NRAI ने किया कॉमनवेल्थ गेम्स बहिष्कार का समर्थन, बिंद्रा नहीं हैं सहमत

भारतीय ओलिंपिक संघ ने निशानेबाजी को बाहर किए जाने को लेकर 2022 बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स के बहिष्कार का प्रस्ताव रखा और सरकार से मंजूरी मांगी है.

भाषा
Updated: July 28, 2019, 10:47 PM IST
NRAI ने किया कॉमनवेल्थ गेम्स बहिष्कार का समर्थन, बिंद्रा नहीं हैं सहमत
भारतीय शूटर अभिनव ब्रिंदा
भाषा
Updated: July 28, 2019, 10:47 PM IST
भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) ने रविवार को कहा कि वह भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के 2022 बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स के बहिष्कार करने के प्रस्ताव का समर्थन करता है जिसने शूटिंग को अपने होने वाले गेम्स से बाहर कर दिया है. आईओए ने शनिवार को बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स से शूटिंग को हटाने के लिए इन खेलों का बहिष्कार करने का प्रस्ताव रखा है और इसके लिए सरकार की मंजूरी मांगी है जिसके लिए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने खेल मंत्री किरण रीजीजू को लिखा है.

एनआरएआई सचिव राजीव भाटिया ने कहा कि जहां तक कॉमनेल्थ गेम्स के बहिष्कार करने का संबंध है तो वे भी आईओए के साथ हैं. भाटिया ने कहा, ‘हम आईओए के साथ हैं. निश्चित रूप से हम उनके खेलों के बहिष्कार करने के प्रस्ताव का समर्थन करते हैं. हम आईओए का हिस्सा हैं, हम उसके एनएसएफ (राष्ट्रीय खेल महासंघ) में से एक हैं.’ उन्होंने कहा, ‘आईओए अध्यक्ष ने अच्छा काम किया है और आईओए जो भी कदम उठायेगा, हम उसका समर्थन करते हैं.’

अभिनव बिंद्रा ने नहीं किया समर्थन

हालांकि शूटिंग में भारत को ओलिंपिक  गोल्ड जीताने वाले अभिनव बिंद्रा आईओए के इस फैसले के समर्थन में नहीं है. बिंद्रा ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'बहिष्कार से आपका प्रभाव नहीं बढ़ता. यह सिर्फ आपको अप्रासंगिक बना देता हैं और खिलाड़ियों को सजा मिलती है. बेहतर होता अगर आईओए अभियान चलाकर कॉमनवेल्थ गेम्स की समितियों में समर्थन हासिल करता और भविष्य में शूटिंग को कोर खेलों की सूची में शामिल कराने का प्रयास करता.'

एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए भारतीय ओलिंपिक संघ ने निशानेबाजी को बाहर किए जाने को लेकर 2022 बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स के बहिष्कार का प्रस्ताव रखा और सरकार से मंजूरी मांगी है. खेल मंत्री किरण रिजिजू को लिखे पत्र में आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने इस प्रस्ताव पर बातचीत के लिये उनसे मुलाकात का समय मांगा है. 022 खेलों के बहिष्कार का प्रस्ताव रखते हुए बत्रा ने ‘भारत विरोधी मानसिकता’ के लिये सीजीएफ की आलोचना की. उन्होंने यह भी कहा कि भारत के अच्छा प्रदर्शन करने पर हर बार नियमों में बदलाव की कोशिश की जाती है. उन्होंने यह भी कहा कि भारत किसी भी देश का उपनिवेश नहीं है.

साई ने नेशनल कैंप से तीरंदाज को बाहर निकाला

भारत को ओलंपिक खेलों पर ध्यान देने की जरूरत: रिजिजू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2019, 9:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...