लाइव टीवी

वर्ल्‍ड चैंपियनशिप पर कुश्‍ती महासंघ ने पहलवानों से मांगा जवाब, रोने लगीं साक्षी मलिक

News18Hindi
Updated: September 26, 2019, 10:04 AM IST
वर्ल्‍ड चैंपियनशिप पर कुश्‍ती महासंघ ने पहलवानों से मांगा जवाब, रोने लगीं साक्षी मलिक
साक्षी मलिक ने 2012 लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक हासिल किया था. (फाइल फोटो)

वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक और ग्रीको रोमन पहलवानों के प्रदर्शन पर सवाल पूछे गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2019, 10:04 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: वर्ल्‍ड चैंपियनशिप (World Championship) में भारतीय पहलवानों (Indian wrestlers) ने अब तक के सबसे ज्‍यादा 5 पदक जीते. इसमें दीपक पूनिया (Deepak Punia) को सिल्‍वर और विनेश फोगाट (Vinesh Phogat), रवि दहिया (Ravi Dahiya), बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) व राहुल अवारे (Rahul Aware) को ब्रॉन्‍ज मेडल मिले. कजाकिस्‍तान की राजधानी नूर सुल्‍तान में हुई इस चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों ने टोक्‍यो ओलिंपिक 2020 के चार कोटा भी हासिल किए. लेकिन भारतीय कुश्‍ती महासंघ (Wrestling Federation of India)  इससे खुश नहीं है. उसने भारत लौटने के बाद पहलवानों और कोच से टूर्नामेंट के बारे में बात की और उनसे कई कड़े सवाल किए.

ट्रिब्‍यून की खबर के अनुसार, मीटिंग के दौरान बजरंग के कोच शेको बेनतिनिडिस (Shako Bentinidis), पहलवान साक्षी मलिक (Sakshi Malik) और सभी ग्रीको रोमन पहलवानों से सवाल-जवाब किए गए. इस दौरान रेसलर साक्षी मलिक के आंसू निकल आए. संभवत: यह पहली बार हुआ है जब भारत में खिलाड़ियों से उनके प्रदर्शन के बारे में पूछा गया है.

बजरंग के कोच से पूछे ये सवाल
कुश्‍ती महासंघ के अध्‍यक्ष बृज भूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) ने बजरंग को दो साल से कोचिंग दे रहे बेनतिनिडिस से दो सवाल किए. उन्‍होंने ट्रिब्‍यून को बताया, 'मैंने पूछा कि बजरंग आसानी से अपनी टांग पकड़ने क्‍यों दे रहा था. बजरंग के विरोधी उसकी टांग पकड़कर आसान अंक ले रहे थे. इसके चलते वह मैच में पिछड़ रहा था. यह सभी को दिख रहा था. वह बार-बार यही गलती कर रहा है. इसलिए मैंने बेनतिनिडिस से पूछा कि आपने जो वादा किया था उसका क्‍या हुआ.'

wrestling federation of india, brij bhushan sharan singh, bajrang punia,sakshi malik, greeko roman wrestlers, बजरंग पूनिया, बजरंग पूनिया कोच, भारतीय पहलवान, बृज भूषण शरण सिंह, भारतीय कुश्‍ती संघ
बजरंग पूनिया (दाएं) के साथ रवि दहिया.


'बार-बार हो रहीं हैं गलतियां'
सिंह ने बजरंग के कोच के रैफरी के फैसले को चुनौती देने पर भी सवाल किया. उन्‍होंने बताया, 'बेनतिनिडिस काफी समय से बजरंग के साथ है लेकिन बार-बार गलतियां दोहराई जा रही हैं. मैंने उनसे यह भी पूछा कि सेमीफाइनल में जब सबको पता था कि वहां कोई पॉइंट नहीं है तो उन्‍होंने रैफरी को चुनौती क्‍यों दी.'
Loading...

शुरू में पिछड़ते हैं बजरंग
बता दें कि बजरंग कह चुके हैं कि वह रणनीति के तहत शुरुआत में अपने विरोधियों को परेशान करते हैं ताकि वह थक जाएं. उसने कई बार इस तरह से वापसी की है. नूर सुल्‍तान में भी बजरंग अपने तीनों मुकाबले में पिछड़ रहे थे लेकिन हर बार उसने वापसी की. सेमीफाइनल में भी उन्‍होंने 2-9 से पिछड़ने के बाद 9-9 की बराबरी हासिल कर ली थी.

ग्रीको रोमन पहलवानों पर कड़ाई
बृज भूषण शरण सिंह ने ग्रीको रोमन पहलवानों के दल से पूछा किया वे वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में अच्‍छा प्रदर्शन क्‍यों नहीं कर पाए. उन्‍होंने बताया, 'मैंने पूछा कि आप लोग यहां क्‍यों हैं. उनके पास कोई जवाब नहीं था. हम सभी टूर्नामेंट में कुछ कैटेगरी में उनमें से कुछ को नहीं भेजने पर गंभीरता से सोच रहे हैं.'

रोने लगीं साक्षी मलिक
वहीं जब साक्षी मलिक से उनके प्रदर्शन के बारे में पूछा गया तो वह रोने लग गईं. इसके चलते मीटिंग समाप्‍त कर दी गई. साक्षी पहले ही दौर में बाहर हो गई थीं. सिंह ने बताया, 'वह मीटिंग में रोने लगी इसलिए हमने मामला समाप्‍त कर दिया.'

आईओए अध्यक्ष का बड़ा बयान, कहा- कॉमनवेल्‍थ गेम्स समय की बर्बादी, पूरी तरह से हटे भारत

वर्ल्ड चैंपियनशिप में हार के बाद 'सदमे' में बजरंग पूनिया, दिया बड़ा बयान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 26, 2019, 9:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...