Home /News /sports /

Tokyo Olympics: भारतीय निशानेबाज जगरेब से टोक्यो रवाना, पिस्टल कोच पावेल को टीम से जोड़ने की कोशिश जारी

Tokyo Olympics: भारतीय निशानेबाज जगरेब से टोक्यो रवाना, पिस्टल कोच पावेल को टीम से जोड़ने की कोशिश जारी

भारतीय शूटिंग टीम क्रोएशिया में 80 दिन रूकी थी. इस दौरान टीम ने ट्रेनिंग के साथ ही कई इवेंट में भी हिस्सा लिया था. (SAI Media)

भारतीय शूटिंग टीम क्रोएशिया में 80 दिन रूकी थी. इस दौरान टीम ने ट्रेनिंग के साथ ही कई इवेंट में भी हिस्सा लिया था. (SAI Media)

Tokyo Olympics: भारतीय निशानेबाजी दल (Indian Shooting Team) में ओलंपिक में भाग लेने के लिए शुक्रवार को एम्सटर्डम के रास्ते टोक्यो रवाना हुआ, जिसमें विदेशी पिस्टल कोच पावेल स्मिरनोव शामिल नहीं है. कोविड-19 महामारी के कारण दल में सहयोगी सदस्यों की संख्या सीमित है और पावेल टोक्यो में बाद में टीम से जुड़ने की संभावना के कारण जगरेब में ही रुके हैं. भारतीय दल को जगरेब शूटिंग फेडरेशन ने यादगार विदाई दी.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. भारतीय शूटिंग टीम (Indian Shooting Team) क्रोएशिया में 80 दिन का कैंप पूरा करने के बाद टोक्यो(Tokyo Olympics) के लिए रवाना हो गई है. रास्ते में भारतीय निशानेबाज एम्सटर्डम में कुछ घंटों के लिए रूके हैं. क्रोएशिया से निकलने से पहले सभी भारतीय निशानेबाजों के दोनों कोरोना टेस्ट निगेटिव आए. एम्स्टर्डम में, 13 सदस्यीय पिस्टल और राइफल टीम के साथ दो स्कीट निशानेबाज- मैराज अहमद खान और अंगद वीर सिंह भी टीम से जुड़े जाएंगे. ये दोनों इटली में ट्रेनिंग कर रहे थे.

    कोविड-19 महामारी के कारण दल में सहयोगी सदस्यों की संख्या सीमित है. इसी वजह से भारतीय पिस्टल टीम के विदेशी कोच पावेल स्मिरनोव टीम के साथ नहीं गए हैं. पावेल टोक्यो में बाद में टीम से जुड़ने की संभावना के कारण जगरेब में ही रुके हैं.

    भारतीय टीम 80 दिन तक क्रोएशिया की राजधानी में जगरेब में रही. इस दौरान ट्रेनिंग के भारतीय निशानेबाजों ने दो इवेंट में भी हिस्सा लिया था. क्रोएशियाई और जगरेब निशानेबाजी महासंघ ने यहां से रवाना होने से पहले भारतीय दल को सम्मानित किया. दल के एक सदस्य ने पीटीआई से कहा कि उन्होंने शाम में सम्मान समारोह का आयोजन किया था. व्यवस्था को देखकर कोई भी कह सकता है कि यह डिनर पार्टी कितनी अच्छी थी.



    जगरेब में भारतीय निशानेबाजों को यादगार विदाई दी गई
    टोक्यो के लिए उड़ान भरने से पहले भारतीय दल का एम्सटर्डम में ठहराव होगा, जबकि तीन सदस्य कोच जसपाल राणा, वेद प्रकाश और मनोज कुमार दिल्ली आ रहे हैं. दल के दो अन्य सदस्य 17 जुलाई को भारत लौटेंगे. उन्होंने बताया कि पावेल जगरेब में रुके हुए हैं. क्योंकि उनके लिए टोक्यो में टीम के साथ रहने की कोशिश की जा रही है. वह अभी टीम के साथ नहीं जा रहे हैं.

    Tokyo Olympic: भारतीय शूटिंग टीम 80 दिन के कैंप के लिए क्रोएशिया रवाना, दो इवेंट भी खेलेगी

    पिस्टल कोच पावेल को टोक्यो ले जाने की कोशिश जारी
    भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (NRAI) पदाधिकारियों के बदले टोक्यो में अनुमति प्राप्त सात सहयोगी स्टाफ में एक अतिरिक्त कोच के लिए मंजूरी लेने की कोशिश कर रहा है. एनआरएआई के एक सूत्र ने कहा कि सबसे बड़ी समस्या उस दिन उड़ानों की उपलब्धता है, जिस दिन उन्हें रवाना होना है. हालांकि, जसपाल आज भारत वापस आ रहे हैं, महासंघ उन्हें भी टोक्यो भेजने की कोशिश कर रहा है.



    उन्होंने कहा कि पावेल पर अभी कोई भी फैसला नहीं हुआ है. भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के मीडिया विभाग ने ट्वीट किया कि भारतीय निशानेबाजी टीम जगरेब से रवाना होकर एम्सटर्डम पहुंच गई है. वे देर रात टोक्यो के लिए रवाना होंगे. भारतीय दल ने उनके प्रवास के दौरान एक शानदार मेजबान होने पर क्रोएशियाई महासंघ धन्यवाद दिया.

    भारत के 15 निशानेबाज टोक्यो में दावेदारी पेश करेंगे
    भारतीय निशानेबाजों ने गुरुवार को अपने प्रशिक्षण के अंतिम दिन थोड़े आराम से काम किया, लेकिन यह सुनिश्चित किया कि खेलों के सबसे बड़े आयोजन के लिए रवाना होने से पहले उनके उपकरण ठीक रहे. ओलंपिक का आयोजन 23 जुलाई से आठ अगस्त तक टोक्यो सहित जापान के कुछ अन्य शहरों में होगा. इसमें निशानेबाजी प्रतियोगिताओं का आयोजन उद्घाटन समारोह के एक दिन बाद शुरू होगा और लगातार 10 दिनों तक जारी रहेगा. भारत के 15 निशानेबाज इन खेलों में चुनौती पेश करेंगे. इसमें से राइफल में आठ, पिस्टल में पांच और स्कीट निशानेबाजी में दो निशानेबाज शामिल हैं.

    Tags: NRAI, Olympics, Olympics 2020, Shooting, Tokyo 2020, Tokyo Olympics, Tokyo Olympics 2020

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर