लाइव टीवी

उत्‍तराखंड के दूसरे CM रहे हैं भगत सिंह कोश्‍यारी, अब महाराष्‍ट्र के CM पर लेना है फैसला!

News18Hindi
Updated: November 8, 2019, 5:06 PM IST
उत्‍तराखंड के दूसरे CM रहे हैं भगत सिंह कोश्‍यारी, अब महाराष्‍ट्र के CM पर लेना है फैसला!
भगत सिंह कोश्‍यारी के पास राजनीति का पुराना अनुभव है.

महाराष्‍ट्र (Maharashtra) में इन दिनों सरकार बनाने को लेकर शिवसेना (Shiv sena) और बीजेपी (BJP) के बीच खींचतान की स्थिति है. विधानसभा चुनाव के दो हफ्ते बाद भी राज्‍य में सरकार का गठन नहीं हो पाया है. ऐसे में राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी (Bhagat singh Koshyari) के पास कुछ विकल्‍प मौजूद हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2019, 5:06 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Elections 2019) के करीब दो हफ्तों बाद भी सरकार के गठन को लेकर असमंजस की स्थिति बरकरार है. शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी (BJP) के बीच सरकार बनाने को लेकर सरगर्मियां जोरों पर हैं. ऐसे में आज का दिन अहम है. आज अगर महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने को लेकर कोई ऐलान नहीं होता है तो देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) को इस्‍तीफा देना पड़ सकता है. इन सब राजनीतिक हालात पर राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी (Bhagat Singh Koshyari) नजर बनाए हुए हैं. उनके पास कुछ विकल्‍प भी मौजूद हैं. भगत सिंह कोश्‍यारी के पास राजनीति और सरकार चलाने का पुराना अनुभव है. वह उत्‍तराखंड के दूसरे मुख्‍यमंत्री रह चुके हैं. आइए जानते हैं भगत सिंह कोश्‍यारी के बारे में रोचक बातें...

1. भगत सिंह कोश्‍यारी का जन्‍म 17 जून, 1942 को उत्‍तराखंड (तत्‍कालीन उत्‍तर प्रदेश) के बागेश्‍वर जिले में हुआ था.

2. भगत सिंह कोश्‍यारी ने उत्‍तराखंड के अल्‍मोड़ा कॉलेज से मास्‍टर्स किया. उन्‍होंने राजनीति में छात्र राजनीति के जरिये कदम रखा. वह पढ़ाई के दौरान 1961-62 में अल्मोड़ा कॉलेज में छात्रसंघ के महासचिव भी रहे.

3. कोश्‍यारी ने 1979 से 1985 और फिर 1988 से 1991 तक कुमाऊं विश्वविद्यालय की एक्जीक्यूटिव काउंसिल में प्रतिनिधित्व भी किया.

4. भगत सिंह कोश्‍यारी ने इसके बाद राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (RSS) भी ज्‍वाइन किया. वह आपातकाल के दौरान जेल में भी रहे. तीन जुलाई, 1975 को आपातकाल का विरोध करने पर वह गिरफ्तार हुए. वह 23 मार्च, 1977 तक जेल में रहे.

5. भगत सिंह कोश्‍यारी 1997 में उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित किए गए.

6. वर्ष 2000 में उत्तराखंड की अंतरिम सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाए गए.
Loading...

7. 30 अक्टूबर, 2001 को वह उत्तराखंड के दूसरे मुख्यमंत्री बने. वह उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री रहने के दौरान ही राज्‍य बीजेपी के अध्‍यक्ष भी रहे. 2002 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था.

शिवसेना और बीजेपी के बीच महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने को लेकर खींचतान चल रही है.


8. 2002 विधानसभा चुनाव में वह कपकोट सीट से चुनाव जीते थे.

9. उन्‍होंने 2002 से 2007 तक विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का दायित्व निभाया.

10. 2007 के विधानसभा चुनाव में उन्‍होंने दोबारा कपकोट सीट से जीत दर्ज की.

11. 2008 में भगत सिंह कोश्‍यारी राज्यसभा के सदस्‍य चुने गए.

12. 2014 लोकसभा चुनाव में उन्‍होंने नैनीताल-उधमसिंह नगर सीट से चुनाव जीता.

13. भगत सिंह कोश्‍यारी ने उत्‍तराखंड के पिथौरागढ़ में सरस्‍वती शिशु मंदिर, विवेकानंद विद्या मंदिर इंटर कॉलेज और नैनीताल में सरस्‍वती विहार हायर सेकेंडरी स्‍कूल की स्‍थापना की.

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र LIVE: उद्धव ठाकरे से आज मिलेंगे नितिन गडकरी, संजय राउत का आरोप-राष्ट्रपति शासन लगाना चाहती है BJP

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 11:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...