Home /News /sports /

Tokyo Paralympics: एथलीट प्रवीण कुमार ने जीता सिल्वर, भारत को मिला टोक्यो पैरालंपिक में 11वां मेडल

Tokyo Paralympics: एथलीट प्रवीण कुमार ने जीता सिल्वर, भारत को मिला टोक्यो पैरालंपिक में 11वां मेडल

टोक्यो पैरालंपिक में भारत को मिला 11वां मेडल, प्रवीण कुमार ने जीता सिल्वर

टोक्यो पैरालंपिक में भारत को मिला 11वां मेडल, प्रवीण कुमार ने जीता सिल्वर

टोक्यो पैरालंपिक में पैरा एथलीट प्रवीण कुमार ने हाई जंप में सिल्वर मेडल जीता है. मौजूदा पैरालंपिक में यह भारत का 11वां पदक है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. टोक्यो पैरालंपिक में पैरा एथलीट प्रवीण कुमार ने हाई जंप में सिल्वर मेडल जीता है. 18 साल के प्रवीण ने 2.07 मीटर की कूद लगाई और दूसरे स्थान पर रहे. टोक्यो पैरालंपिक में यह भारत का 11वां पदक है. ग्रेट ब्रिटेन के ब्रूम-एडवर्ड्स जोनाथन (2.10 मीटर) ने गोल्ड मेडल जीता जबकि इस इवेंट का ब्रॉन्ज मेडल पोलैंड के लेपियाटो मासिएजो (2.04 मीटर) ने अपने नाम किया. टोक्यो पैरालंपिक 2020 में भारत अब तक 2 गोल्ड, 6 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज मेडल जीत चुका है. हाई जंप में ही भारत को 4 पदक मिले हैं. यह पैरालंपिक इतिहास में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. ससे पहले भारत ने 2016 में रियो पैरालंपिक में 2 गोल्ड सहित 4 मेडल जीते थे.

    हाई जंप 4 पैरा एथलीट ने जीते मेडल
    प्रवीण कुमार से पहले हाई जंप की टी63 स्पर्धा में भारत के मरियप्पन थंगावेलु ने सिल्वर, जबकि शरद कुमार ब्रॉन्ज मेडल जीता था. वहीं टी47 में निषाद कुमार ने एशियाई रिकॉर्ड के साथ सिल्वर मेडल अपनी झोली में डाला था.

    प्रवीण ने अपने लक्ष्य को पार किया
    दिल्ली के प्रवीण कुमार का एक पैर सामान्य व्यक्ति की तुलना में छोटा है. लेकिन उन्होंने अपनी इसी कमजोरी को ताकत बनाया और अलग-अलग प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेते हुए पैरालंपिक के मंच तक पहुंचे. प्रवीण ने टोक्यो पैरालंपिक में 2.05 मीटर की छलांग लगाने का लक्ष्य रखा था और उन्होंने 2.07 मीटर की छलांग लगाई. हालांकि, लॉकडाउन के कारण उनकी तैयारी प्रभावित हुई है लेकिन उनका मनोबल नहीं टूटा था.

    प्रवीण ने शारीरिक कमजोरी को अपनी ताकत बनाई
    प्रवीण स्कूल में वॉलीबॉल खेलते थे लेकिन उनकी जंप भी अच्छी थी. एक बार उन्होंने स्कूल में हाई जंप में में भाग लिया था और प्रदर्शन अच्छा रहा. इसके बाद उन्होंने इस खेल को संजीदगी से लेना शुरू किया और ट्रेनिंग की. एक इवेंट के दौरान एथलेटिक्स कोच डा. सत्यपाल से उनकी मुलाकात हुई और उन्होंने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेलने की सलाह दी.

    बस, इसके बाद प्रवीण ने हाई जंप में अपनी ताकत झोंक दी. प्रवीण ने जुलाई 2019 में जूनियर वर्ल्ड चैम्पियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था. इसी साल नवंबर में सीनियर वर्ल्ड चैम्पियनशिप में वो चौथे स्थान पर रहे थे. उन्होंने वर्ल्ड ग्रां प्री में गोल्ड जीता और हाई जंप में 2.05 मीटर का एशिया का रिकॉर्ड बनाया था.

    पीएम मोदी ने दी बधाई
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पदक जीतने वाले प्रवीण कुमार की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह उनकी कड़ी मेहनत और अद्वितीय समर्पण का नतीजा है. मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘पैरालंपिक में रजत पदक जीतने वाले प्रवीण कुमार पर गर्व है. यह पदक उनकी कड़ी मेहनत और अद्वितीय समर्पण का नतीजा है. उन्हें बधाई. भविष्य के लिये उन्हें शुभकामनायें. ’’

    Tags: Paralympics, Paralympics 2020, Sports news, Tokyo Paralympics, Tokyo Paralympics 2020

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर