Home /News /sports /

शरद कुमार का खुलासा, कहा-फाइनल से पहले सो नहीं पाए, फैलाई गई थी 'डरावनी अफवाह'

शरद कुमार का खुलासा, कहा-फाइनल से पहले सो नहीं पाए, फैलाई गई थी 'डरावनी अफवाह'

टोक्यो पैरालंपिक में ब्रॉन्‍ज मेडल जीतने वाले बिहार के शरद कुमार

टोक्यो पैरालंपिक में ब्रॉन्‍ज मेडल जीतने वाले बिहार के शरद कुमार

Tokyo Paralmpics: टोक्यो पैरालंपिक में टी63 हाई जंप में ब्रॉन्‍ज जीतने वाले बिहार के खिलाड़ी शरद कुमार ने कहा है कि इसके बाद उन्‍होंने भगवत गीता पढ़ी और अगले दिन मैदान पर उतरे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्‍ली. टोक्यो पैरालंपिक (tokyo paralmpics) में टी63 हाई जंप में ब्रॉन्‍ज मेडल जीतने वाले बिहार के खिलाड़ी शरद कुमार (sharad kumar) ने कहा है कि उनकी तैयारी ब्रॉन्‍ज मेडल के लिए नहीं बल्कि वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ने की थी, लेकिन उनके साथ जो हादसा हुआ, उसके कारण उनके प्रदर्शन पर असर पड़ा. शरद ने कहा कि मेरे साथ जो हादसा हुआ उसके बाद यह जीत मेरे लिए बहुत बड़ी है. एक रात पहले मैं चोटिल हो गया था. इसके अलावा जिस फ्लोर पर मैं था, वहां यह अफवाह फैलाई गई थी कि एक व्यक्ति पॉजिटिव हो गया है. शायद इसके चक्कर में हमें अगले दिन पार्टिसिपेट नहीं करने दिया जाए. इस चक्कर में मैं पूरी रात सो नहीं पाया था.

शरद ने कहा कि मैं रोता रहा. मुझे लगा कि मेरी साढ़े 5 साल की मेहनत पर पानी फिर जाएगा. शरद कुमार ने कहा कि मेरे साथ भगवत गीता थी और मैंने उसे पढ़ा .उससे काफी अच्छी सीख मिली .मेरा तनाव खत्म हुआ. लगा जीत से आगे भी जिंदगी है. शरद कुमार ने न्यूज़ 18 से बात करते हुए कहा कि गीता में कहा गया है कि आप अपना कर्म करते रहो. इससे मुझे प्रेरणा मिली. यही सोचते हुए मैं ग्राउंड में गया.

पीएम मोदी की कोशिशों को सराहा
शरद कुमार ने कहा कि मैं अपने प्रदर्शन से और कांस्य पदक जीतने के बाद काफी खुश हूं. शरद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से किए जा रहे प्रयासों और खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देने की सराहना की. उन्होंने कहा कि खुद प्रधानमंत्री ही लीड कर रहे हैं. पीएम जाने के पहले बात करते हैं और आने के बाद मिलते हैं. इससे खिलाड़ियों का उत्‍साह बढ़ता है. शरद ने कहा कि अब मैं अपने खेल का लुत्‍फ उठाना चाहता हूं. मैं चाहता हूं कि अपने खेल को आनंद लेते हुए गुड बाय बोलो.

Tokyo Paralympics 2020: पीएम मोदी ने की नरवाल और सिंहराज की जमकर तारीफ, कहा- जीत का सिलसिला जारी है

Tokyo Paralympics: कृष्णा, सुहास और प्रमोद के पास गोल्ड जीतने का मौका, भारत का 18वां पदक हुआ पक्का

हरियाणा से बाकी राज्‍यों को सीखने की जरूरत
शरद ने कहा कि बिहार से मेरे अलावा प्रमोद भगत गए, हम दोनों ने मेडल जीता. यह 100 फीसदी आंकड़ा है. इससे साफ है कि बिहार के लोग और भी जाएंगे, तो और भी मेडल लेकर आएंगे. उन्‍होंने कहा कि हरियाणा से बाकी राज्‍यों को सीखने की जरूरत है. हरियाणा ने खिलाड़ियों की जिंदगी को काफी सुरक्षित किया है कि हर स्तर पर आप बेहतर परफॉर्म करें, आपको जॉब देंगे. उन्‍होंने कहा कि इससे बाकी राज्यों को सीखने की जरूरत है. उन्होंने उम्मीद जताई कि बिहार जैसे बाकी राज्य भी इससे सीखेंगे और बेहतर करेंगे.

Tags: Narendra modi, Sports news, Tokyo Paralympics, Tokyo Paralympics 2020

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर