Tokyo Olympics: नीरज चोपड़ा बोले- पता नहीं टोक्यो ओलंपिक होगा या नहीं, पर मैं तैयार हूं

नीरज चोपड़ा टोक्यो में पदक जीतने के प्रबल दावेदार हैं. (फोटो साभार: SAI)

नीरज चोपड़ा टोक्यो में पदक जीतने के प्रबल दावेदार हैं. (फोटो साभार: SAI)

नीरज चोपड़ा टोक्यो में पदक के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. उन्होंने कहा, 'मैं प्रैक्टिस में अपना शत प्रतिशत देने की कोशिश कर रहा हूं. मैं वैसी ही प्रैक्टिस कर रहा हूं जैसे पहले किया करता था. लेकिन मुझे कुछ चैंपियनशिप में खेलने की जरूरत है.'

  • Share this:

नई दिल्ली. जापान में होने वाले टोक्यो ओलंपिक में ज्यादा दिन बाकी नहीं है, लेकिन इसको लेकर अनिश्चितता बरकरार है. भारत के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा के दिमाग में भी इस समय ऐसी ही अनिश्चितता चल रही है. भाला फेंक के एथलीट ने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि ओलंपिक होंगे या नहीं. मैं इसकी चिंता किए बिना जमकर प्रैक्टिस कर रहा हूं. लेकिन ओलंपिक से पहले जरूरी है कि हमें कुछ प्रतियोगिताओं में भी खेलने का मौका मिले. चोट और कोविड-19 के कारण उनके पिछले दो साल 'बर्बाद' हो गए हैं.’ यह नीरज का पहला ओलंपिक होगा.

23 वर्षीय नीरज चोपड़ा टोक्यो में पदक के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि वे ओलंपिक से पहले कुछ प्रतियोगिताओं में खेलने को लेकर भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. नीरज ने कहा, 'मैं प्रैक्टिस में अपना शत प्रतिशत देने की कोशिश कर रहा हूं. मैं वैसी ही प्रैक्टिस कर रहा हूं जैसे पहले किया करता था. लेकिन मुझे कुछ चैंपियनशिप में खेलने की जरूरत है.'

उन्होंने कहा, ''मैंने टॉप्स और साई से बात की है. वे पूरी कोशिश प्रयास कर रहे हैं. प्रतियोगिताओं में खेलने का मौका मिलने से आपको अपनी तैयारी का सही अंदाजा लगाने में मदद मिलती है.  मुझे कुछ प्रतियोगिताओं की सख्त जरूरत है. मेरा 2019 का साल चोट के कारण बर्बाद हुआ और अब 2020 और 2021 कोविड-19 के कारण बर्बाद चला गया.’

नीरज चोपड़ा ने कहा, 'यदि हम प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं लेते हैं तो फिर अभ्यास का क्या फायदा. हम पिछले साल से अभ्यास कर रहे हैं लेकिन हमें अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताएं चाहिए. यदि हम ओलंपिक स्तर के बारे में सोचते हैं तो हमें उन एथलीटों के साथ प्रतिस्पर्धा करने की भी जरूरत होती है. वैसे भी मुझे ओलंपिक में खेलने का अनुभव नहीं है. यह मेरे पहले ओलंपिक होंगे.’
पदक जीतने की संभावना पर नीरज चोपड़ा ने कहा कि इस समय दुनिया में जेवलिन थ्रो का स्तर ऊंचा हो गया है. इस समय दुनिया में 7-8 एथलीट ऐसे हैं जो 85 मीटर से ऊपर भाला फेंक रहे हैं. ऐसे में अभी से अंदाजा नहीं लगाया जा सकता कि कौन पदक जीतेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज