टोक्‍यो ओलिंपिक के अध्‍यक्ष का बड़ा बयान, खेलों का महाकुंभ होगा रद्द!

टोक्‍यो ओलिंपिक के अध्‍यक्ष का बड़ा बयान, खेलों का महाकुंभ होगा रद्द!
टोक्यो ओलिंपिक को कोरोना संकट के कारण एक साल के लिए टाल दिया गया है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते टोक्‍यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) को पहले ही 2021 तक के लिए स्‍थगित कर दिया गया था, मगर अब उसके भी रद्द होने की संभावना नजर आ रही है

  • Share this:
टोक्‍यो. दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरा दिन पर दिन बढ़ रहा है. इस महामारी के कारण इस साल होने वाले टोक्‍यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) को भी 2021 तक के लिए स्‍थगित कर दिया गया है, मगर इसके बाद बावजूद इस ओलिंपिक पर रद्द होने का खतरा मंडरा रहा है. टोक्‍यो ओलिंपिक आयोजन समिति के अध्यक्ष ने इन खेलों को आगे भी टालने की संभावना से इनकार करते हुए साफ साफ कह दिया है कि अगर अगले साल तक भी कोरोना वायरस महामारी पर नियंत्रण नहीं हो पाता तो फिर एक साल के लिए स्थगित किए गए टोक्यो 2020 खेलों को रद्द कर दिया जाएगा.

यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जबकि चिकित्सा विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि क्या इस महामारी को अगले साल तक इतना नियंत्रित कर दिया जाएगा कि ओलिंपिक का आयोजन हो सके, जिसमें दुनिया भर के खिलाड़ी भाग लेंगे.

2022 तक ओलिंपिक टलने की कोई संभावना नहीं
महामारी के कारण खेलों में पहले ही एक साल की देरी हो गई है. इनका आयोजन अब 23 जुलाई 2021 से होगा, लेकिन टोक्यो 2020 के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने कहा कि इन्हें आगे स्थगित करना संभव नहीं है. जापान के खेल दैनिक ‘निक्कन स्पोर्ट्स’को दिए एक इंटरव्‍यू में जब मोरी से पूछा गया कि अगर महामारी का खतरा अगले साल भी बना रहता है तो क्या खेलों को 2022 तक टाला जा सकता है तो इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नहीं, अगर ऐसा होता है तो फिर इन्हें रद्द कर दिया जाएगा. मोरी ने कहा कि इससे पहले युद्ध के समय ही खेलों को रद्द किया गया था. उन्होंने कोरोना वायरस से लड़ाई को ‘एक अदृश्य दुश्मन के खिलाफ जंग’ करार दिया. उन्होंने कहा कि अगर वायरस पर नियंत्रण पा लिया जाता है तो हम अगली गर्मियों में ओलिंपिक का आयोजन करेंगे.
टीका नहीं बनने पर ओलिंपिक का आयोजन मुश्किल


टोक्यो 2020 के प्रवक्ता मासा तकाया ने खेलों को रद्द किए जाने की संभावना को लेकर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया और उन्होंने पत्रकारों से कहा कि मोरी की टिप्पणी उनके ‘निजी विचार’ हैं. इससे पहले मंगलवार को जापान चिकित्सा संघ के प्रमुख ने आगाह किया था कि अगर कोरोना वायरस के लिए टीका विकसित नहीं किया जाता है तो फिर खेलों का आयोजन करना बहुत मुश्किल होगा.
चिकित्सा संघ के प्रमुख योशिताके योकोकुरा ने पत्रकारों से कहा कि मैं यह नहीं कहूंगा कि खेल नहीं होने चाहिए, लेकिन इनका आयोजन बेहद मुश्किल होगा. पिछले सप्ताह जापानी चिकित्सा विशेषज्ञों ने भी कहा था कि अगले साल भी ओलिंपिक का आयोजन करना मुश्किल होगा. कोबे विश्वविद्यालय में संक्रमण से जुड़े रोगों के विशेषज्ञ केंटारो इवाता ने कहा कि ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि ओलिंपिक अगले साल भी हो पाएंगे. उन्होंने कहा कि जापान अगले साल गर्मियों तक इस बीमारी पर नियंत्रण पा सकता है और मैं ऐसा चाहता हूं, लेकिन मुझे नहीं लगता कि दुनिया में हर जगह ऐसा हो पाएगा. इसलिए मैं अगली गर्मियों में ओलिंपिक खेलों के आयोजन को लेकर बहुत आशावादी नहीं हूं.

क्रिस गेल ने इस खिलाड़ी को बताया सांप, कहा- तुम कोरोना वायरस से भी बदतर हो

'पहले जूतों पर हाथ से लिखा था Addidas,आज वही मेरे नाम के जूता बनाता है'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading