Home /News /sports /

मां-बाप को देख सायना ने सीखा बैडमिंटन, Asian Games में रचा इतिहास

मां-बाप को देख सायना ने सीखा बैडमिंटन, Asian Games में रचा इतिहास

सायना नेहवाल की फाइल फोटो

सायना नेहवाल की फाइल फोटो

साल 2006 में सायना अंडर -19 राष्ट्रीय चैंपियन बनीं थीं. उन्होंने बाद में एशियाई सैटेलाइट बैडमिंटन टूर्नामेंट जीतकर इतिहास बनाया.

    भारत की शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल ने एशियन गेम्स के महिला एकल सेमीफाइनल में चीनी ताइपे की दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताइ जू यिंग के खिलाफ लगातार 10वीं हार के बाद ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया. हालांकि सायना ने ब्रॉन्ज मेडल पाकर भी इतिहास रच दिया है. सायना, ताइ जू यिंग से भले हार गईं, लेकिन उन्होंने भारत के लिए बैडमिंटन में मेडल 36 साल का सूखा 36 मिनट में खत्म किया.

    पद्म श्री और राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित सायना नेहवाल का जन्म हरियाणा स्थित हिसार में 17 मार्च 1990 को हुआ. इनके माता-पिता भी बैडमिंटन के खिलाड़ी थे और उन्हें ही देखकर सायना ने बैडमिंटन के गुर सीखे. सायना इससे पहले ओलंपिक्स में महिला सिंगल बैडमिंटन मुकाबले में ब्रॉन्ज मेडल जीतकर देश की पहली महिला खिलाड़ी बनीं. वहीं साल 2006 में उन्होंने एशियाई सैटलाइट प्रतियोगिता भी जीती थी.

    साल 2006 में सायना अंडर -19 राष्ट्रीय चैंपियन बनीं थीं. उन्होंने बाद में एशियाई सैटेलाइट बैडमिंटन टूर्नामेंट जीतकर इतिहास बनाया. 2008 में उन्होंने बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड जूनियर चैम्पियनशिप, 2008 में स्वर्ण पदक हासिल किया. साल 2008 में ही आयोजित ग्रीष्म कालीन ओलंपिक्स में हिस्सा लेने वाली साइना क्वार्टरफाइनल तक ही पहुंच सकी थीं, लेकिन साल 2012 में उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया.

    यह भी पढ़ें: Asian Games 2018: हार के बावजूद सायना नेहवाल ने रचा इतिहास, जीता ब्रॉन्ज मेडल

    वहीं साल 2006 के राष्ट्रमंडल खेलों में 3 ब्रॉन्ड और साल 2010 के राष्ट्रमंडल खेलों में 1 स्वर्ण अपने नाम किया. वहीं राष्ट्रमंडल युवा खेल में साल 2004 में 2 सिल्वर और साल 2008 में 1 स्वर्ण अपने नाम किया.

    अब तक के करियर में सायना ने कुल 477 सिंगल खेले हैं जिसमें 339 में उन्हें जीत हासिल हुई वहीं वह 138 मैच हारीं. इसके साथ ही साल 2016 में उन्हंने 24 सिंगल खेले जिसमें से 217 में जीत हासिल की. वहीं अब तक 33 डबल्स खेल चुकीं सायना नौ बार जीती हैं. सायना को साल 2010 में अर्जुन अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है.

    यह भी पढ़ें:'मिलिट्री ट्रेनिंग' के दम पर चैंपियन खिलाड़ी बनीं पीवी सिंधु, जीत के लिए मोबाइल को नहीं लगाती हाथ!

    Tags: Asian Games 2018

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर