पिता के सपने को पूरा करने के लिए सुप्रीति बनी धावक, राष्ट्रीय क्रॉस कंट्री में जीता गोल्ड

सुप्रीति ने गोल्ड मेडल जीता है (News 18 Hindi)

सुप्रीति ने गोल्ड मेडल जीता है (News 18 Hindi)

खेलों की दुनिया में झारखंड की बेटियां राष्ट्रीय स्तर पर लगातार बेहतर प्रदर्शन करती नजर आ रही हैं. चंडीगढ़ में आयोजित 55वीं राष्ट्रीय क्रॉस कंट्री में झारखंड की सुप्रीति कच्छप ने स्वर्ण पदक जीता.

  • Last Updated: February 22, 2021, 11:20 AM IST
  • Share this:

रांची. खेलों की दुनिया में झारखंड की बेटियां राष्ट्रीय स्तर पर लगातार बेहतर प्रदर्शन करती नजर आ रही हैं. चंडीगढ़ में आयोजित 55वीं राष्ट्रीय क्रॉस कंट्री में झारखंड की सुप्रीति कच्छप ने गोल्ड मेडल जीता. लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रही सुप्रीति का दो माह के अंदर यह 5वां राष्ट्रीय पदक है.

इससे पहले सुप्रीति ने फेडरेशन कप में दो ब्रॉन्ज, जू नेशनल में 1 सिल्वर, 1 ब्रॉन्ज और अब चंडीगढ़ में राष्ट्रीय क्रॉस कंट्री में उसने यह गोल्ड मेडल जीता है. भारतीय एथलेटिक्स संघ एवं पंजाब एथलेटिक्स संघ के संयुक्त तत्वाधान में 21 फरवरी को चंडीगढ़  में आयोजित 55वीं राष्ट्रीय क्रॉस कंट्री चैंपियनशिप में झारखंड के गुमला की रहने वाली सुप्रीति कच्छप ने बालिका अंडर 18 आयु वर्ग में शानदार दौड़ लगाई.

Sports News Today Live Updates: इंग्लैंड के खिलाफ टी20 में नए चेहरों को मौका

सुप्रीति ने 4 किलोमीटर की दौड़ के लिए 14 मिनट 40 सेकंड का समय लिया और बेहतरीन टाइमिंग के साथ गोल्ड मेडलअपने नाम किया. वहीं, तमिलनाडु की आकांक्षा को सिल्वर और राजस्थान की उर्मिला को ब्रॉन्ज मेडल मिला.
सुप्रीति ने खेलो इंडिया में 3000 मीटर की रेस में भी नेशनल रिकॉर्ड बनाया है. हालांकि, सुप्रीति की इस सफलता को देखने के लिए पिता आज जीवित नहीं है. लेकिन इस बेटी ने अपने पिता का सपना पूरा किया है. सुप्रीति की मां एक चुतर्थवर्गीय कर्मचारी हैं.

Australian Open: नोवाक जोकोविच रिकॉर्ड 9वीं बार बने चैंपियन, दूसरी बार बनाई खिताबी हैट्रिक

सुप्रीति की मां बालमति देवी ने कहा कि उनकी बेटी ने न सिर्फ गुमला का बल्कि पूरे झारखंड का नाम रोशन किया है. उन्होंने कहा कि एथलीट के तौर पर धावक बनना उसका सपना था, जो उसने पूरा किया है.  सुप्रीति की इस उपलब्धि पर झारखंड एथलेटिक्स एसोसिएशन के झारखण्ड एथलेटिक्स संघ के  अध्यक्ष सह भारतीय एथलेटिक्स संघ के कोषाध्यक्ष डॉ मधुकांत पाठक, सचिव सी.डी. सिंह समेत तमाम लोगों ने उसे बधाई एवं शुभकामनाएं दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज