पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड के लिए खुशखबरी, मुंबई से अबुधाबी के लिए उड़ान भर सकेगा चार्टर्ड फ्लाइट

पीएसएल के बाकी बचे मैचों का आयोजन यूएई में होगा (PC:AFP)

पीएसएल के बाकी बचे मैचों का आयोजन यूएई में होगा (PC:AFP)

पाकिस्‍तान सुपर लीग के लिए यूएई के अधिकारियों ने 25 भारतीय नागरिकों को भारत से अबुधाबी की यात्रा करने के लिए वीजा जारी किया है

  • Share this:

कराची. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से मुंबई और जोहानिसबर्ग से चार्टर्ड विमानों को अबुधाबी में उतारने की अनुमति मिल गई है, जिससे उसका पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के बाकी बचे मैचों के आयोजन का रास्ता साफ हो गया. पीएसएल के बाकी बचे मैचों के आयोजन को लेकर गुरुवार तक आशंका बनी हुई थी, क्योंकि यूएई से पीसीबी को भारत और ​दक्षिण अफ्रीका से चार्टर्ड विमान उतारने की अनुमति नहीं मिली थी.

इन विमानों से प्रसारण दल के सदस्य, खिलाड़ी और अधिकारी अबुधाबी पहुंचेंगे. पीसीबी के एक अधिकारी ने कहा कि अबुधाबी खेल परिषद ने अब अपने संबंधित विभाग को मुंबई और जोहानिसबर्ग से चार्टर्ड विमानों को उतारने की अनुमति देने के लिये कहा है. उन्होंने कहा कि मंजूरी मिलने के बाद अब चार्टर्ड विमान अबुधाबी जा पाएंगे. यूएई के अधिकारियों ने 25 भारतीय नागरिकों को  भारत से अबुधाबी की यात्रा करने के लिए वीजा जारी किया है, जो प्रसारणकर्मियों की टीम का हिस्सा हैं.

यह भी पढ़ें : 

किस बल्लेबाज के खिलाफ गेंदबाजी करना है मुश्किल?, कुलदीप यादव ने दिया मजेदार जवाब
एमएस धोनी को स्‍लेज कर रहे थे पीटरसन, पूर्व भारतीय कप्‍तान ने कहा- मुंह बंद करो अपना

वीजा मिलने में देरी के कारण भी उठानी पड़ी थी परेशानी

पीसीबी को भारतीय और दक्षिण अफ्रीकी प्रसारण दल के वीजा मिलने में देरी के कारण भी परेशानी उठानी पड़ी थी लेकिन उन्हें गुरुवार को वीजा मिल गये थे. अधिकारी ने कहा कि अब अबुधाबी में लीग के आयोजन को लेकर कोई बाधा नहीं है. पीएसएल 2021 में खिलाड़ियों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले मिलने के बाद चार मार्च को लीग को बीच में ही स्थगित कर दिया गया था. टूर्नामेंट के महज 14 मैच खेले गए थे. पीसीबी की सभी छह फ्रेंचाइजियों के लगभग 233 खिलाड़ियों और अपने कर्मचारियों को चार्टर्ड विमान में ला रहा है, जिससे कि पीएसएल के बाकी बचे 20 मैचों का आयोजन हो सके. इन मैचों को 6 से 20 जून के बीच खेले जाने की संभावना है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज