काफी दिलचस्प है रॉबिन उथप्पा की प्रेमकहानी, जानिए क्यों एक ही लड़की से की दो बार शादी

रॉबिन उथप्पा और शीतल गौतम ने दो तरह से शादी की थी
रॉबिन उथप्पा और शीतल गौतम ने दो तरह से शादी की थी

रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) ईसाई हैं जबकि शीतल गौतम (Sheetal Gautam) हिंदु हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 27, 2020, 12:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) लंबे समय से भारतीय टीम बाहर हैं लेकिन आईपीएल में उनका बल्ला अब भी रन बरसाता है. रॉबिन इन दिनों लॉकडाउन में अपने परिवार के साथ समय बिता रहे हैं. रॉबिन ने पूर्व टेनिस खिलाड़ी शीतल गौतम (Sheetal Gautam) से शादी की है और दोनों का नील नोलन उथप्पा नाम का बेटा है. रॉबिन की प्रेमकहानी काफी दिलचस्प है. एक दूसरे को डेट करने के आठ साल बाद शादी की थी इसकी वजह थी दोनों के धर्म.

2009 में हुई पहली मुलाकात
साल 2007 में हुए टी20 वर्ल्ड कप ने रॉबिन उथप्पा को असल पहचान दिलाई. उन्होंने इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया था. हालांकि उनके निजी में तबतक कुछ खास नहीं चल रहा था औऱ वह पूरा ध्यान क्रिकेट पर लगा रहे थे. इसके दो बाद उनकी पहली मुलाकात शीतल से हुई. शीतल का जन्म 1987 में हुआ है और बचपन से ही शीतल को टेनिस खेलना बेहद पसंद हैं. शीतल ने स्टेट लेवल पर कई मैच खेले हैं. शीतल हिंदु हैं वहीं रॉबिन उथप्पा ईसाई हैं, दोनों की पहली मुलाकात एक पार्टी में साल 2009 में हुई थी. दोनों के एक कॉमन दोस्त ने जान-पहचान करवाई. रॉबिन को पहली नजर में शीतल से प्यार हो गया था. दोनों एक-दूसरे से मिलते रहे और उथप्पा (Robin Uthappa) ने अपने दिल की बात शीतल से कह दी.

2014 में हुआ रिश्ते का खुलासा
शीतल शादी से पहले कभी भी रोबिन उथप्पा (Robin Uthappa) का मैच देखने मैदान पर नहीं गयी. दोनों के प्यार का खुलासा तब हुआ जब 2014 में रोबिन ने शीतल के बर्थडे की फोटोज सोशल मीडिया पर शेयर की थी. दोनों इस रिश्ते को शादी के मुकाम तक पहुंचाना चाहते थे. हालांकि दोनों के अलग धर्म से होने के कारण काफी मुश्किलें आईं. परिवार को समझाने में समय लगा. इस बीच परिवार से बात किए बगैर रॉबिन ने शीतल को प्रपोज कर दिया था.



दो बार अलग-अलग रिती-रिवाजों से की शादी
रॉबिन अपने घरेलू सीजन में काफी व्यस्त रहते थे ऐसे में उन्होंने समय निकालकर घूमने का प्लान बनाया. वहीं पर उन्होंने शीतल को शादी के लिए प्रपोज किया. शीतल को अंदाजा नहीं था और ऐसे में वह कंन्फ्यूज हो गईं और उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि उन्हें क्या करना है.

पिता की मौत के बाद जूते-टीशर्ट खरीदने को पैसे नहीं थे,आज भारत का बेस्ट गेंदबाज

लॉकडाउन की वजह से बदल जाएगी टीम इंडिया की जर्सी, 14 साल बाद हटेगा ये निशान!

हालांकि उन्होंने बिना इंतजार किए हां कह दी. दोनों ने अपने परिवार को समझाया और आखिर सगाई कर ली. अपने परिवार वालों को खुश करने के दोनों ने दो तरह के रिती रिवाजों से शादी थी. उन्होंने तीन मार्च 2016 को पहले ईसाई धर्म के मुताबिक शादी की और उसी शाम शानदार रिसेप्शन रखा. वहीं इसके कुछ दिन बाद 11 मार्च को उन्होंने हिंदु धर्मों के रिती रिवाजों के हिसाब से शादी की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज