Home /News /sports /

Tokyo Paralympics: कृष्णा, सुहास और प्रमोद के पास गोल्ड जीतने का मौका, भारत का 18वां पदक हुआ पक्का

Tokyo Paralympics: कृष्णा, सुहास और प्रमोद के पास गोल्ड जीतने का मौका, भारत का 18वां पदक हुआ पक्का

Tokyo Paralympics: कृष्णा नागर के पास गोल्ड जीतने का मौका. (फोटो साभार-@Krishnanagar99)

Tokyo Paralympics: कृष्णा नागर के पास गोल्ड जीतने का मौका. (फोटो साभार-@Krishnanagar99)

Tokyo Paralympics: भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी कृष्णा नागर ने टोक्यो पैरालंपिक के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. इसके साथ ही भारत का 18वां पदक पक्का हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. भारतीय शटलर कृष्णा नागर (Krishna Nagar) ने टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) बैडमिंटन मेन्स सिंगल्स क्लास एसएच6 फाइनल में प्रवेश कर लिया है. इसके साथ ही भारत का 18वां पदक पक्का हो गया है.  मौजूदा विश्व चैम्पियन प्रमोद भगत और सुहास यतिराज भी शनिवार को टोक्यो पैरालंपिक मेन्स सिंगल्स बैडमिंटन में अपने-अपने वर्ग के फाइनल में पहुंच गए लेकिन मनोज सरकार और तरूण ढिल्लों को सेमीफाइनल में पराजय का सामना करना पड़ा. हालांकि मनोज और तरुण के पास अब भी ब्रॉन्ज मेडल जीतने का मौका है.

    फाइनल में पहुंचते ही कृष्णा ने भारत का 18वां पदक पक्का कर दिया है. भारत ने टोक्यो पैरालंपिक में अब तक तीन गोल्ड, सात सिल्वर और पांच ब्रॉन्ज मेडल जीता है. बैडमिंटन में लंदन ओलंपिक 2012 में साइना नेहवाल ने कांस्य, रियो 2016 में पीवी सिंधु ने सिल्वर और टोक्यो 2020 में सिंधु ने कांस्य पदक जीता था. फाइनल में पहुंचते ही सुहास यतिराज और प्रमोद भगत के बाद कृष्णा नागर ओलंपिक या पैरालंपिक खेलों में बैडमिंटन में मेडल जीतने वाले तीसरे पुरुष खिलाड़ी बन गए हैं. कृष्णा, सुहास और प्रमोद का कम से कम सिल्वर मेडल पक्का हो चुका है. फाइनल में उनके पास मेडल का रंग बदलने का मौका है.

    दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी और एशियाई चैम्पियन 33 वर्ष के प्रमोद भगत ने एसएल3 क्लास में जापान के दाइसुके फुजीहारा को 36 मिनट में 21-11, 21-16 से हराया. इस साल पैरालंपिक में पहली बार बैडमिंटन खेला जा रहा है लिहाजा स्वर्ण पदक के मुकाबले में पहुंचने वाले भगत पहले भारतीय हो गए. उनका सामना ब्रिटेन के डेनियल बेथेल से होगा.

    यह भी पढ़ें:

    Tokyo Paralympics: मनीष नरवाल ने गोल्ड जीत रचा इतिहास, सिंहराज के हिस्से में आया सिल्वर

    Tokyo Paralympics: नोएडा के डीएम सुहास ने टोक्यो पैरालंपिक में रचा इतिहास, अब नजरें गोल्ड मेडल पर

    एसएल4 क्लास में नोएडा के जिलाधिकारी सुहास ने इंडोनेशिया के फ्रेडी सेतियावान को 31 मिनट में 2- 9, 21-15 से हराया. अब उनका सामना शीर्ष वरीयता प्राप्त फ्रांस के लुकास माजूर से होगा. माजूर ने दूसरी वरीयता प्राप्त भारतीय खिलाड़ी ढिल्लों को करीबी मुकाबले में 21-16, 16-21, 21-18 से हराया. हिसार के 27 वर्ष के ढिल्लों का सामना कांस्य पदक के लिये सेतियावान से होगा. वहीं मनोज को दूसरी वरीयता प्राप्त बेथेल ने 21-8, 21-10 से हराया. मनोज अब कांस्य पदक के लिये फुजीहारा से खेलेंगे.

    Tags: Badminton, Paralympics, Paralympics 2020, Pramod Bhagat, Tokyo Paralympics, Tokyo Paralympics 2020

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर