Home /News /sports /

बीसीसीआई के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिए पीसीबी को हरी झंडी

बीसीसीआई के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिए पीसीबी को हरी झंडी

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के गवर्नर्स बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड के खिलाफ दि्वपक्षीय श्रृंखलाएं खेलने के लिए साल 2014 में दोनों बोर्ड के बीच हुए समझौता पत्र का सम्मान नहीं करने के लिए कानूनी कार्रवाई करने की मंजूरी दे दी है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के गवर्नर्स बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड के खिलाफ दि्वपक्षीय श्रृंखलाएं खेलने के लिए साल 2014 में दोनों बोर्ड के बीच हुए समझौता पत्र का सम्मान नहीं करने के लिए कानूनी कार्रवाई करने की मंजूरी दे दी है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के गवर्नर्स बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड के खिलाफ दि्वपक्षीय श्रृंखलाएं खेलने के लिए साल 2014 में दोनों बोर्ड के बीच हुए समझौता पत्र का सम्मान नहीं करने के लिए कानूनी कार्रवाई करने की मंजूरी दे दी है.

  • Bhasha
  • Last Updated :
    पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के गवर्नर्स बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड के खिलाफ दि्वपक्षीय श्रृंखलाएं खेलने के लिए साल 2014 में दोनों बोर्ड के बीच हुए समझौता पत्र का सम्मान नहीं करने के लिए कानूनी कार्रवाई करने की मंजूरी दे दी है.

    कार्यकारी समिति के प्रमुख पीसीबी अध्यक्ष शहरयार खान और नजम सेठी ने गवर्नर्स बोर्ड की बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि भारत के करार का सम्मान नहीं करने के कारण पीसीबी को हुए वित्तीय नुकसान के लिए मुआवजा हासिल करने के लिए पीसीबी को कानूनी कार्रवाई करने की अनुमति मिल गई है.

    शहरयार ने कहा, ‘हम जल्द ही इस मामले में कानूनी परामर्श शुरू कर देंगे. सचाई यह है कि बीसीसीआई ने 2015 से 2022 के बीच छह दि्वपक्षीय श्रृंखलाएं खेलने के लिए करार पर हस्ताक्षर किए थे.’

    उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) इस करार की गवाह है. हम अब भारत का करार के अनुसार श्रृंखलाएं नहीं खेलने के लिए बीसीसीआई और आईसीसी के स्तर पर मसला रखने के लिए अपनी कानूनी टीम से मशविरा करेंगे.

    Tags: BCCI, ICC

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर