Germany, Hockey Highlights: भारत ने दो गोल से पिछड़ने के बाद ब्रॉन्ज मेडल का मुकाबला जीता. (AP)

Tokyo Olympics: भारतीय पुरुष हाॅकी टीम ने टोक्यो में ब्रॉन्ज मेडल जीत लिया है. टीम ने जर्मनी को 5-4 से हराया. भारत को 1980 के बाद हॉकी में मेडल मिला है. यह हॉकी का हमारा ओवरऑल 12वां मेडल है. जर्मनी की टीम को पिछले 4 ओलंपिक से मेडल मिल रहे थे.

  • Share this:

    टोक्यो. भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. टीम ने एक रोमांचक मुकाबले में जर्मनी को 5-4 से हराया. एक समय टीम 1-3 से पीछे थी, लेकिन इसके बाद शानदार वापसी करते हुए जीत हासिल की. हॉकी में भारत को 1980 के बाद मेडल मिला है. यानी 41 साल से टीम मेडल का इंतजार कर रही थी. मैच में 10 सेकंड का समय बचा था और जर्मनी को कॉर्नर मिला. लेकिन गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने गोल नहीं होने दिया और टीम ने इतिहास रचते हुए मेडल जीता.

    1- मुकाबले में 2016 की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट जर्मनी की टीम ने तेज शुरुआत की. दूसरे मिनट में ही जर्मनी के उरुज ने गोल कर टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई. पहले क्वार्टर तक जर्मनी की टीम 1-0 से आगे थी.

    2- दूसरे क्वार्टर में भारत ने वापसी की. 17वें मिनट में सिमरनजीत सिंह ने गोल करके स्काेर 1-1 से बराबर कर दिया. इसके बाद जर्मनी की ओर से 24वें मिनट में निकोलस वेलन ने और 25वें मिनट में बेनिडिट फुर्क ने गोल करके टीम को 3-1 की बढ़त दिलाई.

    3- दो गोल से पिछड़ने के बाद भारतीय टीम ने अच्छी वापसी की. 27वें मिनट में हार्दिक सिंह ने काॅर्नर रूकने के बाद शानदार गोल किया. फिर 29वें मिनट में हरमनप्रीत ने गोल करके स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया.

    4- दूसरे क्वार्टर में कुल 5 गोल हुए. इस क्वार्टर ने ही इस रोमांचक मुकाबले का रिजल्ट तय किया. भारत ने इस क्वार्टर में सबसे अधिक तीन गोल किए.

    5- तीसरे क्वार्टर में भी भारतीय टीम ने हमले जारी रखे. 31वें मिनट में पेनल्टी स्ट्रोक पर रूपिंदर पाल सिंह ने गोल करके स्कोर 4-3 कर दिया. 34वें मिनट में सिमरनजीत ने अपना दूसरा गोल कर स्कोर 5-3 कर दिया. तीसरे क्वार्टर के बाद भारत के पास 5-3 की बढ़त रही.

    6- मैच के अंतिम क्वार्टर में भारत और जर्मनी दोनों ने हमले किए. 48वें मिनट में जर्मनी के लुका विनफेडर ने गोल करके स्कोर 4-5 कर दिया. ऐसे में लगा कि जर्मन टीम वापसी कर लेगी.

    7- मैच खत्म होने में जब 4 मिनट बचा था, तब जर्मनी की टीम ने अपने गोलकीपर को हटा दिया और एक अतिरिक्त खिलाड़ी को मैदान पर बुला लिया, ताकि खेल को तेज कर सकें.

    8- मैच खत्म होने के 6 सेकंड पहले जर्मनी को पेनल्टी कॉर्नर मिला. इसने भारतीय टीम का डरा दिया. लेकिन गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने शानदार बचाव कर टीम इंडिया को जीत दिलाई.

    9- मैच में भारत को 6 पेनल्टी कॉर्नर मिले और टीम ने 2 पर गोल दागा. दूसरी ओर जर्मनी को 13 कॉर्नर मिले और वे सिर्फ एक में गोल कर सकी. यही टीम की हार का कारण भी बनीं.

    यह भी पढ़ें: BREAKING: भारतीय हॉकी टीम ने टोक्यो ओलंपिक में जीता ब्रॉन्ज मेडल, 41 साल का इंतजार खत्म

    10- ओलंपिक के इतिहास की बात की जाए तो भारत ने 12वां मेडल जीता. टीम ने 1928, 1932, 1936, 1948, 1952, 1956, 1964 और 1980 में गोल्ड मेडल जीता. 1960 में सिल्वर जबकि 1968 और 1972 में ब्रॉन्ज मेडल मिला.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन