Home /News /sports /

AITA करा सकता है इस्लामाबाद में नए सिरे से सुरक्षा जांच, पर स्थान बदलने पर नहीं की बात

AITA करा सकता है इस्लामाबाद में नए सिरे से सुरक्षा जांच, पर स्थान बदलने पर नहीं की बात

14 और 15 सितंबर को इस्लामाबाद में होने है लेकिन पाकिस्तान के साथ राजनीतिक तनाव के चलते भारत का खेलना अनिश्चित माना जा रहा है.

14 और 15 सितंबर को इस्लामाबाद में होने है लेकिन पाकिस्तान के साथ राजनीतिक तनाव के चलते भारत का खेलना अनिश्चित माना जा रहा है.

14 और 15 सितंबर को इस्लामाबाद में होने है लेकिन पाकिस्तान के साथ राजनीतिक तनाव के चलते भारत का खेलना अनिश्चित माना जा रहा है.

    भारत के राष्ट्रीय टेनिस महासंघ ने पाकिस्तान के खिलाफ इस्लामाबाद में होने वाले डेविस कप मुकाबले का स्थान बदलने की मांग नहीं करने का फैसला किया लेकिन ताजा राजनयिक तनाव के मद्देनजर आईटीएफ से नए सिरे से सुरक्षा जांच करवाने का अनुरोध किया. डेविस कप मुकाबले 14 और 15 सितंबर को इस्लामाबाद में होने है लेकिन पाकिस्तान के साथ राजनीतिक तनाव के चलते भारत का खेलना अनिश्चित माना जा रहा है.

    जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के केंद्र सरकार के फैसले के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ राजनयिक संबंध कम कर लिए हैं. एआईटीए सचिव हिरण्यमय चटर्जी ने आईटीएफ के कार्यकारी निदेशक जस्टिन अलबर्ट को लिखे ईमेल में कहा ,‘हमें पता है कि राजनयिक संबंध बिगड़ने से पहले आपने सुरक्षा जांच कराई थी. आईटीएफ अपनी संतुष्टि और संबंधित पक्षों की सुरक्षा सुनिश्चित कराने के लिये एक और सुरक्षा जांच करा सकता है.’

    भारत को पाकिस्तान के खिलाफ मैच डेविस कप में खेलने के लिए पाकिस्तान जाना था
    भारत को पाकिस्तान के खिलाफ मैच डेविस कप में खेलने के लिए पाकिस्तान जाना था


    उन्होंने पहले कहा था कि एआईटीए यह मुकाबला तटस्थ स्थान पर कराने की मांग कर सकता है. उन्होंने इस पत्र में हालांकि लिखा ,‘एआईटीए सुरक्षा को लेकर आपकी आखिरी मंजूरी का इंतजार कर रहा है. टीम के आगमन से लेकर प्रस्थान तक का विस्तृत सुरक्षा कार्यक्रम का ब्यौरा चाहिये ताकि हम खिलाड़ियों के वीजा के लिये आवेदन कर सके.’ एआईटीए ने कहा कि वह आईटीएफ के निर्देशों का पालन करेगा.

    चटर्जी ने कहा ,‘अगर आईटीएफ पाकिस्तान टेनिस महासंघ से बात करने के बाद महसूस करता है कि सुरक्षा की सौ फीसदी गारंटी नहीं है तो वह आगे के लिये निर्देश दे सकता है. एआईटीए उसका अनुसरण करेगा.’ इससे पहले खेल मंत्री कीरण रिजीजू ने यह कहकर मामले में दखल देने से इनकार कर दिया था कि डेविस कप द्विपक्षीय टूर्नामेंट नहीं है.

    पढ़ाई की वजह से हिमा दास को बड़ा नुकसान, ओलिंपिक में भुगतना पड़ेगा खामियाजा

    इंडिया का नाम रोशन करने वाले चिराग-सात्विक की कहानी, एक 'मिनी गूगल' तो दूसरा आलू-चावल का शौकीन

    Tags: Davis cup, India pakistan, India Vs Pakistan, Sports news, Tennis

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर