• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • Tokyo Olympics: पीवी सिंधु के डिंफेस पर ध्यान दे रहे हैं कोच, टोक्यो में जीत सकती हैं सोना

Tokyo Olympics: पीवी सिंधु के डिंफेस पर ध्यान दे रहे हैं कोच, टोक्यो में जीत सकती हैं सोना

Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक में पीवी सिंधु गोल्ड की मजबूत दावेदार हैं. (फोटो-PTI)

Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक में पीवी सिंधु गोल्ड की मजबूत दावेदार हैं. (फोटो-PTI)

Tokyo Olympics 2020: रियो ओलंपिक खेलों में बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने सिल्वर मेडल जीता था.कारोलिना मारिन के हटने के बाद ताइ जु ओलंपिक में सिंधु की सबसे कड़ी प्रतिद्वंद्वी होगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय बैडमिंटन टीम के विदेशी कोच पार्क ताइ सैंग ने कहा कि पीवी सिंधु (PV Sindhu) के इस साल के खराब प्रदर्शन का कारण उनका कमजोर डिफेंस रहा है. कोविड के कारण मिले विश्राम के दिनों में उन्हें टोक्यो ओलंपिक से पहले अपनी इस कमजोरी को दूर करने में मदद मिली. इस 42 वर्षीय कोच को 2019 में पुरुष टीम के लिये नियुक्त किया गया था लेकिन दो साल पहले बासेल विश्व चैंपियनशिप के बाद कोरियाई कोच किम जी ह्यून के जाने के बाद वह सिंधु के साथ भी काम कर रहे हैं.

    कोच पार्क ने से कहा, ‘‘सिंधू का डिफेंस उनके आक्रमण की तुलना में कमजोर है. इसलिए मैं ओलंपिक से पहले उनके डिफेंस पर ध्यान दे रहा हूं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘पिछले साल जब ओलंपिक स्थगित किये गये तो मुझे लगा कि यह उसके गति कौशल और नेट प्रशिक्षण पर काम करने का मौका है. अकीनी यामागुची, ताइ जु यिंग जैसी शीर्ष खिलाड़ी जानती हैं कि सिंधु का आक्रमण मजबूत है और इसलिए वे उसके शक्तिशाली स्मैश का इंतजार करते हैं. ’’

    पार्क ने कहा, ‘‘इसलिए हमने उनके रक्षण पर काम करने का प्रयास किया जो कि उनकी कमजोरी है. इसके लिये कोर्ट के पिछले हिस्से में उनके खेल में कुछ बदलाव करने थे जैसे कि अधिक ड्रॉप शॉट या हॉफ स्मैश खेलना.’’ सिंधु को कोविड-19 के कारण मिले अवकाश से वापसी के बाद खास सफलता नहीं मिली. वह थाईलैंड में पहली दो सुपर 1000 प्रतियोगिताओं में क्रमश: पहले दौर और क्वार्टर फाइनल से बाहर हो गयी थी. वह विश्व टूर फाइनल्स के भी नॉकआउट में नहीं पहुंच पायी थी. इसके बाद भी उनका प्रदर्शन अपेक्षित नहीं रहा.

    पार्क ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि जब वह थाईलैंड ओपन में हारी तो बहुत लोगों को लग रहा था कि उसकी शारीरिक क्षमता सही नहीं है लेकिन ऐसा नहीं था. वह स्विस ओपन के फाइनल में पहुंची, ऑल इंग्लैंड के सेमीफाइनल में पहुंची. फिटनेस कोई समस्या नहीं थी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘एकमात्र समस्या उनके डिफेंस को लेकर थी लेकिन अब उन्होंने इस विभाग में भी काफी सुधार कर दिया है. ’’ कारोलिना मारिन के चोट के कारण हटने के बाद पार्क को लगता है कि ताइ जु ओलंपिक में सिंधू की सबसे कड़ी प्रतिद्वंद्वी होगी.

    यह भी पढ़ें:

    Tokyo Olympics: भारत की 15 सदस्यीय शूटिंग टीम टोक्यो पहुंची, सौरभ-मनु गोल्ड के मजबूत दावेदार

    Tokyo Olympics: टोक्यो ओलंपिक पर कोरोना का अटैक, खेल गांव में मिला कोविड-19 का पहला केस

    उन्होंने कहा, ‘‘ताइ जु खेलों में सिंधू की नंबर एक प्रतिद्वंद्वी होगी. उनका रतचानोक इंतानोन के खिलाफ भी अच्छा रिकार्ड नहीं है. ये दोनों अपनी प्रतिद्वंद्वी को कोर्ट पर दौड़ाती हैं। वे तकनीकी तौर पर मजबूत हैं.’’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज