Tokyo Olympics: 1964 टोक्यो में सिर्फ एक भारतीय महिला खिलाड़ी उतरी, इस बार 50 से बड़ी उम्मीद

Tokyo Olympics: दीपिका कुमारी जापान पहुंच चुकी हैं. (SAI Media)

Tokyo Olympics: ओलंपिक गेम्स के मुकाबले 23 जुलाई से शुरू होने हैं. गेम्स में (Tokyo Olympics) भारत की 50 से अधिक महिला खिलाड़ी उतर रही हैं. इस बार इनसे सबसे अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही है. दुनिया के 200 से अधिक देश के खिलाड़ी शामिल होंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ओलंपिक के मुकाबले शुरू होने में बस कुछ दिन बचे हैं. गेम्स (Tokyo Olympics) में भारत के 125 खिलाड़ी 18 खेलों में दमखम दिखाएंगे. इसमें 55 महिला खिलाड़ी शामिल हैं. इससे पहले 1964 में भी टोक्यो में ओलंपिक गेम्स के आयोजन हुए थे, तब सिर्फ एक भारतीय महिला खिलाड़ी को मौका मिला था. गेम्स के मुकाबले 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होने हैं. ओलंपिक के इतिहास का सबसे बड़ा भारतीय दल इस बार उतर रहा है. इन महिला खिलाड़ियों से है मेडल की उम्मीद:

    दीपिका कुमार (आर्चरी): महिला तीरंदाज दीपिका कुमार ने पिछले दिनों वर्ल्ड कप में गोल्डन हैड्रिक लगाई. वे इस समय दुनिया की नंबर-1 खिलाड़ी हैं. ओलंपिक से पहले वे शानदार फॉर्म में हैं.

    पीवी सिंधु (बैडमिंटन): पीवी सिंधु ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीता था. हालांकि पिछले दो साल से उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है. लेकिन वर्ल्ड चैंपियन सिंधु एक बार फिर ओलंपिक में इतिहास रच सकती हैं.

    एमसी मैरीकॉम (बॉक्सिंग): सीनियर महिला बॉक्सर एमसी मैरीकॉम ने टोक्यो रवाना से पहले कहा था कि वे लड़ाई के लिए जा रही हैं. मैरीकॉम 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीत चुकी हैं. ऐसे में वे इस बार मेडल का रंग बदलने के लिए उतर रही हैं.

    मनु भाकर (शूटिंग): युवा महिला शूटर मनु भाकर ने पिछले दिनों वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन किया है. वे व्यक्तिगत इवेंट के अलावा मिक्स्ड इवेंट में भी उतर रही हैं. मिक्स्ड में उनका प्रदर्शन बेहतरीन रहा है.

    एलावेनिल वलारिवान (शूटिंग): 21 साल की एलावेनिल वलारिवान वर्ल्ड कप में गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं. जूनियर वर्ल्ड कप में उन्होंने 4 गोल्ड पर कब्जा किया है. ऐसे में उनसे यहां भी मेडल की उम्मीद की जा रही है.

    मीराबाई चानू (वेटलिफ्टिंग): महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने 2017 वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीता था. इसके अलावा 2020 एशियन चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज पर कब्जा किया था. उनका भी प्रदर्शन अच्छा रहा है.

    विनेश फोगाट (कुश्ती): 26 साल की विनेश फोगाट 2016 रियो ओलंपिक में चोट के कारण पहले ही राउंड में बाहर हो गई थीं. वे वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज, कॉमनवेल्थ गेम्स में 2 गोल्ड और एशियन गेम्स में एक गोल्ड सहित दो मेडल जीत चुकी हैं.

    अब तक 5 महिला खिलाड़ियों ने जीते हैं मेडल

    भारतीय महिला खिलाड़ियों ने ओलंपिक इतिहास में अब तक 5 मेडल जीते हैं. इसमें एक सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज मेडल शामिल है. 2000 सिडनी ओलंपिक में कर्णम मल्लेश्वरी ने वेटलिफ्टिंग में ब्रॉन्ज मेडल दिलाया था. वे ओलंपिक में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी थीं. 2012 लंदन ओलंपिक में बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने ब्रॉन्ज और बॉक्सिंग खिलाड़ी एमसी मैरीकॉम ने भी ब्रॉन्ज पर कब्जा किया. 2016 रियो ओलंपिक में बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने सिल्वर और कुश्ती खिलाड़ी साक्षी मलिक ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.