Home /News /sports /

हॉकी में ओलंपिक पदक नहीं जीत पाने के लिए पिछली सरकारें दोषी, मेरठ में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

हॉकी में ओलंपिक पदक नहीं जीत पाने के लिए पिछली सरकारें दोषी, मेरठ में बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मेरठ में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया. (Twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मेरठ में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया. (Twitter)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने रविवार को मेरठ में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया. उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए पिछली सरकारों पर भी धावा बोला. पीएम मोदी ने कहा कि ओलंपिक में हॉकी में लंबे समय तक पदक नहीं जीत पाने के लिए पिछली सरकार दोषी हैं.

अधिक पढ़ें ...

    मेरठ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ओलंपिक (Olympic Games) में हॉकी में लंबे समय तक पदक नहीं जीत पाने के लिए पिछली सरकारों को दोषी ठहराया. पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि देश को खेलों के प्रति उदासीन रवैये के कारण दशकों तक पदक के लिए इंतजार करना पड़ा. भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 41 साल बाद पिछले साल टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में कांस्य पदक जीता. इससे पहले भारत ने 1980 के मॉस्को ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था.

    मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय (Major Dhyanchand Sports University) के शिलान्यास के बाद एक जनसभा में पीएम मोदी ने कहा, ‘पिछली सरकारों ने युवाओं की क्षमता को महत्व नहीं दिया. यह सरकार की जिम्मेदारी थी कि खेलों के प्रति समाज का नजरिया बदले लेकिन इसका उलटा हुआ और खेलों के प्रति रवैया उदासीन हो गया.’

    इसे भी देखें, जब PM मोदी ने महिला से कहा- बेटियों को पढ़ाओ वे आत्‍मविश्‍वास से भर जाएंगी

    उन्होंने कहा, ‘इसका नतीजा यह हुआ कि हॉकी में हमें पदक के लिए दशकों तक इंतजार करना पड़ा जबकि गुलामी के दौर में मेजर ध्यानचंद जैसे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों ने देश का परचम लहराया था.’ उन्होंने कहा, ‘विश्व हॉकी आम मैदानों की बजाय एस्ट्रो टर्फ पर होने लगी है. हम जब तक जागे, बहुत देर हो चुकी थी.’

    पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘प्रैक्टिस से लेकर टीम चयन तक , हर स्तर पर भाई भतीजावाद, जातिवाद और भ्रष्टाचार था. पक्षपात था और पारदर्शिता जरा भी नहीं थी. हर खेल की यही कहानी थी. पिछली सरकारें नई तकनीकों, बदलती मांगी और निखरते हुनर के लिए उत्कृष्ट ढांचा नहीं बना सकी जिसका असर हुआ कि हमें पदकों के लिए इंतजार करना पड़ा.’

    Tags: Hockey, Indian Hockey, Narendra modi, Olympics, PM Modi, Sports news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर