होम /न्यूज /खेल /

FIFA WC 2018: इन 3 वजहों से अर्जेंटीना को हराने में कामयाब हुआ क्रोएशिया

FIFA WC 2018: इन 3 वजहों से अर्जेंटीना को हराने में कामयाब हुआ क्रोएशिया

इन 3 वजहों से अर्जेंटीना को हराने में कामयाब हुआ क्रोएशिया

इन 3 वजहों से अर्जेंटीना को हराने में कामयाब हुआ क्रोएशिया

इस दमदार जीत के साथ क्रोएशिया की टीम 1998 फीफा वर्ल्ड कप के बाद पहली बार प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुई है जबकि अर्जेंटीना के लिए अगले दौर में पहुंचने की राह और मुश्किल हो गई है.

    क्रोएशिया ने फीफा वर्ल्ड कप 2018 की ग्रुप स्टेज में अर्जेंटीना को रौंदकर सबको हैरान कर दिया. क्रोएशिया ने अपनी कमाल की परफॉरमेंस के दम पर अर्जेंटीना को 3-0 से करारी शिकस्त दी. इस दमदार जीत के साथ क्रोएशिया की टीम 1998 फीफा वर्ल्ड कप के बाद पहली बार प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुई है जबकि अर्जेंटीना के लिए अगले दौर में पहुंचने की राह और मुश्किल हो गई है. ग्रुप-डी में दो मैच के बाद अर्जेंटीना एक अंक के साथ तीसरे पायदान पर मौजूद है.

    पहले मैच में आईसलैंड के खिलाफ 1-1 ड्रॉ के बाद किसी ने नहीं सोचा था कि अर्जेंटीना इतनी बुरी तरह हार सकती है. क्रोएशिया के खिलाफ ये हार 60 साल में सबसे बड़ी हार थी.

    अब अगले दौरे के लिए क्वालीफाई करना अर्जेंटीना के लिए बेहद मुश्किल हो गया है. अर्जेंटीना को नाईजीरिया के खिलाफ अगले 5 दिनों में खेलना है और वो इस ख़राब प्रदर्शन को दोहराना नहीं चाहेगी. वहीं क्रोएशिया अगले दौर में पहुंच चुकी है और जीत को बरकरार रखने बेताब है. हम आपको बता रहे हैं वो 3 वजह जिसकी मदद से क्रोएशिया मेसी की अर्जेंटीना को धूल चटाने में कामयाब हुई.

    अर्जेंटीना की रणनीति पर किया अटैक

    (Photo: AP)
    (Photo: AP)


    ये सब जानते हैं कि अटैकिंग खेलने की रणनीति ही अर्जेंटीना की ताक़त है. लेकिन क्रोएशिया ने उसे मौका नहीं दिया. अर्जेंटीना ने तेज़ शुरुआत करने का प्रयास तो ज़रूर किया. लेकिन, क्रोएशिया के डिफेंस ने अपना संयम नहीं खोया और काउंटर अटैक करके गोल दागने की कोशिश की. मिडफील्डर इवान पेरीसिक ने चौथे मिनट में अर्जेंटीना के डिफेंस को छकाते हुए गोल पर निशाना दागा जिसे गोलकीपर विल्फ्रेडो काबालेरो ने रोक कर अपनी टीम को शुरुआती झटके से बचा लिया. अर्जेंटीना के अगियेरो का परफॉरमेंस सबसे ख़राब रहा. 53 मिनट में वो सिर्फ 16 बार बॉल को छू पाए. दूसरे हाफ में क्रोएशिया के गोल के बाद भी अर्जेंटीना नहीं जागी और इसी का ख़ामियाज़ा हार से चुकाना पड़ा.

    मोडरिच और रोकिटिच की अनुभवी जोड़ी

    (Photo: AP)
    (Photo: AP)


    क्रोएशिया के दो सबसे अनुभवी और अहम खिलाड़ी- मोडरिच और ईवान रोकिटिच ने अपनी टीम का बेहतरीन नेतृत्व किया और अर्जेंटीना की उम्मीदों पर पानी फेर दिया. इन दोनों खिलाड़ियों ने ग़ज़ब का खेल दिखाते हुए 6 शॉट्स लगाए, तीन अहम पास दिए और मैच में दो गोल भी किए. राकिटिच ने पूरे मैच में अपने बार्सीलानो के टीम मेट मेसी पर नज़र रखी. मोदरिच भी वहां हर वक्त मौजूद रहे. मोडरिच और रोकिटिच पूरी तरह से मैच में हावी थे. क्रोएशिया की टीम कोच दालिच के इसी प्लान के साथ मैच में उतरी थी.

    मैच में जैसे मेसी थे ही नहीं...

    (Photo: AP)
    (Photo: AP)


    रोनाल्डो और मेसी जिस भी टूर्नामेंट के हिस्सा होते हैं उसकी शुरुआत ही दुनिया के इन दो बेहतरीन खिलाड़ियों के बीच कॉम्पीटीशन से होती है. वर्ल्ड कप 2018 भी कुछ अलग नहीं था. ख़ासकर तब जब टूर्नामेंट में पुर्तगाल ने शानदार शुरुआत की. पुर्तगाल के दो मैचों में रोनाल्डो चार गोल दागने में कामयाब रहे. जिसके बाद मेसी पर अपने प्रतिद्वंद्वी के मुकाबले बेहतर परफॉर्म करने का दबाव बढ़ता गया. हालांकि क्रोएशिया के खिलाफ मैच में मेसी अपनी टीम की अगुआई करने में नाकाम रहे. यहां तक की ऐसा लग रहा था जैसे मैच में मेसी हैं ही नहीं. अर्जेंटीना का ये खिलाड़ी सिर्फ एक ही शॉट लगा सका वो भी टार्गेट पर नहीं लगा. जबकि उनके 25 प्रतिशत पास सही खिलाड़ी तक नहीं पहुंचे. हालांकि मैच के दूसरे हाफ में मेसी कोशिश करते दिखे लेकिन लगातार उनके हाथ निराशा ही लगी.

    अर्जेंटीना की हार के बाद मेसी को अहसास हो गया कि वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम करने का उनका सपना टूटकर उसी मैदान पर बिखर गया है और इसका मलाल ज़िंदगी भर उन्हें कचोटता रहेगा. बार्सीलोना के साथ कामयाबी की नई बुलंदियों को छूने वाले दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलरों में शुमार मेसी को उम्मीद थी कि अपने आखिरी वर्ल्ड कप में वह फुटबॉल की यह सबसे बड़ी ट्रॉफी थाम सकेंगे लेकिन गुरुवार को क्रोएशिया ने उनका यह सपना लगभग तोड़ दिया.

    Tags: 2018 FIFA WORLD CUP

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर