• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: आपातकाल के कारण टोक्यो में लोग नहीं मना पाएंगे जश्न, कोरोना के केस भी बढ़े

Tokyo Olympics: आपातकाल के कारण टोक्यो में लोग नहीं मना पाएंगे जश्न, कोरोना के केस भी बढ़े

Tokyo Olympics: ओलंपिक गेम्स दूसरी बार जापान में हो रहे हैं. (AP)

Tokyo Olympics: ओलंपिक गेम्स दूसरी बार जापान में हो रहे हैं. (AP)

Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) शुरू होने में 10 दिन का समय बचा है. लेकिन कोरोना (Covid-19) के कारण वहां आपातकाल लगा हुआ है. 8 बजे के बाद टोक्यो में दुकानें नहीं खोली जा सकेंगी. गेम्स की शुरुआत 23 जुलाई से होनी है.

  • Share this:
    टोक्यो. ओलंपिक खेलों (Tokyo Olympics) के शुरू होने से 10 दिन पहले जापान की राजधानी में आपातकाल लागू कर दिया गया, क्योंकि यहां नए मामलों (Covid-19) की संख्या तेजी से बढ़ रही है और अस्पतालों के बिस्तर भरने लगे हैं. छह सप्ताह का यह आपातकाल 22 अगस्त तक लागू रहेगा. महामारी के शुरू होने के बाद यह चौथी बार है, जब टोक्यो में आपातकाल लागू किया गया है. नये आपातकाल का मुख्य लक्ष्य बार और रेस्तरां में परोसी जाने वाली शराब को रोकना है, क्योंकि अधिकारी चाहते हैं कि लोग सार्वजनिक रूप से इकट्ठा होने की जगह घर में रहें और टेलीविजन पर इन खेलों का लुत्फ उठाएं.

    आपातकाल के दौरान पार्क, संग्रहालय, थिएटर और अधिकांश दुकानें एवं रेस्तरां को रात 8 बजे बंद करने का अनुरोध किया गया है. टोक्यो के निवासियों से गैर-जरूरी चीजों के लिए बाहर निकलने से बचने और घर से काम करने का अनुरोध किया गया है. लोगों को मास्क पहनने और अन्य सुरक्षा उपायों को अपनाने के लिए कहा गया है. इस आपातकाल से टोक्यो की 1.4 करोड़ जनता के साथ चिबा, सैतामा और कानागावा जैसे आसपास के शहरों के कुल 3.1 करोड़ लोग प्रभावित होंगे.

    दो महीने बाद सबसे अधिक केस

    इस आपातकाल के उपायों को ओसाका और दक्षिणी द्वीप ओकिनावा में भी लागू किए गए हैं. स्टेडियम में प्रशंसकों के नहीं होने से इसका 23 जुलाई से आठ अगस्त तक होने वाले ओलंपिक पर भी काफी असर पड़ेगा. नए प्रतिबंधों के बाद प्रशंसक इन खेलों को सिर्फ टेलीविजन पर देख पाएंगे. टोक्यो में शनिवार को कोविड-19 संक्रमण के 950 मामले सामने आए, जो पिछले दो महीने में सबसे ज्यादा है. जापान ने हालांकि दूसरे देशों की तुलना में वायरस का बेहतर तरीके से सामना किया है. वहां इसके लगभग 8.20 लाख मामले दर्ज हुए हैं, जिसमें से मरने वालो की संख्या 15,000 है.

    पुलिस ने रात में गश्त शुरू की

    सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि टोक्यो के लोग बार-बार लगने वाले आपातकाल से उब गए हैं और इसमें अब सरकार का सहयोग नहीं कर रहे हैं. बड़ी संख्या में युवा रात आठ बजे के बाद सड़कों और पार्कों में इकट्ठा हो जा रहे हैं और उन्हें रोकने के लिए अधिकारियों ने रात में गश्त शुरू कर दी है. स्वास्थ्य मंत्री नोरिहिसा तमुरा ने कहा है कि ओलंपिक के उत्सव के बीच लोगों को शराब पीने से प्रभावी रूप से रोकना बड़ा सिरदर्द होगा.

    विशेषज्ञों का कहना है कि जापान में लोग अपनी गर्मी की छुट्टियों और ओलंपिक के दौरान घूमने के कारण एथलीटों और अन्य प्रतिभागियों की तुलना में वायरस के प्रसार में अधिक खतरनाक हो सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज