Home /News /sports /

Tokyo Paralympics: फाइनल से हटना चाहते थे शरद कुमार, फिर भगवत गीता पढ़कर जीता मेडल

Tokyo Paralympics: फाइनल से हटना चाहते थे शरद कुमार, फिर भगवत गीता पढ़कर जीता मेडल

टोक्यो पैरालंपिक में ब्रांज मेडल जीतने वाले बिहार के शरद कुमार

टोक्यो पैरालंपिक में ब्रांज मेडल जीतने वाले बिहार के शरद कुमार

Tokyo Paralympics: फाइनल से पहले अभ्‍यास के दौरान ऊंची कूद के खिलाड़ी भारत के शरद कुमार (sharad kumar) के घुटने में चोट लग गई थी, जिसके बाद वह पूरी रात रोते रहे और नाम वापस लेने के बारे में सोचने लगे.

    टोक्यो. टोक्‍यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) में टी42 ऊंची कूद में ब्रॉन्‍ज मेडल जीतने वाले शरद कुमार  (sharad kumar) एक समय घुटने की चोट के कारण फाइनल से नाम वापिस लेने की सोच रहे थे. फिर उन्‍होंने भारत में परिवार से बात की और स्पर्धा से एक रात पहले भगवत गीता पढ़ी, जिससे चिंताओं से निजात मिली और उन्होंने ब्रॉन्‍ज भी जीता. पटना में जन्में 29 वर्ष के शरद को सोमवार को घुटने में चोट लगी थी. उन्होंने कहा कि ब्रॉन्‍ज पदक जीतकर अच्छा लग रहा है, क्योंकि मुझे सोमवार को अभ्यास के दौरान चोट लगी थी. मैं पूरी रात रोता रहा और नाम वापिस लेने की सोच रहा था.
    उन्होंने कहा कि मैंने फिर रात में अपने परिवार से बात की. मेरे पिता ने मुझे भगवत गीता पढ़ने को कहा और यह भी कहा कि जो मैं कर सकता हूं , उस पर ध्यान केंद्रित करूं न कि उस पर जो मेरे वश में नहीं है.

    हर कूद को लिया जंग की तरह 

    2 वर्ष की उम्र में पोलियो की नकली खुराक दिए जाने से शरद के बायें पैर में लकवा मार गया था. उन्होंने कहा कि मैने चोट को भुलाकर हर कूद को जंग की तरह लिया. पदक सोने पे सुहागा रहा. दिल्ली के मॉडर्न स्कूल और किरोड़ीमल कॉलेज से पढ़ाई करने वाले शरद ने जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से अंतरराष्ट्रीय संबंधों में मास्टर्स डिग्री ली है.

    Tokyo Paralympics: हाई जंप में भारत को दोहरी सफलता, मरियप्पन को सिल्वर और शरद ने जीता ब्रॉन्ज

    Tokyo Paralympics: सिंहराज अधाना ने टोक्‍यो पैरालंपिक में जीता ब्रॉन्‍ज मेडल

    2 बार एशियाई पैरा खेलों में चैंपियन और विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता शरद ने कहा कि बारिश में कूद लगाना काफी मुश्किल था. हम एक ही पैर पर संतुलन बना सकते हैं और दूसरे में स्पाइक्स पहनते हैं. मैंने अधिकारियों से बात करने की कोशिश की कि स्पर्धा स्थगित की जानी चाहिए, लेकिन अमेरिकी ने दोनों पैरों में स्पाइक्स पहने थे . इसलिये स्पर्धा पूरी कराई गई.

    Tags: Sports news, Tokyo Paralympics, Tokyo Paralympics 2020

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर