कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के बहिष्कार का अन्य खेल संघों ने भी किया समर्थन

भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अब तक 500 मेडल जीते हैं जिसमें से 134 मेडल शूटिंग में मिले हैं.

News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 6:20 PM IST
कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के बहिष्कार का अन्य खेल संघों ने भी किया समर्थन
भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अब तक 500 मेडल जीते हैं जिसमें से 134 मेडल शूटिंग में मिले हैं.
News18Hindi
Updated: August 1, 2019, 6:20 PM IST
बर्मिंघम में होने वाले 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में शूटिंग के शामिल ना होने से भारतीय ओलिंपिक एसोसिएशन (आईओए) काफी नाराज है. आईओए ने खेल मंत्रालय को पत्र लिखकर कॉमनवेल्थ गेम्स के बहिष्कार करने के लिए अनुमति मांगी है. आईओए के इस फैसले का नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (NRAI) ने समर्थन किया है.

कॉमनवेल्थ गेम्स में हमेशा ही शूटिंग में भारत का दबदबा रहा है. भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अब तक 500 मेडल जीते हैं जिसमें से 134 मेडल शूटिंग में मिले हैं. वहीं गोल्डकोस्ट में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भी भारत को सबसे ज्यादा मेडल शूटिंग में हासिल हुए थे. भारत ने गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ 2018 में 66 मेडल हासिल किए थे, जिसमें से 16 मेडल शूटिंग में आए थे. शूटिंग के बाद भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में वेटलिफ्टिंग में 124, रेसलिंग में 102 और बॉक्सिंग में 37 मेडल हासिल किए. इन तीनों ही फेडरेशन और खिलाड़ियों ने आईओए के फैसले का समर्थन किया है.

गोल्डकोस्ट में भारत ने शूटिंग में 16 मेडल हासिल किए थे
गोल्डकोस्ट में भारत ने शूटिंग में 16 मेडल हासिल किए थे


वेटलिफ्टिंग फेडरेशन ने कहा, हम आईओए के साथ

शूटिंग को शामिल ना करने के कारण वह खेलों के बहिष्कार के लिए तैयार हैं. फर्स्टपोस्ट के मुताबिक वेटलिफ्टिंग फेडरेशन के सेक्टरी जनरल सहदेव यादव ने कहा, 'कॉमनवेल्थ गेम्स में हमारे पास मेडल जीतने के अच्छे मौके हैं लेकिन अगर आईओए और सरकार बहिष्कार का फैसला करती है तो हम उनके साथ है. हमें इससे नुकसान होगा लेकिन हम देश से अलग नहीं है. हम बहिष्कार का विरोध नहीं करेंगे.'

वहीं बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आर के सचेती ने कहा, 'फेडरेशन के तौर पर हम आईओए के साथ खड़े हैं. आईओए के ऊपर सभी खेलों की जिम्मेदारी है. आईओए शूटिंग के लिए यह कदम उठा रहा है, हम उनके साथ है. कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन को भारत की इस डिमांड पर ध्यान देना चाहिए था.'

सीजीएफ चाहता है कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले भारत
Loading...

कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन (सीजीएफ) चाहता है कि भारत 2022 बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले. इसके लिए वह आने वाले समय में आईओए आधिकारियों से मुलाकात करेंगे.

भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स के बहिष्कार का फैसला किया है
भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स के बहिष्कार का फैसला किया है


सीजीएफ के मीडिया मैनेजर टॉम डिगुन ने कहा, 'हमें यह जानकर बहुत निराशा हुई कि भारत खेलों में हिस्सा नहीं लेना चाहता है. हम चाहते हैं कि भारत कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले. हम आने वाले समय में भारत में आईओए के आधिकारियों से मिलेंगे और बात उनकी समस्या को सुलझाने की कोशिश करेंगे ताकि भविष्य के लिए चीजें सही रहे.'

सीजीएफ की जनरल असेंबली में हिस्सा नहीं लिया भारत ने
भारत ने रवांडा में हुई सीजीएफ की जनरल असेंबली में हिस्सा नहीं लिया था. टॉम डिगुन ने कहा, 'भारत मीटिंग का हिस्सा नहीं बना जिससे हमें निराशा हुई. रवांडा में हुई 2019 सीजीएफ जनरल असेंबली में हमने कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए थे जिसका हिस्सा भारत नहीं था.'

यह भी पढ़ें- Thailand Open 2019: 17 साल की सायका से हारी सायना नेहवाल, टूर्नामेंट से हुई बाहर

इस भारतीय बॉक्सर ने यूट्यूब देखकर की तैयारी, जीत लिया गोल्ड मेडल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 1, 2019, 5:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...