नेशनल ट्रायल्स में साक्षी और विनेश फोगाट की आसान जीत, वर्ल्ड चैंपियनशिप का कटाया टिकट

विनेश के 53 किग्रा वर्ग में सिर्फ तीन रेसलर थे जिससे उन्हें सिर्फ एक मुकाबले में उतरना पड़ा, वहीं साक्षी ने भी आसान जीत हासिल की

भाषा
Updated: July 28, 2019, 10:47 PM IST
नेशनल ट्रायल्स में साक्षी और विनेश फोगाट की आसान जीत, वर्ल्ड चैंपियनशिप का कटाया टिकट
विनेश फोगाट ने कटाया वर्ल्ड चैंपियनशिप का टिकट
भाषा
Updated: July 28, 2019, 10:47 PM IST
विनेश फोगाट और साक्षी मलिक रेसलिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए रविवार को हुए ट्रायल्स में उम्मीदों के मुताबिक आसानी से जीत दर्ज करने में सफल रहे जबकि पूर्व ब्रॉन्ज मेडल विजेता पूजा ढांडा को सरिता मोर के खिलाफ उलटफेर का शिकार होना पड़ा. विनेश के 53 किग्रा वर्ग में सिर्फ तीन रेसलर थे जिससे उन्हें सिर्फ एक मुकाबले में उतरना पड़ा. उन्होंने फाइनल मुकबले में पिंकी के खिलाफ 9-0 की दमदार जीत दर्ज की.

साक्षी मलिक की आसान जीत

रियो ओलिंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट विजेता साक्षी मलिक को 62 किग्रा भार वर्ग में अंकिता को पटखनी देने में सिर्फ 58 सेकंड का समय लगा जबकि फाइनल बाउट में उन्होंने एक पीरियड में ही रेशमा मान को शिकस्त दी. दिव्या काकरान ने 68 किग्रा में वर्ल्ड चैंपियनशिप का टिकट कटाया. उन्होंने पहले नयना को 7-2 और फिर फाइनल में नवजोत कौर को 6-3 से शिकस्त दी.

किरण ने 76 किग्रा और सीमा बिस्ला ने 50 किग्रा भार वर्ग में वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए क्वालिफाई किया. वर्ल्ड चैंपियनशिप का आयोजन कजाखस्तान में 14 से 22 सिंतबर तक होगा.

साक्षी मलिक ने हासिल की आसान जीत
साक्षी मलिक ने हासिल की आसान जीत


57 किग्रा वर्ग में था सबसे कड़ा मुकाबला

सबसे कड़ा मुकाबला 57 किग्रा वर्ग में था जहां पूजा के अलावा तेजी से उभरती हुई अंशू मलिक, वर्ल्ड रैंकिंग में चौथे स्थान पर काबिज मंजू और सरिता दावेदारी पेश कर रहीं थी. पूजा ने रानी राणा को मात देने के बाद अंशू को पटखनी देकर फाइनल में जगह बनायी. अंशू ने हालांकि पूजा को कड़ी टक्कर दी और एक समय वह 4-2 से आगे चल रही थी लेकिन अंतिम मिनट में पूजा ने दो अंक लेकर बराबरी की और फिर जीत दर्ज की. इस वर्ग में मंजू को भी उलटफेर का सामना करना पड़ा जिसे मानसी ने 4-3 से हरा दिया. मानसी को हालांकि सरिता ने अगले मुकाबले में बाहर का रास्ता दिखा फाइनल में पहुंची.
Loading...

फाइनल में 52वें सेकेंड में सरिता का घुटना चोटिल हो गया लेकिन फिर भी वह पूजा पर भारी पड़ी. एशियाई चैंपियनशिप (2018) में रजत पदक जीतने वाली सरिता ने अपनी मानसिक मजबूती और दमदार डिफेंस से पूजा को हावी होने का मौका नहीं दिया.

वर्ल्ड चैंपियनशिप का टिकट कटाने के बाद उन्होंने कहा, ‘मैंने उसके खेल के मुताबिक तैयारी की थी. हम दोनों एक-दूसरे के खेल को अच्छे से जानते हैं. मैं रक्षात्मक होकर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही थी ऐसे में आज शुरू से आक्रामक रहना फायदेमंद रहा. पूजा बड़ी खिलाड़ी है और उसके खिलाफ इस नतीजे से मैं खुश हूं.’ यह टूर्नामेंट ओलिंपिक क्वालिफाइंग प्रतियोगिता है.

भारत में ही ओलिंपिक की तैयारी करेंगे बॉक्सर, ट्रेनिंग देने आएंगे विदेशी कोच
NRAI ने किया कॉमनवेल्थ गेम्स बहिष्कार का समर्थन, बिंद्रा नहीं हैं सहमत

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 28, 2019, 10:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...