लाइव टीवी

विपक्षी खिलाड़ियों के रोकने के बावजूद इस नियम से फाइनल में उतरे अविनाश साबले, फिर हासिल किया ओलिंपिक कोटा

News18Hindi
Updated: October 5, 2019, 8:40 AM IST
विपक्षी खिलाड़ियों के रोकने के बावजूद इस नियम से फाइनल में उतरे अविनाश साबले, फिर हासिल किया ओलिंपिक कोटा
अविनाश साबले ने 8 मिनट 21.37 सेकंड का समय लिया

हीट रेस के दौरान विपक्षी खिलाड़ियों ने अविनाश साबले (Avinash Sable) को बाधा पहुंचाई. जिसका भारत ने जमकर विरोध किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2019, 8:40 AM IST
  • Share this:
दोहा. भारत के अविनाश साबले (Avinash Sable) ने तीन हजार मीटर के स्टीपलचेज में अपने ही राष्ट्रीय रिकॉर्ड को ध्वस्त करते अगले साल होने वाले टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics ) का टिकट हासिल कर लिया है. दोहा में चल रहे विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप (World athletics championship) में उन्होंने 8 मिनट 21.37 सेकंड का समय लिया. जबकि ओलिंपिक (Olympic) क्वालिफाई करने का समय 8 मिनट 22 सेकंड है. चैंपियनशिप में वह 13वें स्‍थान पर रहे. अविनाश ने पिछले तीन दिनों में दो बार अपना ही नेशनल रिकॉर्ड तोड़ा है. पहले राउंड हीट्स में इससे पहले उन्होंने आठ मिनट 25.23 सेकंड का समय लेकर नेशनल रिकॉर्ड  बनाया था, जिसे उन्होंने फाइनल रेस में तोड़ दिया. हालांकि मेडल विनर्स के समय की तुलना में अविनाश (Avinash Sable) काफी पीछे रहे. वह 15 में से 13वें स्‍‌थान पर आए.




भारत ने किया ‌था जमकर विरोध
ओलिंपिक चैंपियन केन्या के कॉनसिप्लस किप्रूटो ने 8 मिनट 01.35 सेकंड का समय लेकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया. वह अविनाश (Avinash Sable) के मुकाबले 20 सेकंड अधिक तेज थे. जबकि  इथोपिया के लमखे गिरमा 8 मिनट 01.36 के साथ दूसरे और मोरक्को के बकाली 8 मिनट 03.76 सेकंड के साथ तीसरे पायदान पर रहे. 25 साल के अविनाश महाराष्ट्र के मंडवा के रहने वाले हैं.
Loading...

उनका रेस में उतरने से लेकर ओलिंपिक टिकट हासिल करने तक का सफर काफी नाटकीय अंदाज में रहा. दरअसल हीट रेस के दौरान हर्डल पार करते समय विपक्षी खिलाड़ी उनके सामने आ गया. जिससे साबले पीछे रह गए.  इसके बाद भारतीय एथलेटिक्स फेडरेशन (Athletics Federation of India) ने विरोध जताया कि हीट रेस में अन्य धावकों के उनके रास्ते में बाधा पहुंचाई. इसके बाद रेस रेफरी ने हीट रेस के वीडियो की जांच की और वह भी इससे सहमत हुए कि दो  मौकों पर भारतीय धावक अविनाश बाधित हुए. भारत के सफल विरोध के बाद नियम 163.2 के तहत अविनाश को फाइनल में जगह दी गई.

 वर्ल्ड चैंपियनशिप में मेडल के बाद रवि को मिला इनाम, साक्षी मलिक मुश्किल में


जोकोविच से मिलने के लिए घर छोड़ा, देश छोड़ा, 4 साल बाद मुलाकात हुई तो...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 8:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...