Thailand Open Super 1000 : साइराज और अश्विन पोनप्पा की जोड़ी की हार, भारतीय चुनौती खत्म

साइराज और अश्विन पोनप्पा की जोड़ी की हार (PC-Satwiksairaj Rankireddy Instagram)

साइराज और अश्विन पोनप्पा की जोड़ी की हार (PC-Satwiksairaj Rankireddy Instagram)

सात्विक साइराज रंकीरेड्डी (Satwiksairaj Rankireddy) और अश्विनी पोनप्पा (Ashwini ponappa) की भारतीय मिश्रित युगल जोड़ी ने थाईलैंड ओपन सुपर 1000 टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में देचापोल पुआवारानुक्रेोह और सपसिरी टाएराटानाचाई से गंवाया मैच

  • Share this:
नई दिल्ली. थाईलैंड ओपन सुपर 1000 टूर्नामेंट (Thailand Open Super 1000 Badminton) के सेमीफाइनल में देचापोल पुआवारानुक्रेोह और सपसिरी टाएराटानाचाई की शीर्ष वरीय जोड़ी ने भारत की सात्विक साइराज रंकीरेड्डी (Satwiksairaj Rankireddy) और अश्विनी पोनप्पा (Ashwini ponappa) की जोड़ी को हरा दिया. दुनिया की तीसरे नंबर की थाई जोड़ी के खिलाफ सात्विक और अश्विनी (36वीं रैंकिंग) ने शानदार जज्बा दिखाया और शुरूआती गेम काफी करीब से गंवाने के बाद बेहतरीन वापसी की, लेकिन अंत में देचापोल और सपसिरी की जोड़ी ने भारतीयों को 57 मिनट तक चले सेमीफाइनल में 22-20 18-21 21-12 से हरा दिया. सात्विक और अश्विनी पिछले कुछ हफ्तों में ही एक साथ अभ्यास कर पाये थे और शुक्रवार को यह जोड़ी बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली पहली भारतीय मिश्रित युगल जोड़ी बन गयी थी.

इससे पहले सात्विक और चिराग शेट्टी की जोड़ी का सफर पुरूष युगल के कड़े सेमीफाइनल में हारकर समाप्त हो गया. दुनिया की दसवें नंबर की जोड़ी को नौवें नंबर की मलेशियाई जोड़ी आरोन चिया और सो वूइ यिक ने 35 मिनट में 21-18, 21 -18 से हराया. तोक्यो ओलंपिक में पदक के दावेदार सात्विक और चिराग की जोड़ी ने 2019 में थाईलैंड में पहला सुपर 500 खिताब जीता था और फ्रेंच ओपन सुपर 750 टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंचे. सुपर 1000 टूर्नामेंट में दोनों 2018 और 2019 में खेले लेकिन पहली बार सेमीफाइनल में पहुंचे थे. सात्विक और अश्विनी मिश्रित युगल में थाईलैंड की जोड़ी के खिलाफ दो बार खेल चुके हैं लेकिन एक भी गेम नहीं जीत पाये थे. शनिवार को दोनों ने मैच के दौरान बेहतरीन जज्बा दिखाया लेकिन निर्णायक गेम में कुछ ‘अनफोर्स्ड गलतियों’ के कारण मैच गंवा बैठे. दोनों जोड़ियों ने कुछ शानदार रैलियां खेलीं.

सात्विक-अश्विनी की जोड़ी ने किया कड़ा संघर्ष

थाई जोड़ी पहले गेम में ब्रेक तक 11-10 से आगे थी और एक समय 17-12 से आगे हो चुकी थी। पर सात्विक और अश्विनी ने अच्छा खेल दिखाते हुए 20-20 से बराबरी हासिल कर ली, हालांकि गेम उनके हाथों से निकल गया. दूसरे गेम में देचापोल और सपसिरी ने फिर 11-6 से बढ़त बना ली और भारतीय जोड़ी ने अगले नौ में से आठ अंक जुटाकर स्कोर 15-15 कर दिया और फिर सात्विक के ताकतवर स्मैश से बढ़त ले ली. दोनों जोड़ियां 18-18 की बराबरी पर आ गयी थीं लेकिन सात्विक ने एक और बेहतरीन स्मैश से इस गेम को अपनी झोली में डाल लिया. निर्णायक गेम में थाई जोड़ी 3-0 से शुरूआत कर 10-7 तक पहुंच गयी. अनुभवी जोड़ी ने इसके बाद अंतर 15-11 कर दिया और भारतीय जोड़ी की गलती का फायदा उठाते हुए मैच जीत लिया. इससे पहले पुरूष युगल मैच में सात्विक और चिराग मलेशियाई जोड़ी की मुस्तैदी का सामना नहीं कर सके. भारतीय जोड़ी ने शुरूआत में 4 -2 से बढ़त बना ली लेकिन मलेशियाई जोड़ी ने शानदार वापसी करते हुए ब्रेक तक 11 -10 की बढ़त बनाई. एक समय स्कोर 15 -16 था लेकिन इसके बाद मलेशियाई जोड़ी ने लगातार चार अंक लेकर पहला गेम जीत लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज