लाइव टीवी

बड़ी खबर : 30 साल के करियर के बाद 46 साल के लिएंडर पेस अब लेंगे संन्यास!

पीटीआई
Updated: December 3, 2019, 11:55 AM IST
बड़ी खबर : 30 साल के करियर के बाद 46 साल के लिएंडर पेस अब लेंगे संन्यास!
लिएंडर पेस की गिनती दुनिया के बेहतरीन डबल्स खिलाड़ियों में की जाती है. (फाइल फोटो)

दुनिया के बेहतरीन डबल्स खिलाड़ियों में से एक भारतीय टेनिस स्टार (Tennis Star) लिएंडर पेस (Leander Paes) बोले-मैं लंबे समय तक नहीं खेल सकूंगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के दिग्गज टेनिस स्टार लिएंडर पेस की गिनती दुनिया के सबसे जुनूनी एथलीटों में की जाती है. 46 साल की उम्र में भी ये दिग्गज टेनिस कोर्ट पर जलवे बिखेर रहा है. मगर 30 साल के अपने सुनहरे करियर के बाद लिएंडर पेस ने अब संन्यास के संकेत दिए हैं. पेस ने कहा कि उन्होंने अपने करियर को जी ‌लिया है और अब वह खुद को और एक एक साल के लिए खेलते हुए नहीं देख रहे हैं. हाल ही में पेस पाकिस्तान के खिलाफ हुए डेविस कप में भारतीय दल का हिस्सा थे. डेविस कप के लिए कई भारतीय खिलाड़ियों द्वारा अनुपलब्धता जताने के बाद लिएंडर पेस को टीम में चुना गया था.

देश के लिए खेलते हुए अपना करियर जी लिया
पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ 46 साल के लिएंडर पेस (Leander Paes) ने अपना डबल्स मुकाबला जीतकर रिकॉर्ड और बेहतर किया. वह डेविस कप में 44 डबल्स मुकाबले जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं. पेस ने अपने पार्टनर जीवन नेदुनचेझियान के साथ मिलकर ये मुकाबला जीता. पेस ने कहा, 'मेरा अनुभव अब तक मेरे काफी काम आया है, लेकिन अब आगे की ओर देखें तो टीम के लिए अच्छा यही है कि मैं और एक साल तक न खेलूं. मैं अब अधिक समय तक नहीं खेल सकूंगा. डेविस कप के साथ मेरा जुड़ाव 30 साल से रहा है. देश के लिए खेलते हुए मैंने अपना करियर जी लिया है.' हालांकि उन्होंने जरूरत पड़ने पर देश के लिए हमेशा उपलब्‍ध रहने की बात कही. उन्होंने कहा, 'जब भी देश को किसी मुकाबले के लिए मेरी जरूरत होगी, मैं उपलब्‍ध रहूंगा.'

tennis, leander paes, paes retirement, paes records, टेनिस, लिएंडर पेस, लिएंडर पेस रिटायरमेंट, पेस रिकॉर्ड
लिएंडर पेस ने अपना पिछला मुकाबला पाकिस्तान के खिलाफ डेविस कप में खेला था. (फाइल फोटो)


युवा पीढ़ी को तराशना अहम
अटलांटा ओलिंपिक (Atlanta Olympic) में भारत को कांस्य पदक दिलाने वाले लिएंडर पेस (Leander Paes) ने कहा, 'अब युवा टीम को तराशना भारतीय टेनिस (Indian Tennis) का मुख्य लक्ष्य होना चाहिए. ऐसे में जबकि युवा पीढ़ी आगे आ रही है, तो मुझे भी आगे बढ़ जाना चाहिए. उन्हें तराशना अहम है.' 18 ग्रैंडस्लैम जीतने वाले लिएंडर पेस ने कहा कि भविष्य में वे युवा टेनिस खिलाड़ियों को कोचिंग देने की योजना पर काम करने के बारे में सोच रहे हैं. उन्होंने कहा, कि ये मेरा सपना ‌था. मैं युवाओं को ट्रेनिंग दूंगा ताकि वो ओलिंपिक पदक (Olympic Medals) और विंबलडन जीत सकें. पेस के अनुसार, 'अब मैं अपने 2020 के सीजन की ओर देख रहा हूं. मैंने हाल ही में अपने करियर के 30 साल पूरे किए हैं और इस समय के बारे में बहुत सोचा है. अब मैं अपनी टीम के साथ इस बात का आकलन करूंगा कि ये नया सीजन मेरे लिए किस दिशा में बढ़ेगा.'

tennis, leander paes, paes retirement, paes records, टेनिस, लिएंडर पेस, लिएंडर पेस रिटायरमेंट, पेस रिकॉर्ड
लिएंडर पेस के नाम 18 ग्रैंडस्लैम खिताब हैं. (फाइल फोटो)
पाकिस्तान के खिलाफ इसलिए खेले
लिएंडर पेस (Leander Paes) ने कहा, 'डेविस कप (Davis Cup) में मेरे खेलने की वजह ये थी कि मैं टीम को रेलीगेट होते हुए नहीं देखना चाहता था. अगर हम तीन-चार साल के लिए जोनल ग्रुप में रेलीगेट हो जाते है तो ऊपर आने के लिए फिर से लड़ाई लड़नी पड़ती.' वहीं, टीम के कोच जीशान अली (Zeeshan Ali) और गैर खिलाड़ी कप्तान रोहित राजपाल ने पेस की जमकर प्रशंसा की है. जीशान ने कहा, 'लिएंडर पेस के पास अच्छा खासा अनुभव है. वह कई डेविस कप मुकाबले खेले हैं और अधिकतर में जीत दर्ज की है. इस बात के कोई मायने नहीं है कि हम कहां खेल रहे हैं, सभी पेस की ओर ही देखते हैं.'

BCCI दफ्तर में फोन कर दी जाती है गालियां और धमकियां, धोनी को लेकर होती है ये डिमांड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य खेल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 11:22 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर