होम /न्यूज /खेल /Tokyo Olympics Medal Tally: जानिए भारत हॉकी में ब्रॉन्ज जीतने के बाद कहां पहुंचा, आज टॉप-50 में आने का मौका

Tokyo Olympics Medal Tally: जानिए भारत हॉकी में ब्रॉन्ज जीतने के बाद कहां पहुंचा, आज टॉप-50 में आने का मौका

भारतीय हॉकी टीम ने 2016 रियो ओलंपिक के बाद शानदार वापसी की. रियो में टीम 8वें नंबर पर थी और टोक्यो में ब्रॉन्ज मेडल जीता. (AP)

भारतीय हॉकी टीम ने 2016 रियो ओलंपिक के बाद शानदार वापसी की. रियो में टीम 8वें नंबर पर थी और टोक्यो में ब्रॉन्ज मेडल जीता. (AP)

Tokyo Olympics Medal Tally: टोक्यो ओलंपिक (Tokkyo Olympics) में गुरुवार का दिन भारत के लिए यादगार बन गया. मेंस हॉकी टीम ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक (Tokkyo Olympics) में गुरुवार का दिन भारत के लिए यादगार बन गया. मेंस हॉकी टीम (Indian Mens Hockey Team) ने ब्रॉन्ज मेडल के लिए हुए मुकाबले में जर्मनी को 5-4 से शिकस्त दी. यह भारत का 41 साल बाद हॉकी में पहला ओलंपिक मेडल है. इससे पहले भारत ने 1980 में हुए मॉस्को ओलंपिक (Moscow Olympics) में गोल्ड जीता था. इसके बाद से भारत हॉकी में कभी मेडल नहीं जीत पाया था. इस एक ब्रॉन्ज मेडल के साथ भारत, मेडल टैली में 66वें स्थान पर आ गया है. भारत रियो ओलंपिक में 2 मेडल के साथ 67वें स्थान पर रहा था.

    भारत ने अब तक कुल 4 पदक जीते हैं. इसमें तीन ब्रॉन्ज और एक सिल्वर मेडल है. भारत के लिए इकलौता रजत पदक वेटलिफ्टर मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने 24 अगस्त को जीता था. इसके बाद पीवी सिंधु (PV Sindhu) और लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain) ने बैडमिंटन और मुक्केबाजी में एक-एक कांस्य पदक जीता और अब पुरुष हॉकी टीम ने भारत को टोक्यो गेम्स का चौथा पदक दिलाया.

    भारत के पास आज एक गोल्ड जीतने का मौका है. भारतीय पहलवान रवि कुमार दहिया फ्रीस्टाइल कुश्ती के 57 किलो वर्ग का फाइनल खेलेंगे. उनका मुकाबला 2 बार के वर्ल्ड चैंपियन जावुर युगुऐव (रूस ओलंपिक समिति) से है. अगर रवि यह मुकाबला जीत लेते हैं, तो वो इतिहास रच देंगे. क्योंकि भारत ने अब तक कुश्ती में कोई गोल्ड मेडल नहीं जीता है. रवि से पहले भारत को कुश्ती में कुल 5 मेडल मिले हैं. लेकिन कोई भी भारतीय पहलवान स्वर्ण पदक जीतने में सफल नहीं रहा.

    रवि के गोल्ड से भारत 23 पायदान ऊपर चढ़ सकता है

    रवि के गोल्ड से मेडल भारत टैली में दुनिया के शीर्ष 50 देशों में शामिल हो जाएगा. अभी भारत 66वें स्थान पर है. गोल्ड जीतने के बाद भारत के कुल 5 पदक हो जाएंगे और वो इंडोनेशिया और ऑस्ट्रिया के साथ 43वें पायदान पर आ जाएगा. क्योंकि इन दोनों देशों ने भी अब तक 1 गोल्ड, एक सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं.

    वहीं, रवि अगर फाइनल हार जाते हैं और उन्हें सिल्वर मेडल मिलता है, तो भी भारत टॉप-60 देशों में शामिल रहेगा. वो आर्मीनिया, कोलंबिया और किर्गिस्तान जैसे देशों को पीछे छोड़ देगा. क्योंकि इन सभी देशों के भारत के बराबर दो-दो सिल्वर मेडल होंगे. लेकिन भारत के पास इनसे ज्यादा 3 ब्रॉन्ज मेडल होंगे. ऐसे में भारत इन देशों से आगे निकल जाएगा.

    भारतीय हॉकी को हर बार बुलंदी पर ले जाते हैं टोक्यो ओलंपिक, 1964 के बाद 2021 बना गवाह

    Tokyo Olympics 2020: भारत के 5 हीरो, जिन्होंने खत्म कराया 41 साल का इंतजार

    अगर ओवरऑल मेडल टैली की बात करें, तो अभी भी चीन 32 गोल्ड के साथ पहले स्थान पर बना हुआ है. वहीं, अमेरिका 27 गोल्ड के साथ दूसरे और मेजबान जापान 21 गोल्ड के साथ तीसरे पायदान पर है. ऑस्ट्रेलिया ने 17 और ग्रेट ब्रिटेन ने 15 गोल्ड जीते हैं.

    टोक्यो ओलंपिक की मेडल टैली में शामिल टॉप-10 देश

    देश/एनओसी      गोल्ड    सिल्वर     ब्रॉन्ज    कुल पदक
    1. चीन                32       23          16           71
    2. अमेरिका        27         33         24          84
    3. जापान           21            7          12        40
    4.ऑस्ट्रेलिया       17         4           17       38
    5.ग्रेट ब्रिटेन       15         18         16      49
    6. आरओसी     14        21         18      53
    7. जर्मनी          9          9          16      34
    8. न्यूजीलैंड     7           4        6        17
    9. इटली         6          10      16       32
    10. फ्रांस        6         10       9       25

    Tags: Gold Medal, Indian men's hockey team, Lovlina Borgohain, Olympics 2020, Olympics Medal, Pv sindhu, Ravi Dahiya

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें