80% जापानी नहीं चाहते ओलिंपिक खेल, अब विदेशी दर्शकों की एंट्री पर लग सकता है बैन

टोक्यो ओलिंपिक की शुरुआत

टोक्यो ओलिंपिक की शुरुआत

Tokyo Olympics 2021: टोक्यो ओलिंपिक के आयोजन में 4 महीने से कम का समय बचा है. लेकिन इसके आयोजन को लेकर कई सवाल एक साल बाद भी जस के तस हैं. कोरोना (Corona virus) के कारण इन्हें पहले ही एक साल टाला जा चुका है.

  • Share this:
टोक्यो. जापान के टोक्यो में जुलाई अगस्त में होने वाले ओलिंपिक गेम्स (Tokyo Olympics 2021) का इंतजार पूरी दुनिया में किया जा रहा है. लेकिन इनके आयोजन पर भी अब भी सबसे बडा सवाल बना हुआ है. कोरोना महामारी (Corona Virus) के संकट के बीच लाख टके का सवाल यही है कि इन्हें आयोजित कैसे किया जाएगा. खुद जापान के लोग इस बात को लेकर इतने डरे हुए हैं कि वहां की 80 फीसदी आबादी चाहती है कि जापान (Japan) में ये आयोजन न हो. कोविड की बिगडती हालत के कारण ओलिंपिक को एक साल पहले ही टाला जा चुका है. अब ओलिंपिक समिति की अधिकारियों ने इशारा किया है कि अगर कोविड के बाद के हालात काबू में नहीं आए तो विदेशी मेहमानों के लिए ओलिंपिक गेम्स के दरवाजे नहीं खुलेंगे. मतलब दुनिया भर में ओलिंपिक फैंस अगर स्टेडियम में जाकर खेल देखना चाहें तो उनके लिए ये संभव नहीं हो सकेगा.

कोरोना महामारी के कारण एक साल बाद हो रहे टोक्यो ओलंपिक में विदेशी प्रशंसकों को अनुमति मिलने की संभावना नहीं है. जापान के अखबार मेनिची ने बुधवार को कहा कि इस बारे में फैसला ले लिया गया है. इसने चर्चा में शामिल सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी. अखबार ने कहा कि अंतिम फैसला एक महीने के भीतर ले लिया जाएगा. एक सरकारी अधिकारी के हवाले से अखबार ने कहा ,‘मौजूदा हालात में विदेशी दर्शकों को प्रवेश की अनुमति देना संभव नहीं है.’

इससे पहले टोक्यो ओलंपिक आयोजकों ने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति, अंतरराष्ट्रीय पैरालम्पिक समिति, टोक्यो मेट्रोपोलिटन प्रशासन और जापान सरकार के प्रतिनिधियों के साथ आनलाइन बैठक की. टोक्यो ओलंपिक 23 जुलाई से शुरू होंगे और महामारी के बीच इसमें विदेशी दर्शकों का आना वैसे भी संभव नहीं लग रहा था. जापान की जनता लगातार ओलंपिक के आयोजन का विरोध कर रही है और उन्होंने विदेशियों से कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने की आशंका लगातार जताई है. इसके अलावा खेल की लागत बढने का भी विरोध हो रहा है. इन खेलों में 11000 ओलंपिक खिलाड़ी, 4000 पैरालम्पिक खिलाड़ी, हजारों कोच, जज, प्रायोजक, मीडिया और वीआईपी भाग लेंगे.

हजारों करोड लगे हैं दांव पर
ओलिंपिक खेलों पर हजारों करोड दांव पर लगे हैं. ऐसे में आयोजक किसी भी कीमत पर ओलिंपिक को टालना या रद्द करना नहीं चाहते. खेल पहले ही एक साल टाले जा चुके हैं. ओलिंपिक के लिए टॉर्च रिले की तैयारी हो चुकी है. 25 मार्च को इसका समय निर्धारित किया गया है. इसकी शुरुआत फुकुशिमा से होगी. इसमें 10 हजार रनर शामिल होंगे. हालांकि यहां पर भी सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज