• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: 'आजादी' के लिए रिफ्यूजी बनीं अलीजादेह, हमवतन खिलाड़ी को हराकर दिया ईरान को जवाब

Tokyo Olympics: 'आजादी' के लिए रिफ्यूजी बनीं अलीजादेह, हमवतन खिलाड़ी को हराकर दिया ईरान को जवाब

किमिया अलीज़ादेह (Kimia Alizadeh) ईरान के लिए ओलंपिक मेडल जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं. हालांकि, वो टोक्यो में रिफ्यूजी टीम के तौर पर दावेदारी पेश कर रही हैं. (AP)

किमिया अलीज़ादेह (Kimia Alizadeh) ईरान के लिए ओलंपिक मेडल जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं. हालांकि, वो टोक्यो में रिफ्यूजी टीम के तौर पर दावेदारी पेश कर रही हैं. (AP)

Tokyo Olympics: ईरानी शरणार्थी किमिया अलीज़ादेह (Kimia Alizadeh) ने महिला ताइक्वांडो के 57 किलो भार वर्ग में बड़ा उलटफेर करते हुए ब्रिटेन की दो बार की ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट जेड जोन्स (Jade Jones) को राउंड ऑफ 16 के मैच में 16-12 से हरा दिया. दिलचस्प बात यह रही कि अलीज़ाहेद ने ओपनिंग मैच में ईरान की खिलाड़ी नाहिद कियानी (Nahid Kiyani) को शिकस्त दी. अलीज़ादेह ईरान के लिए ओलंपिक मेडल जीतने वाली पहली खिलाड़ी हैं. उन्होंने रियो ओलंपिक में यह कारनामा किया था. हालांकि, बाद में महिला उत्पीड़न का आरोप लगाकर ईरान छोड़ दिया था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ईरानी शरणार्थी किमिया अलीज़ादेह (Kimia Alizadeh) के लिए टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में रविवार का दिन खास रहा. उन्होंने महिला ताइक्वांडो के 57 किलो भार वर्ग में बड़ा उलटफेर करते हुए ब्रिटेन की दो बार की ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट जेड जोन्स (Jade Jones) को राउंड ऑफ 16 के मुकाबले में 16-12 से हरा दिया. इस जीत के साथ अलीजादेह क्वार्टर फाइनल में पहुंच गईं और रिफ्यूजी टीम की ओलंपिक इतिहास में मेडल जीतने की उम्मीदों को और मजबूत कर दिया. अलीज़ादेह ने 2016 के रियो ओलंपिक में ताइक्वांडो में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रच दिया था. तब वो ईरान के लिए ओलंपिक मेडल जीतने वाली पहली महिला बनीं थीं.

    घर वापसी पर अलीज़ादेह का शानदार स्वागत हुआ था और उन्हें 'सुनामी' उपनाम दिया गया था. वो देश की महिलाओं के लिए नई उम्मीद बन गई थी. लेकिन पिछले साल जनवरी में वो अचानक ईरान की लाखों उत्पीड़ित महिलाओं में से खुद को एक बताते हुए देश छोड़कर जर्मनी चली गईं थीं. लेकिन ओलंपिक खेलने की अपनी जिद को उन्होंने जिंदा रखा और टोक्यो में इस सपने को हकीकत में बदल दिया. लेकिन एक शरणार्थी के तौर पर.

    वो टोक्यो गेम्स (Tokyo Olympics) में ईरान के झंडे तले नहीं, बल्कि इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी यानी आईओसी (IOC Refugee Team) के बैनर तले खेल रही हैं. रिफ्यूजी टीम का यह दूसरा ओलंपिक है. इस बार 29 खिलाड़ी इस टीम में शामिल हैं. इसमें से तीन ताइक्वांडो के हैं.

    अलीज़ादेह ने ओपनिंग मैच में ईरानी खिलाड़ी को ही हराया
    अलीज़ादेह ने रविवार को अपने ओपनिंग मैच में ईरान की ही खिलाड़ी नाहिद कियानी चांदेह को 18-9 से शिकस्त दी थी और दो घंटे बाद ही उन्होंने सबसे बड़ा उलटफेर करते हुए ब्रिटेन की जोन्स को मात दी. जोस की यह बार इसलिए भी बड़ी है. क्योंकि उनके पास ताइक्वांडो में लगातार तीन ओलंपिक गोल्ड जीतने का मौका था. अगर वो इस बार गोल्ड जीत लेती हैं, तो ओलंपिक में लगातार तीन गोल्ड जीतने वाली ब्रिटेन की पहली महिला खिलाड़ी बन जाती. सेमीफाइनल में जगह बनाने के लिए अलीजादेह का मुकाबला चीन की झाऊ लिउन से होगा.

    Tokyo Olympics: दीपक कुमार और दिव्यांश टॉप-20 में भी जगह नहीं बना सके, लगातार चौथे इवेंट में शूटर्स फेल

    अलीज़ादेह ने पिछले साल ईरान छोड़ दिया था
    अलीज़ादेह ने पिछले साल जनवरी में सोशल मीडिया पर पोस्ट कर अपने देश ईरान को छोड़ दिया था. तब उन्होंने फेडरेशन के अधिकारियों पर उनकी कामयाबी को अपने प्रचार के लिए इस्तेमाल करने के आरोप लगाए थे. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा था कि मैं सालों तक देश के लिए खेलती रही और अफसरों का हर आदेश माना. उन्होंने जो पहनने के लिए कहा, वही पहना. लेकिन हम उनके लिए अहमियत नहीं रखते. केवल इस्तेमाल होने वाले औजार की तरह हैं. सरकार मेरी सफलता को सिर्फ राजनीतिक तौर पर भुनाती रही.

    IGF ने ईरान को चार साल के लिए निलंबित किया था
    अंतर्राष्ट्रीय जूडो महासंघ (IJF)अप्रैल में, ईरान को चार साल के लिए निलंबित कर दिया था. क्योंकि उसने अपने खिलाड़ियों को इजरायल के खिलाफ खेलने की मंजूरी नहीं दी थी. तब IJF ने कहा था कि ईरान की नीतियों का खुलासा तब हुआ, जब ईरान के पूर्व जूडो खिलाड़ी सईद मोलैई ने दावा किया था कि 2019 में टोक्यो में हुई वर्ल्ड चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में उन्हें जानबूझकर हारने का आदेश दिया गया था. ऐसा इसलिए किया गया था कि ताकि वो फाइनल में इजरायल के सागी मुकी का सामना न कर सकें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन