• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: दक्षिण कोरिया ने खेल गांव में लगे बैनर हटाए, IOC ने जताई थी नाराजगी

Tokyo Olympics: दक्षिण कोरिया ने खेल गांव में लगे बैनर हटाए, IOC ने जताई थी नाराजगी

दक्षिण कोरिया ने जापान के विरोध के बाद खेल गांव में लगे बैनर हटा लिए हैं. इसे आईओसी के चार्टर के विपरीत माना गया था और आईओसी ने भी इस पार आपत्ति जताई थी. (सांकेतिक तस्वीर-AFP)

दक्षिण कोरिया ने जापान के विरोध के बाद खेल गांव में लगे बैनर हटा लिए हैं. इसे आईओसी के चार्टर के विपरीत माना गया था और आईओसी ने भी इस पार आपत्ति जताई थी. (सांकेतिक तस्वीर-AFP)

Tokyo Olympics: दक्षिण कोरिया की ओलंपिक समिति ने शनिवार को कहा कि उसने ओलंपिक खेल गांव(Sports Village) में लगे अपने बैनर हटा दिए हैं, जिसमें कोरिया और जापान के बीच 16वीं शताब्दी में हुए युद्ध का जिक्र किया गया था. इसे अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति(IOC) ने उकसाने वाला माना था.

  • Share this:
    सोल. दक्षिण कोरिया की ओलंपिक समिति ने शनिवार को कहा कि उसने टोक्यो में ओलंपिक खेल गांव में लगे अपने बैनर हटा दिए हैं, जिसमें कोरिया और जापान के बीच 16वीं शताब्दी में हुए युद्ध का जिक्र किया गया था. अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) ने इन बैनर को उकसाने वाला करार किया था. दक्षिण कोरिया की ओलंपिक समिति ने आईओसी से यह वादा मिलने के बाद बैनर हटाने का फैसला किया कि स्टेडियम और ओलंपिक के अन्य स्थलों पर जापान के ‘उगते सूरज’ के झंडे पर भी प्रतिबंध लगाया जाएगा.

    दक्षिण कोरिया के खिलाड़ियों के कमरों की बालकनी में ये बैनर लगे थे, जिनका जापान के कुछ लोगों ने विरोध किया था. इन बैनर पर संदेश लिखा था कि मेरे पास अब भी पांच करोड़ कोरियाई लोगों का समर्थन है.

    दक्षिण कोरिया के बैनर पर लिखा ये संदेश 16वीं शताब्दी का है. दरअसल, 1592-1598 के बीच में जापान ने बड़े सुमद्री बेड़े के साथ कोरिया पर आक्रमण किया था. उस समय कोरिया के एडमिरल यी सन-सिन ने कोरिया के जोसियन साम्राज्य के राजा सोंजो से कहा था कि मेरे पास अब भी 12 युद्धपोत हैं. जबकि जापान के बेड़े के आगे ये काफी कम था. इसके बावजूद कोरिया युद्ध जीत गया था.

    ओलंपिक चार्टर के खिलाफ है प्रदर्शन करना
    दक्षिण कोरिया की ओलंपिक समिति के मुताबिक, आईओसी ने कहा था कि बैनर युद्ध की छवियों को शामिल करते हैं और ओलंपिक चार्टर के नियम 50 के खिलाफ हैं, जो कहता है कि किसी भी ओलंपिक स्थलों, स्थानों में किसी भी तरह के प्रदर्शन या राजनीतिक, धार्मिक या नस्लीय प्रचार की अनुमति नहीं दी जा सकती है. समिति ने कहा कि आईओसी द्वारा उगते सूरज के झंडों पर भी यही नियम लागू करने के वादे के बाद हम बैनर हटाने पर सहमत हो गए.

    कोरिया इस मामले पर अब और विवाद नहीं करेगा
    कोरिया की ओलंपिक समिति की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि करार के तहत अब वो इस मसले पर किसी तरह का विवाद नहीं खड़ा करेगी. क्योंकि इससे खिलाड़ियों का ध्यान भटकेगा और वो मैदान में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाएंगे. जबकि आईओसी सभी ओलंपिक स्थानों पर उगते सूरज के झंडे को प्रदर्शित करने पर प्रतिबंध लगाएगी. ताकि कोई राजनीतिक समस्या पैदा न हो.

    आईओसी अध्यक्ष ने भी खिलाड़ियों को चेताया था
    एक दिन पहले ही आईओसी अध्यक्ष थॉमस बाक ने खिलाड़ियों को चेतावनी दी थी कि वो ओलंपिक पोडियम का अपने निजी विचारों और राजनीतिक प्रदर्शन या विरोध के तौर पर इस्तेमाल ना करें. आईओसी ने इसी महीने ओलंपिक चार्टर के रूल 50 में ढील दी थी. इस नियम के तहत पहले एथलीट्स को किसी भी तरह के विरोध-प्रदर्शन की मनाही थी. लेकिन अब वो मैदान पर अपनी खुशी जताने के लिए इशारा कर सकते हैं. हालांकि, ऐसा करते वक्त खिलाड़ियों को यह ध्यान रखना होगा कि इससे न तो किसी खिलाड़ी का सम्मान प्रभावित हो और ना ही खेल में किसी तरह की बाधा आए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज