• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: किसान की बेटी गुरजीत कौर ने दी ऑस्ट्रेलिया को पटकनी, हॉकी के लिए छोड़ दिया था घर

Tokyo Olympics: किसान की बेटी गुरजीत कौर ने दी ऑस्ट्रेलिया को पटकनी, हॉकी के लिए छोड़ दिया था घर

Tokyo Olympics: गुरजीत कौर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक गोल किया. महिला टीम सेमीफाइनल में पहुंची. (Gurjit Kaur Instagram)

Tokyo Olympics: गुरजीत कौर ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक गोल किया. महिला टीम सेमीफाइनल में पहुंची. (Gurjit Kaur Instagram)

Tokyo Olympics: भारतीय महिला हाॅकी टीम ने इतिहास रचते हुए ओलंपिक के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. टीम ने क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराया. टीम सेमीफाइनल में अब 4 अगस्त को अर्जेंटीना के खिलाफ उतरेगी.

  • Share this:

    नई दिल्ली. भारतीय महिला हॉकी टीम ने टोक्यो में इतिहास रचते हुए पहली बार ओलंपिक (Tokyo Olympics) के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. टीम ने क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराया. टीम का यह सिर्फ तीसरा ओलंपिक है. भारत की ओर से एकमात्र गोल गुरजीत कौर (Gurjit Kaur) ने किया. ड्रैग फ्लिकर के तौर पर खेलने वाली गुरजीत कौर ने इसी के साथ अपना नाम इतिहास में दर्ज करा लिया है.

    पंजाब की गुरजीत कौर के हॉकी करियर की कहानी बेहद रोचक है. उनके पिता सतनाम सिंह किसान हैं. वे गुरजीत और उनकी बड़ी बहन प्रदीप कौर को साइकिल से स्कूल ले जाते थे. इसके बाद उन्होंने घर से 70 किमी दूर तरन तारन स्थित बोर्डिंग स्कूल में दोनों बहनों को भेजने का फैसला किया. यह हॉकी की पुरानी नर्सरी थी. ऐसे में दोनों बहनों ने हॉकी में करियर बनाने के लिए 2006 में घर छोड़ दिया और आज उसका रिजल्ट हमें देखने को मिल रहा है.

    2014 में पहली बार सीनियर कैंप में मिली जगह

    25 साल की गुरजीत कौर को पहली बार 2014 में सीनियर भारतीय टीम के नेशनल कैंप में जगह मिली. हालांकि वे 2017 से पहले टीम इंडिया की रेगुलर खिलाड़ी नहीं बन सकीं. उनके लिए 2017 का एशिया कप बड़ी उपलब्धि लेकर आया. टीम ने टूर्नामेंट जीतकर वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाई किया. गुरजीत कौर ने भारतीय टीम की ओर से सबसे अधिक 8 गोल किए. इसमें से 7 गोल तो उन्होंने पेनल्टी कॉर्नर से किए थे. सेमीफाइनल में उन्होंने जापान के खिलाफ दो शानदार गोल कर टीम को फाइनल में जगह दिलाई थी.

    यह सालों की मेहनत का परिणाम है

    ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली जीत के बाद गुरजीत कौर ने कहा कि यह सालों की मेहनत का परिणाम है. उन्होंने कहा, ‘हम लंबे समय से कड़ी मेहनत कर रहे थे, लेकिन यह आज काम कर गई. पूरी टीम ने इसके लिए कड़ी मशक्कत की है.’ गुरजीत कौर ने कहा कि यह हमारे लिए गर्व का दिन है, क्योंकि हम पहली बार सेमीफाइनल में पहुंचे हैं. हम अब अगले मैच की तैयारी के लिए जुटेंगे. हमें सभी से सपोर्ट मिल रहा है.

    यह भी पढ़ें: Tokyo Olympics: गोलकीपर सविता के मुरीद हुए ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर-हाई कमिश्नर, बोले- ‘द ग्रेट वॉल ऑफ इंडिया’

    यह भी पढ़ें: Tokyo Olympics, Hockey: भारतीय महिला हॉकी टीम पहली बार सेमीफाइनल में, ऑस्ट्रेलिया को हराया

    अब अर्जेंटीना से होनी है भिड़ंत

    भारतीय महिला टीम टोक्यो में अच्छी शुरुआत नहीं कर सकी थी. टीम को पहले तीन मुकाबलाें में नीदरलैंड्स ने 5-1 से, जर्मनी ने 2-0 से और ब्रिटेन ने 4-1 से मात दी. इसके बाद टीम ने जोरदार वापसी की. पहले आयरलैंड को संघर्षपूर्ण मुकाबले में 1-0 से हराकर जीत दर्ज की. फिर भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका को 4-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. अब ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से मात देकर टीम ने सेमीफाइनल में जगह पक्की की. टीम सेमीफाइनल में 4 अगस्त को अर्जेंटीना से भिड़ेगी. अर्जेंटीना ने पहले क्वार्टर फाइनल में जर्मनी को हराया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज