Home /News /sports /

Tokyo Paralympics: मनीष नरवाल ने गोल्ड जीत रचा इतिहास, सिंहराज के हिस्से में आया सिल्वर

Tokyo Paralympics: मनीष नरवाल ने गोल्ड जीत रचा इतिहास, सिंहराज के हिस्से में आया सिल्वर

Tokyo Paralympics: मनीष नरवाल ने जीता टोक्यो पैरालंपिक में भारत को तीसरा गोल्ड दिलाया.

Tokyo Paralympics: मनीष नरवाल ने जीता टोक्यो पैरालंपिक में भारत को तीसरा गोल्ड दिलाया.

Tokyo Paralympics: भारत के मनीष नरवाल (Manish Narwal) ने मिक्स्ड 50 मीटर पिस्टल एसएच1 निशानेबाजी में गोल्ड मेडल जीता. सिंहराज सिंह अडाना (Singhraj Adana) को रजत.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्ली. भारत के मनीष नरवाल (Manish Narwal) ने मिक्स्ड 50 मीटर पिस्टल एसएच1 निशानेबाजी में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. वहीं 39 वर्षीय सिंहराज सिंह अडाना (Singhraj Adana) को रजत पदक मिला है. 19 साल के नरवाल ने पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) का रिकॉर्ड बनाते हुए 218.2 स्कोर किया. वहीं अडाना ने 216.7 अंक बनाकर रजत पदक अपने नाम किया. दोनों निशानेबाज हरियाणा के फरीदाबाद के रहने वाले हैं. रूसी ओलंपिक समिति के सर्जेइ मालिशेव ने 196.8 अंकों के साथ कांस्य पदक जीता. इससे पहले क्वालीफाइंग दौर में अडाना 536 अंक लेकर चौथे और नरवाल 533 अंक लेकर सातवें स्थान पर थे. भारत के आकाश 27वें स्थान पर रहकर फाइनल में जगह नहीं बना सके.

    इसके साथ ही टोक्यो ओलंपिक में भारत की पदकों की संख्या 15 हो गई है. भारत ने अब तक तीन गोल्ड, सात सिल्वर और पांच ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं. टोक्यो पैरालंपिक में निशानेबाजी में भारत का 5 पदक जीत चुका है. 19 वर्षीय अवनि लेखरा ने एक गोल्ड और एक कांस्य पदक अपने नाम किया है. वहीं सिंहराज अडाना ने पैरालंपिक खेलों में 31 अगस्त को पी1 पुरुष 10 मीटर एयर पिस्टल एसएच1 में कांस्य पदक जीता था. अवनि की तरह ही सिंहराज भी टोक्यो पैरालंपिक में दो मेडल अपने नाम किया है.

    एसएच1 वर्ग में निशानेबाज एक ही हाथ से पिस्टल पकड़ते हैं क्योंकि उनके एक हाथ या पैर में विकार होता है जो रीढ़ की में चोट या अंग कटने की वजह से होता है.  कुछ निशानेबाज खड़े होकर तो कुछ बैठकर निशाना लगाते हैं.

    यह भी पढ़ें:

    Tokyo Paralympics: प्रमोद भगत गोल्ड जीतने से एक कदम दूर, फाइनल में पहुंचकर रचा इतिहास

    Tokyo Paralympics: नोएडा के डीएम सुहास ने टोक्यो पैरालंपिक में रचा इतिहास, अब नजरें गोल्ड मेडल पर

    मनीष नरवाल पैरालंपिक खेलों में गोल्ड जीतने वाले छठे भारतीय
    टोक्यो पैरालंपिक में यह भारत का तीसरा गोल्ड है. इससे पहले अवनि लेखरा निशानेबाजी और सुमित अंतिल भालाफेंक में गोल्ड जीत चुके हैं. मनीष नरवाल पैरालंपिक खेलों में गोल्ड जीतने वाले सिर्फ छठे भारतीय खिलाड़ी हैं. पैरालंपिक खेलों में भारत को पहला गोल्ड मुरलीकांत पेटकर ने 1972 दिलाया था. इसके बाद देवेंद्र झाझरिया ने एथेंस ओलंपिक 2004 और रियो ओलंपिक 2016 में भालाफेंक में भारत को गोल्ड दिलाया. वहीं रियो खेलों में मरियप्पन थंगावेलु ने ऊंची कूद में स्वर्ण पदक जीता था.

    निशानेबाजी में गोल्ड जीतने वाले दूसरे भारतीय
    मनीष नरवाल से पहले बीजिंग ओलंपिक 2008 में अभिनव बिंद्रा भारत की तरफ से गोल्ड मेडल जीत चुके हैं. मनीष ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों में गोल्ड जीतने वाले 8वें भारतीय हैं.

    Tags: Paralympics, Paralympics 2020, Shooting, Tokyo Paralympics, Tokyo Paralympics 2020

    अगली ख़बर