World Boxing Championship: अमित पंघाल पर होगी नजर, चैंपियनशिप में रिकॉर्ड बेहतर करने उतरेगा भारत

भाषा
Updated: September 8, 2019, 6:25 PM IST
World Boxing Championship: अमित पंघाल पर होगी नजर, चैंपियनशिप में रिकॉर्ड बेहतर करने उतरेगा भारत
अमित पंघाल ने पिछले एक साल में शानदार प्रदर्शन किया है

भारत की उम्मीदें अमित पंघाल (Amit Panghal) पर टिकी होंगी जो एक साल से शानदार फॉर्म में है . उसने एशियाई चैंपियनशिप (Asian Boxing Championship 2019) और एशियाई खेलों (Asian Games) में गोल्ड मेडल जीता है

  • Share this:
ओलिंपिक कोटा (Olympic 2020) दाव पर नहीं होने के बावजूद भारतीय बॉक्सर (Indian Boxer) सोमवार से शुरू हो रही पुरुषों की वर्ल्ड चैंपियनशिप (World Boxing Championship) में उतरेंगे तो उनका इरादा पिछले 20 सत्र में महज चार मेडल जीतने के अपने रिकॉर्ड को बेहतर करने का होगा.

भारत के लिए अभी तक सिर्फ विजेंदर सिंह (2009), विकास कृष्णन (2011), शिवा थापा (2015) और गौरव बिधूड़ी (2017) विश्व चैंपियनशिप में मेडल जीत सके हैं . इन सभी को ब्रॉन्ज मेडल मिले और भारत की नजरें मेडल का रंग बेहतर करने पर भी होगी . भारतीय बॉक्सिंग के हाई परफार्मेंस निदेशक सैंटियागो नीवा ने प्रेस ट्रस्ट से कहा ,‘यह कठिन होगा . हमारा मकसद पिछले प्रदर्शन को बेहतर करना है . हम उसी के लिए मेहनत कर रहे हैं .’

ओलिंपिक क्वालिफायर नहीं हैं वर्ल्ड चैंपियनशिप

यह टूर्नामेंट ओलिंपिक क्वालिफायर होना था जिसमें पारंपरिक दस भारवर्ग की बजाय संशोधित आठ (52 किलो, 57, 63,69,74,81,91 और प्लस 91 किलो) भारवर्ग रखे गए हैं . अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति ने अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग संघ (एआईबीए) में लंबे समय से चली आ रही प्रशासनिक अनियमितताओं के कारण इससे ओलिंपिक क्वालिफायर का दर्जा छीन लिया .

इसके बावजूद इसमें 87 देशों के 450 बॉक्सर हिस्सा लेंगे .भारत की उम्मीदें अमित पंघाल (52 किलो) पर टिकी होंगी जो एक साल से शानदार फॉर्म में है . उसने एशियाई चैंपियनशिप और एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीता है . वह 2017 में वर्ल्ड चैंपियनशिप पदक के करीब पहुंचा लेकिन क्वार्टर फाइनल में हार गया .

bboxing, manish kaushik, commonwealth games
पिछले साल कॉमनवेल्थ गेम्स के सिल्वर मेडलिस्ट विजेता मनीष कौशिक (63 किलो) भी मेडल के दावेदार होंगे


अमित पंघाल के अलावा कविंदर बिष्ट से भी होंगी उम्मीदें
Loading...

उनके अलावा कविंदर बिष्ट (57 किलो) भी दावेदारों में है जो 2017 क्वार्टर फाइनल में लहुलूहान हो गए थे. इस साल एशियन चैंपियनशिप में उन्होंने विश्व चैंपियन कैरात येरालियेव को हराया . सतीश कुमार (प्लस 91 किलो) के पास भी विश्व चैंपियनशिप का अनुभव है . एशियाई खेलों के पूर्व विजेता की नजरें टूर्नामेंट में पहले मेडल पर होगी.

पिछले साल कॉमनवेल्थ गेम्स के सिल्वर मेडलिस्ट विजेता मनीष कौशिक (63 किलो) भी मेडल के दावेदार होंगे . संजीत (91 किलो) और आशीष कुमार (75 किलो) से भी उम्मीदें होंगी .

भारतीय टीम : अमित पंघाल (52 किलो), कविंदर बिष्ट (57 किलो), मनीष कौशिक (63 किलो) , दुर्योधन सिंह नेगी (69 किलो) , आशीष कुमार (75 किलो), बृजेश यादव (81 किलो), संजीत (91 किलो) और संतीश कुमार (प्लस 91 किलो) .

बियांका एंड्रेस्‍क्‍यू: कौन है ये लड़की जिसने 19 साल की उम्र में US Open जीता

US OPEN: 23 बार की ग्रैंडस्लैम चैम्पियन सेरेना को 19 साल की बियांका ने हराया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 6:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...