Home /News /sports /

Tokyo Paralympics: भाविना पटेल गोल्ड जीतने से एक कदम दूर, फाइनल में पहुंचकर रचा इतिहास

Tokyo Paralympics: भाविना पटेल गोल्ड जीतने से एक कदम दूर, फाइनल में पहुंचकर रचा इतिहास

Tokyo Paralympics: भाविनाबेन पटेल ने रचा इतिहास (फोटो साभार-SAI Twitter)

Tokyo Paralympics: भाविनाबेन पटेल ने रचा इतिहास (फोटो साभार-SAI Twitter)

Tokyo Paralympics 2020: टोक्यो पैरालंपिक में टेबल टेनिस महिला सिंगल्स का सेमीफाइनल में भाविनाबेन पटेल (Bhavinaben Patel) ने चीन की झेंग मियाओ को 3-2 से हराया. 34 वर्षीय भाविनाबेन अब गोल्ड से बस एक कदम दूर है.

    नई दिल्ली. टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) में टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल (Bhavinaben Patel) ने फाइनल में पहुंचकर इतिहास रच दिया है. टेबल टेनिस महिला सिंगल्स का सेमीफाइनल में भाविनाबेन पटेल (Bhavina Patel) ने चीन की झेंग मियाओ को 3-2 से हराया. भाविनापटेल ने सेमीफाइनल मुकाबला 7-11, 11-7, 11-4, 9-11, 11-8 से जीता. अब तक कोई भी भारतीय महिला ओलंपिक या पैरालंपिक खेलों में गोल्ड मेडल जीतने का कारनामा नहीं कर सकी है. भाविना के पास भारत की पहली गोल्डन गर्ल बनने का मौका है. 2016 में रियो ओलंपिक में पीवी सिंधु (PV Sindhu) और पैरालंपिक में दीपा मलिक (Deepa Malik) ने सिल्वर मेडल जीता था, हालांकि दोनों खिलाड़ी फाइनल मुकाबला हार गई थीं.

    इससे पहले क्वार्टर फाइनल मुकाबले में भाविना ने सर्बिया की बोरिस्लावा रैंकोविच पेरिच को लगातार तीन गेम में 11-5, 11-6, 11-7 से हराया था. महिला सिंगल्स क्लास 4 कैटेगरी में भाविनाबेन ने अंतिम-16 मेंब्राजील की जॉयस डि ओलिवियरा को मात दी थी. जॉयस ने 2016 में रियो पैरालंपिक में गोल्ड मेडल जीता था. उन्होंने यह मुकाबला सिर्फ 18 मिनट में जीत लिया.

    भाविनाबेन को 12 महीने की उम्र में पोलियो हो गया था. उन्होंने क्वार्टर फाइनल मुकाबले के बाद कहा था, ‘‘मैं भारत के लोगों के समर्थन के कारण अपना क्वार्टर फाइनल मैच जीत सकी. कृपया मेरा समर्थन करते रहें ताकि मैं अपना सेमीफाइनल मैच भी जीत सकूं.’’

    गुजरात की वडनगर की रहने वाली भाविनाबेन पटेल एशियन गेम्स में मेडल जीत चुकी हैं. उन्होंने अब तक 28 अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में भाग लिया है जिसमें भारत के लिए पांच गोल्ड, 13 सिल्वर और कांस्य पदक जीते हैं. उन्हें साल 2011-12 में सरदार पटेल और एकलव्य पुरस्कार से नवाजा जा चुका है.

    व्हीलचेयर पर बैठकर खेलते हैं खिलाड़ी
    पैरा टेबल टेनिस में कुल 11 कैटेगरी होती है. कैटेगरी 1 से 5 तक के एथलीट व्हीलचेयर पर खेलते हैं. क्लास 6 से 10 तक के एथलीट खड़े होकर खेल सकते हैं. क्लास-11 के एथलीटों में मानसिक समस्या होती है. भारत की भाविनाबेन पटेल ने भी व्हीचेयर के सहारे फाइनल तक का सफर तय किया है.

    Tags: Paralympics 2020, Sports news, Table Tennis, Tokyo Paralympics, Tokyo Paralympics 2020

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर