Home /News /sports /

सौरव गांगुली की कप्तानी में किया डेब्यू, आज वही बना उनके फेवरेट के लिए खतरा

सौरव गांगुली की कप्तानी में किया डेब्यू, आज वही बना उनके फेवरेट के लिए खतरा

रिद्धिमान साहा अचानक लगी चोट से पहले टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और फिलहाल भारतीय टीम से बाहर हैं. इसके बावजूद साहा को उम्मीद है कि वह अच्छे घरेलू प्रदर्शन के आधार पर वापसी करेंगे.

रिद्धिमान साहा अचानक लगी चोट से पहले टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और फिलहाल भारतीय टीम से बाहर हैं. इसके बावजूद साहा को उम्मीद है कि वह अच्छे घरेलू प्रदर्शन के आधार पर वापसी करेंगे.

रिद्धिमान साहा अचानक लगी चोट से पहले टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और फिलहाल भारतीय टीम से बाहर हैं. इसके बावजूद साहा को उम्मीद है कि वह अच्छे घरेलू प्रदर्शन के आधार पर वापसी करेंगे.

  • Bhasha
  • Last Updated :
    रिद्धिमान साहा अचानक लगी चोट से पहले टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और फिलहाल भारतीय टीम से बाहर हैं. इसके बावजूद साहा को उम्मीद है कि वह अच्छे घरेलू प्रदर्शन के आधार पर वापसी करेंगे.

    रिद्धिमान जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण इंग्लैंड के खिलाफ पिछले तीन टेस्ट मैच नहीं खेल पाए थे. उनकी जगह टीम में शामिल किए गए पार्थिव पटेल ने इस मौके का पूरा फायदा उठाते हुए दो अर्धशतक जड़े.

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के फेवरेट क्रिकेटर साहा ने नई दिल्ली में कहा, ‘टेस्ट सीरीज पर कोई भी बाहर नहीं होना चाहता. यह स्वाभाविक है कि अगर कोई चोट के कारण बाहर होता होता है तो वह काफी निराश होगा. अब पार्थिव आए और उन्होंने अच्छा किया, लेकिन मुझे असुरक्षित होने का कोई कारण नहीं दिखता. ज्यादा से ज्यादा बुरा क्या होगा. मुझे अगली टेस्ट सीरीज के लिए नहीं चुना जाएगा. मेरा काम क्या है? चोट के बाद घरेलू क्रिकेट में अच्छी वापसी करना और बेहतरीन प्रदर्शन करना जो मेरे हाथ में है.’

    Photo: PTI
    Photo: PTI


    गौरतलब है कि पार्थिव पटेल ने सौरव गांगुली की कप्तानी में इंग्लैंड के खिलाफ साल 2002 में पहला टेस्ट मैच खेला था. उस मैच में पटेल ने पहली पारी में जीरो और दूसरी पारी में नाबाद 19 रन बनाए थे. वह टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया था.

    यह पूछने पर कि क्या यह आसान होगा तो उन्होंने जवाब दिया, ‘कम से कम मेरे लिए तो यह सरल है. मैंने कभी भी सफलता को सिर चढ़कर नहीं बोलने दिया और न ही असफलता से मेरे ऊपर कोई असर पड़ता है. मेरा मानना है कि मैं अब तक एक संतुलन बनाकर चल रहा हूं. मैं बचपन से ही ऐसा हूं. मैं चीजों के बारे में ज्यादा भावुक नहीं होता. आपको जीवन को सरल रखना चाहिए.’

    यह पूछने पर कि क्या रिद्धिमान ने ये चीजें महेंद्र सिंह धोनी से भारतीय टीम और चेन्नई सुपर किंग्स के ड्रेसिंग रूम में सीखी है तो उन्होंने कहा, ‘मैं ऐसा इसलिए नहीं हूं कि मैंने ये चीजें धोनी से सीखी हैं बल्कि मैं ऐसा इसलिए हूं क्योंकि मैं रिद्धिमान हूं. मैं आपको एक बात बताऊं कि जीवन के प्रति आपका रवैया आपका खुद का होता है. हर कोई अपना खुद का कोच होता है. ये चीजें आप किसी से सीख नहीं सकते.’

    Photo: PTI
    Photo: PTI


    टूर्नामेंट में वापसी के बारे में बात करते हुए रिद्धिमान ने कहा कि उनका रिहैबिलिटेशन पूरा हो गया और वह इस हफ्ते के अंत में अपने क्लब की टीम मोहन बागान की ओर से खेलेंगे.

    उन्होंने कहा, ‘मैंने पांच दिन पहले एनसीए में अपना रिहैबिलिटेशन कार्यक्रम पूरा किया. मैं प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना शुरू कर सकता हूं. अगला बड़ा टूर्नामेंट बंगाल के लिए सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी (राष्ट्रीय टी-20 चैम्पियनशिप) है. अब मैं कुछ मैच अपने क्लब की टीम मोहन बागान के लिए खेलूंगा.'

    Tags: Mahendra Singh Dhoni, Parthiv patel

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर