होम /न्यूज /खेल /

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- खिलाड़ियों के सेलेक्शन में आई पारदर्शिता, इस कारण लहरा रहा है तिरंगा

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- खिलाड़ियों के सेलेक्शन में आई पारदर्शिता, इस कारण लहरा रहा है तिरंगा

Commonwealth Games 2022: कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाड़ियों ने 61 मेडल जीते. (BCCI Women)

Commonwealth Games 2022: कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाड़ियों ने 61 मेडल जीते. (BCCI Women)

Commonwealth Games 2022: कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया था. 22 मेडल के साथ हमें 61 मेडल मिले थे. इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने खिलाड़ियों को अपने निवास पर आमंत्रित भी किया था.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सोमवार को कहा कि खिलाड़ियों के चयन में पारदर्शिता लाने और भाई-भतीजावाद खत्म होने का असर दिखाई दे रहा है. इसी का नतीजा है कि दुनिया भर में खेल के मैदानों में तिरंगा लहरा रहा है और राष्ट्रगान गाया जा रहा है. उन्होंने लाल किले की प्राचीर से अपने संबोधन में कहा कि हमने पिछले दिनों खेलों में देखा. ऐसा तो नहीं था कि पहले प्रतिभाएं नहीं थीं. पहले चयन भाई-भतीजावाद से गुजरता था. वे खेल के मैदान तक तो पहुंच जाते थे, लेकिन जीत-हार से उन्हें कोई लेना-देना नहीं था.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘जब पारदर्शिता आई, योग्यता के आधार पर खिलाड़ियों का चयन होने लगा तो आज दुनिया भर में खेल के मैदान में भारत का तिरंगा लहराता है तथा राष्ट्रगान गाया जाता है.’ उन्होंने कहा कि भाई-भाई भतीजावाद से मुक्ति मिलती है तभी ऐसा होता है. उन्होंने कहा कि यह सिर्फ शुरुआत है और भारत यहां थकने या रूकने वाला नहीं है. वह दिन दूर नहीं जब हम ढेरों गोल्ड मेडल जीतेंगे. भारत ने पिछले साल तोक्यो ओलंपिक में रिकॉर्ड 7 पदक मेडल जीते, जिनमें एक गोल्ड, 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज शामिल थे.

मोदी टूर्नामेंटों से पहले और बाद में भी खिलाड़ियों से बातचीत करते आए हैं. टोक्यो ओलंपिक और कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद उन्होंने भारतीय दल की मेजबानी की. पने संबोधन में मोदी ने खेल महासंघों समेत देश के सभी संस्थानों से भ्रष्टाचार और परिवारवाद खत्म करने की जरूरत पर बल दिया. उन्होंने कहा कि परिवारवाद का साया कई संस्थानों पर है, जिससे हमारी प्रतिभाओं और राष्ट्र की क्षमता को क्षति पहुंच रही है और भ्रष्टाचार बढ़ रहा है. हमें संस्थाओं में, खेलों में इसे खत्म करना है. इसके खिलाफ क्रांति की शुरुआत करनी है. यह हमारी सामाजिक जिम्मेदारी है. हमें पारदर्शिता चाहिए.

खिलाड़ियों के सहयोग और विकास में भारतीय खेल प्राधिकरण की टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना (टॉप्स) क्रांतिकारी साबित हुई है. साइ पूरे साल खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर नजर रखता है और टॉप्स में पारदर्शिता सुनिश्चित की जाती है. मालूम हो कि भारत ने पिछले दिनों बर्मिंघम काॅमनवेल्थ गेम्स में 22 गोल्ड मेडल के साथ 61 मेडल जीतने में सफल रहा था. वह मेडल टैली में ओवरऑल चौथे नंबर पर था. शूटिंग के गेम्स से हटने के बाद भी भारतीय खिलाड़ियों ने सराहनीय प्रदर्शन किया था.

कुश्ती में मिले 12 मेडल
भारतीय एथलीटों ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में सबसे अधिक मेडल कुश्ती और वेटलिफ्टिंग में जीते. गेम्स में 104 पुरुष और 103 महिला एथलीट्स ने हिस्सा लिया. पुरुषों ने 35 तो महिलाओं ने 26 मेडल जीते. कुश्ती में भारत ने कुल 12 पदक अपने नाम किए. पहलवानों ने 6 गोल्ड एक सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज मेडल जीते. कुल 12 पहलवान उतरे थे और सभी मेडल जीतने में सफल भी रहे.

IND vs ZIM: केएल राहुल के आने से एक और युवा को देनी होगी कुर्बानी, वेस्टइंडीज में किया था कमाल

वेटलिफ्टिंग में हमें 10 मेडल मिले. मीराबाई चानू, अचंता शेउली और जेरेमी लालरिनुंगा ने गोल्ड मेडल जीता. भारतीय बॉक्सर्स ने 7 मेडल जीते. इसमें 3 गोल्ड शामिल है. महिला बॉक्सर निखत जरी ने भी गोल्ड पर कब्जा किया. अगले कॉमनवेल्थ गेम्स 2026 में ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया में होने हैं. मौजूदा गेम्स में ऑस्ट्रेलिया 178 मेडल के साथ पहले जबकि मेजबान इंग्लैंड 176 मेडल के साथ दूसरे नंबर पर रहा. कनाडा को 92 मेडल मिले और वह चौथे नंबर पर रहा.

Tags: Commonwealth Games, Commonwealth Games 2022, Cwg, Narendra modi, Pm narendra modi

अगली ख़बर