नेशनल कैंप में 24 घंटे तक बिजली गुल, गर्मी-अंधेरे में रहे रेसलर, मंत्री ने दिया ये जवाब

लखनऊ में नेशनल कैंप में पहलवानों को बिना बिजली के गर्मी में सोना पड़ा. चैंपियन रेसलर विनेश फोगाट ने यह जानकारी दी.

News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 6:51 PM IST
नेशनल कैंप में 24 घंटे तक बिजली गुल, गर्मी-अंधेरे में रहे रेसलर, मंत्री ने दिया ये जवाब
महिला रेसलर विनेश फोगाट.
News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 6:51 PM IST
महिला पहलवान विनेश फोगाट ने बताया कि लखनऊ में नेशनल कैंप में खिलाड़ियों को 24 घंटे तक बिना लाइट के रहना पड़ा और गर्मी से जूझना पड़ा. उन्‍होंने सोशल मीडिया के जरिये यह आपबीती सुनाई और नाराजगी जाहिर की. केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने इस पर हैरानी जताई और मदद का भरोसा दिया. बताया गया है कि कैंप का ट्रांसफॉर्मर खराब हो गया था जिसकी वजह से लाइट चली गई थी. बाद में ट्रांसफॉर्मर ठीक कर लिया गया.

विनेश ने टि्वटर पर लिखा, 'कुश्‍ती के नेशनल कैंप में 24 घंटे से ज्‍यादा समय से बिजली नहीं है. कोई समाधान नहीं किया गया है. पूरी रात नहीं सो सके. बिना आराम के हम लोग अभ्‍यास कैसे कर पाएंगे. एक भी पंखा काम नहीं कर रहा. लखनऊ के 36 डिग्री के तापमान में पसीने से भीग रहे हैं.' इसमें उन्‍होंने खेल मंत्री किरण रिजिजू के साथ ही स्‍पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (साइ) को भी टैग किया.

कुछ देर बाद रिजिजू ने प्रतिक्रिया दी और कहा, 'यह बहुत बुरा है विनेश. हम इसकी जांच कराते हैं.'

vinesh phogat, wrestling national camp, vinesh phogat tweet, wrestler vinesh phogat, kiren rijiju, विनेश फोगाट, किरण रिजीजू, रेसलिंग नेशनल कैंप
विनेश फोगाट का ट्वीट और इसके बाद खेल मंत्री का जवाब.


इस घटना के बारे में एक अधिकारी ने बताया, 'ट्रांसफॉर्मर खराब हो गया था और इसके कारण पूरे मामले को सुलझने में समय लग गया. जेनरेटर की बदौलत पंखे सुबह तक चल रहे थे, लेकिन थोड़ी देर बाद उसने भी काम करना बंद कर दिया.'

विनेश ने हाल ही में यासर डोगू इंटरनेशनल रेसलिंग टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीता था. यह 53 किग्रा वर्ग में उनका लगातार दूसरा स्वर्ण था, उन्होंने स्पेनिश ग्रांप्री में भी जीत हासिल की थी. बता दें कि विनेश पहली भारतीय पहलवान हैं जिन्‍होंने कॉमनवेल्‍थ और एशियाड दोनों में गोल्‍ड जीता है.

उन्‍होंने 2014 और 2018 कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में क्रमश: 48 व 50 किलोग्राम भारवर्ग में सोना जीता था. वहीं 2018 जकार्ता एशियन खेलों में भी उन्‍होंने गोल्‍ड अपने नाम किया था. 2014 में इंचियोन गेम्‍स में उनके नाम कांसा हुआ था. गीता फोगाट और बबीता कुमारी उनकी चचेरी बहनें हैं.
Loading...

यह भी पढ़ें- देश के लिए फिर से ओलिंपिक खेलेंगे विजेंदर सिंह! 

इंडिया के लिए फुटबॉल खेला, अब बकरियां चराने को मजबूर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 19, 2019, 6:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...