ओलंपियन शूटर अंजुम मुद्गिल ने कहा- भारत में अभ्यास करना सुरक्षित नहीं, क्रोएशिया बेहतर

अंजुम मुदगिल वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर जीत चुकी हैं. (Anjum Moudgil Twitter)

अंजुम मुदगिल वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर जीत चुकी हैं. (Anjum Moudgil Twitter)

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo olympic) की तैयारी के लिए भारतीय खिलाड़ी 11 मई को जबरेब जाएंगे. यहीं से खिलाड़ी टोक्यो के लिए रवाना होंगे. ओलंपिक गेम्स 23 जुलाई से होने हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक (Tokyo olympic) जाने वाली भारत की राइफल निशानेबाज अंजुम मुद्गिल (Anjum Moudgil) का कहना है कि कोरोना संकट से जूझ रहे भारत की बजाय क्रोएिशया में खेलों की तैयारी करना सुरक्षित होगा. ओलंपिक जाने वाला भारत का 15 सदस्यीय दल 11 मई को जगरेब रवाना होगा, जहां से सीधे टोक्यो चला जाएगा. टोक्यो ओलंपिक 23 जुलाई से शुरू होंगे. क्रोएशिया में निशानेबाज 20 मई से 6 जून तक यूरोपीय चैंपियनशिप और 22 जून से 3 जुलाई तक वर्ल्ड कप में भाग लेंगे.

अंजुम मुद्गिल ने भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) द्वारा आयोजित वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘भारत में अभ्यास करना सही नहीं है. मेरे पास 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशंस के लिए निजी अभ्यास रेंज नहीं है. मुझे दिल्ली या पुणे जाना होगा, जो मौजूदा हालात में सुरक्षित नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘क्रोएशिया मौजूदा हालात में भारत से कहीं बेहतर है और टीम के साथ रहने से भी आत्मविश्वास आता है. घर से तीन महीने दूर रहने में कोई परेशानी नहीं है.

लंबे ब्रेक के बाद अभ्यास से आत्मविश्वास बढ़ेगा

उन्होंने बताया कि भारतीय टीम क्रोएिशया पहुंचने के बाद सात दिन क्वारंटाइन में रहेगी. टीम 17 जुलाई को टोक्यो जाएगी. चंडीगढ़ की इस निशानेबाज ने कहा, ‘साई ने हमारे लिए चार्टर्ड प्लेन का इंतजाम किया है और वहां बायो बबल भी बनाया है.’ मुद्गिल ने कहा कि लंबे कोरोना ब्रेक के बाद एक टीम के रूप में अभ्यास करने से निशानेबाजों का आत्मविश्वास बढ़ेगा.
यह भी पढ़ें: World Test Championship: टीम इंडिया की प्लेइंग-11 तय! सीनियर गेंदबाज का खेलना मुश्किल

8 पुरुष और 7 महिला खिलाड़ियों ने क्वालिफाई किया है

अंजुम मुद्गिल ने कोरोना वायरस के टीके के दोनों डोज ले लिए हैं और सभी से टीके लगवाने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा, ‘मैंने 31 मार्च को पहला डोज लिया, जिसका इंतजाम पंजाब पुलिस ने किया था. दूसरा डोज गुरुवार को लिया, जिसकी व्यवस्था एनआरएआई ने की थी.’ इस बार ओलिंपिक में निशानेबाजों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है. इस बार सबसे ज्यादा 15 शूटर्स ने ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया है. इसमें 8 पुरुष और 7 महिला खिलाड़ी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज