लाइव टीवी

पाकिस्तान से मेजबानी छीनने में तो सफल रहा भारत, मगर अब खड़ी हो गई एक और बड़ी समस्या

भाषा
Updated: November 5, 2019, 9:17 PM IST
पाकिस्तान से मेजबानी छीनने में तो सफल रहा भारत, मगर अब खड़ी हो गई एक और बड़ी समस्या
पाकिस्तान जाने के लिए पहले रोहन बोपन्ना सहित कई शीर्ष खिलाड़ियों ने मना कर दिया था

भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच पहले डेविस कप (Davis Cup) का मुकाबला इस्लामाबाद में होने वाला था, लेकिन भारत की मांग के बाद इसका स्‍थान बदल दिया गया

  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले डेविस कप (Davis Cup) मुकाबले के स्थान बदलने से अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) को राहत मिली है, लेकिन उसके अधिकारियों का टीम चयन को लेकर सरदर्द बढ़ गया है. अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) ने 29 और 30 नवंबर को होने वाले इस मुकाबले का आयोजन इस्लामाबाद के बजाय किसी तटस्थ स्थान पर कराने का फैसला किया है. पहले शीर्ष खिलाड़ी पाकिस्तान जाने के लिए तैयार नहीं थे, लेकिन अब वे इस मुकाबले में खेलने के लिए तैयार हैं.
एआईटीए के अधिकारियों के बीच मंगलवार को दिन भर इस पर चर्चा हुई कि क्या शीर्ष खिलाड़ियों को उपलब्धता के बारे में पूछना चाहिए या नहीं, क्योंकि ऐसा करने पर उन्हें उन खिलाड़ियों को बाहर करना होगा जिन्होंने सुरक्षा चिंताओं के बावजूद पाकिस्तान दौरा करने में दिलचस्पी दिखाई थीं.




पाकिस्तान जाने के लिए तैयार हुए खिलाड़ी मुश्किल में
टीम के नए गैर खिलाड़ी कप्तान रोहित राजपाल मजबूत टीम चाहते हैं, लेकिन वह यह भी नहीं चाहते कि पाकिस्तान का दौरा करने के लिए हामी भरने वाले खिलाड़ियों को बाहर किया जाए. एक खबर के अनुसार राजपाल सभी का साथ लेकर चलने के पक्ष में हैं.
दिग्गज लिएंडर पेस (Leander Paes), साकेत मयनेनी, जीवन नेदुचेझियन और एन श्रीराम बालाजी ने खुद को चयन के लिए उपलब्ध रखा था. अगर शीर्ष खिलाड़ी रोहन बोपन्ना (Rohan Bopanna) चयन की दौड़ में शामिल होते तो पेस को छोड़कर कोई भी अन्य खिलाड़ी अपनी कम रैकिंग के कारण टीम में जगह नहीं बना पाएगा.


Loading...

Leander Paes
लिएंडर पेस ने खुद को चयन के लिए उपलब्ध रखा था


रैंकिंग को रखा जाता है ध्यान
पेस की विश्व रैंकिंग 96 है जबकि पाकिस्तान दौरे से इंकार करने वाले बोपन्ना 39वें नंबर पर है. दिविज शरण (47) इस मुकाबले से विश्राम ले रहे हैं और अगर पेस ओर बोपन्ना को विशेषज्ञ जोड़ी के रूप में चुना जाता है तो फिर जीवन (110) और बालाजी (137) को बाहर रहना पड़ेगा.
एआईटीए की चयनसमिति डेविस कप  (Davis Cup) टीम चुनते समय मुख्य रूप से रैकिंग को ध्यान में रखती है और अगर बोपन्ना खेलने के लिए हामी भरते हैं तो उन्हें नजरअंदाज करना मुश्किल होगा.

नागल और रामनाथन तोड़ सकते हैं मयनेनी का सपना
एकल में मयनेनी (266) और अर्जुन खाडे (552) ने पाकिस्तान दौरा करने की हामी भरी थी, लेकिन उनकी रैंकिंग सुमित नागल (129), रामकुमार रामनाथन (199) और शशि कुमार मुकुंद (248) से कम है. अगर नागल और रामकुमार को चुना जाता है तो मयनेनी और खाड़े को बाहर होना पड़ेगा.
एक अधिकारी ने कहा कि यह अजीब स्थिति है. पाकिस्तान (Pakistan) का दौरा करने की हामी भरने वाले खिलाड़ियों को बाहर करना भी अच्छा नहीं है. आप उन्हें कैसे बाहर कर सकते हैं, लेकिन अगर शीर्ष खिलाड़ी उपलब्ध हैं तो आपको मजबूत टीम उतारनी चाहिए.

वनडे क्रिकेट में नई जान डाल देंगे सचिन तेंदुलकर के नियम, ये है नया फॉर्मेट

Aus vs Pak: स्टीव स्मिथ की दमदार पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने हासिल की जीत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए टेनिस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 9:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...