सुशील कुमार के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी, जूनियर पहलवान सागर की हत्या के बाद से है फरार

छत्रसाल स्टेडियम में हुई 
जूनियर पहलवान की हत्या की वारदात के बाद से पहलवान सुशील कुमार पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.

छत्रसाल स्टेडियम में हुई जूनियर पहलवान की हत्या की वारदात के बाद से पहलवान सुशील कुमार पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.

दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में 23 वर्षीय पहलवान सागर राणा की हत्या के मामले में सुशील कुमार (Sushil Kumar) आरोपी है. वह इस मामले में नाम आने के बाद से फरार है. दिल्ली पुलिस ने उनके घर पर भी छापेमारी की लेकिन उसे खाली हाथ लौटना पड़ा. बाद में जानकारी सामने आई कि वह भागकर हरिद्वार और फिर ऋषिकेश भी गया था.

  • Share this:

नई दिल्ली. जूनियर पहलवान सागर राणा की हत्या के मामले में ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है. दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में बीते दिनों 23 वर्षीय पहलवान सागर राणा की हत्या हो गई थी, इसी मामले में सुशील कुमार आरोपी है. हत्या के मामले में नाम सामने आने के बाद से ही सुशील फरार चल रहा है. दिल्ली की एक अदालत ने सुशील के खिलाफ शनिवार को गैर-जमानती वारंट जारी किया. इससे पहले उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था.

हत्या के इस मामले में सुशील कुमार का नाम सामने आने के बाद दिल्ली पुलिस ने उनके घर पर रेड मारी लेकिन वह नहीं मिला. इस पूरे मामले में दिल्ली पुलिस ने सुशील कुमार समेत दो अन्य पहलवानों के घर भी छापेमारी की थी. बाद में यह भी जानकारी सामने आई कि सुशील दिल्ली से पहले हरिद्वार गया और फिर ऋषिकेश में किसी आश्रम में भी रुका. अब यह भी माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस सुशील को पकड़वाने पर इनाम भी घोषित कर सकती है. पुलिस सूत्रों की मानें तो सुशील को जब नोटिस भेजा गया था तो उसने अपना फोन भी स्विच ऑफ कर लिया.

इसे भी पढ़ें, पहलवान मर्डर केस में घायल पीड़ित का दावा-सुशील कुमार थे झगड़े में संलिप्त

दिल्ली पुलिस को चार मई को रात करीब 12 बजे छत्रसाल स्टेडियम में पहलवानों के बीच झगड़े की खबर मिली थी. झगड़े में घायल होने वाले पहलवान सागर को बीजेआरएम अस्पताल में भर्ती कराया गया जिसके बाद हालत बिगड़ती देख उसे ट्रॉमा सेंटल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. पुलिस ने पाया कि स्टेडियम के पार्किंग क्षेत्र में सुशील कुमार, अजय, प्रिंस, सोनू, सागर, अमित और अन्य के बीच कथित तौर पर झगड़ा हुआ था.
इससे पहले द‍िल्‍ली पु‍लिस ने द‍िल्‍ली सरकार को पत्र ल‍िखकर अवगत कराया था कि सुशील हत्या और अपरहण के मामले में फरार चल रहा है. सुशील दिल्ली सरकार के अंतर्गत आने वाले छत्रसाल स्टेडियम में डिप्टी डायरेक्टर के पद पर तैनात है. दिल्ली मे लॉकडाउन के बावजूद सुशील पहलवान लारेंस विश्नोई और काला जखेड़ी गैंग के बदमाशों को लेकर स्टेडियम में दाखिल हुआ था जहां पहलवानों के दो गुटों में मारपीट हुई. मृतक सागर ने 97-किलोग्राम ग्रीको-रोमन श्रेणी में प्रतिस्पर्धा की थी और वह एक पूर्व जूनियर राष्ट्रीय चैंपियन और वरिष्ठ राष्ट्रीय शिविर का हिस्सा थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज