• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा ने नेशनल कोच की मदद लेने से किया इनकार, बढ़ा विवाद

Tokyo Olympics: टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा ने नेशनल कोच की मदद लेने से किया इनकार, बढ़ा विवाद

Tokyo Olympics:  मनिका बत्रा ने पहले राउंड का मुकाबला आसानी से जीता.

Tokyo Olympics: मनिका बत्रा ने पहले राउंड का मुकाबला आसानी से जीता.

Tokyo Olympics: भारतीय टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा (Manika batra) ने ओलंपिक में जीत के साथ आगाज किया है. लेकिन वे विवादों में आ गईं. उनके निजी कोच को खेल गांव में आने की इजाजत नहीं मिली है.

  • Share this:
    टोक्यो. भारतीय टेबल टेनिस स्टार मनिका बत्रा (Manika batra) ने अपने निजी कोच को कोर्ट में प्रवेश की अनुमति नहीं दिए जाने के बाद शनिवार को टोक्यो ओलंपिक के पहले दौर के मैच में राष्ट्रीय कोच सौम्यदीप रॉय की सलाह लेने से इनकार कर दिया. दुनिया की 62वें नंबर की खिलाड़ी मनिका ने ब्रिटेन की 94वीं रैंकिंग की टिन टिन हो के खिलाफ 4-0 से जीत हासिल की, लेकिन कोच के कार्नर पर कोई नहीं बैठा था, जिससे सोशल मीडिया पर इसे लेकर काफी चर्चा बनी रही.

    मनिका बत्रा के निजी कोच सन्मय परांजपे को विवादास्पद तरीके से उनके साथ टोक्यो जाने की मंजूरी दे दी गई, लेकिन उन्हें राष्ट्रीय टीम के साथ खेल गांव में ठहरने की अनुमति नहीं दी गई. वह होटल में ठहरे हैं और उन्हें केवल अभ्यास के लिए आने की अनुमति है. 26 साल की खिलाड़ी अपने कोच के एक्रिडिटेशन को ‘अपग्रेड’ कराना चाहती थीं, ताकि वह उनके मैचों के दौरान कोर्ट पर उनके साथ रह सकें, लेकिन टीम प्रमुख एम पी सिंह (जो भारतीय टेबल टेनिस महासंघ के सलाहकार भी हैं और टोक्यो में हैं) ने कहा कि मनिका की उनके कोच को कोर्ट पर रहने की अनुमति देने का अनुरोध आयोजकों द्वारा खारिज कर दिया गया.

    नेशनल कोच से कोचिंग लेने से किया इंकार

    एमपी सिंह ने कहा, ‘जब उनके निजी कोच को कोर्ट पर पहुंचने की अनुमति देने से इनकार कर दिया गया तो उन्होंने हमारे राष्ट्रीय कोच से कोचिंग लेने से इनकार कर दिया. इस मामले में मुझे हस्तक्षेप करना पड़ा था, लेकिन उन्होंने मुझसे भी मैच के दौरान रॉय की सलाह लेने से इनकार कर दिया.’ हालांकि जब शरत कमल और मनिका मिश्रित युगल में राउंड 16 का मैच खेल रहे थे, तो रॉय कोर्ट पर दिख रहे थे. रॉय 2006 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पुरुष टीम के सदस्य थे और वह भारत के महान टेबल टेनिस खिलाड़ी शरत के लंबे समय साथी भी रह चुके हैं.

    साथियान के कोच को नहीं मिली इजाजत

    मनिका बत्रा की ओर से काेई टिप्पणी नहीं आई है. कोविड-19 काल में हो रहे खेलों में टीम के साथ सहयोगी स्टाफ की संख्या पर सामान्य से भी ज्यादा पांबदियां हैं. सन्मय परांजपे को टोक्यो की यात्रा करने की अनुमति दे दी गयी, लेकिन जी साथियान के कोच और ओलंपियन एस रमन को नहीं दी गई. हालांकि कोरोना के कारण आयोजकों की ओर से कई तरह की पाबंदी लगाई गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन