शुरू होने वाला है 5G का भारत में ट्रायल, फोन पर भी जल्द कर सकेंगे इस्तेमाल

इस सप्ताह से कंपनियां यह ट्रायल शुरू भी कर देगी

इस सप्ताह से कंपनियां यह ट्रायल शुरू भी कर देगी

भारत 5G नेटवर्क की दौड़ में सबसे विकसित देशों से पीछे है. पिछले साल ही 34 देशों के 378 शहरों में 5G नेटवर्क उपलब्ध थे. दक्षिण कोरिया ने 85 शहरों में कवरेज का मार्ग प्रशस्त किया, चीन ने 57, अमेरिका ने 5, यूके के पास पहले से ही 5G नेटवर्क वाले 31 से अधिक शहर है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत अब 5G मोबाइल नेटवर्क से एक कदम की ही दूरी पर है. भारत सरकार के डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्यूनिकेशन्स (Department of Telecommunications) और मिनिस्ट्री ऑफ कम्यूनिकेशन (Ministry of Communications)ने 5G ट्रायल (5G trials) को अनुमति दे दी है. यह अनुमति उन्हें ही मिली है जिन्हें 5G स्पेक्ट्रम (spectrum)अलॉट किया गया है. खबर है कि इस सप्ताह से कंपनियां यह ट्रायल शुरू भी कर देगी. जिसका मतलब यह हुआ कि टेलीकॉम कंपनियां जिसमें रिलायंस जियो (Reliance Jio), भारती एयरटेल(Bharti Airtel), वीआई (Vi)पूरे भारत में इसका ट्रायल शुरू करेगी. हालांकि यह अभी साफ नहीं है कि यह ट्रायल कितने समय तक चलेगा. लेकिन अर्थोरिटी ने सीएनबीसी-18 को यह कन्फर्म किया है चाइनीज वेंडर्स (Chinese vendors )इस ट्रायल से बाहर रहेंगे, जिसका मतलब यह है कि टेलीकॉम इंक्यूपमेंट कंपनी जिसमें हुवेई(Huawei) भी शामिल है इस 5G ट्रायल का हिस्सा नहीं बन पाएगी. यह घोषणा उस वक्त हुई है जब भारत ने 5G रोलआउट पर कुछ पकड़ बनाई है. हालांकि कुछ महीने से भारत में 5G को लेकर मूवमेंट देखा गया लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि और 5G परीक्षणों के लिए   स्पेक्ट्रम के आवंटन की प्रतिक्षा है. 



JIO कर रहा है स्वदेशी 5G नेटवर्क विकसित



रिलायंस जियो पहले ही इसकी पुष्टि कर चुका है कि वो एक स्वदेशी 5G नेटवर्क विकसित करेंगे. कंपनी इसके लिए अपना मैसिव एमआईएमओ और 5G जी स्मॉल सेल उपकरण बनाने पर भी काम कर रही है. जियो भारत सरकार के आत्मनिर्भर भारत के तहत इसे पूरी तरह से मेड इन इंडिया बना रही है.  



ये भी पढ़ें - पायलट्स एसोसिएशन की धमकी! कोरोना वैक्सीन नहीं लगी तो हड़ताल पर जाएंगे Air India के पायलट






Airtel ने हैदराबाद में थी टेस्टिंग





जनवरी में भारती एयरटेल ने हैदराबाद में कर्मशियल नेटवर्क पर सफल 5G टेस्टिंग की पुष्टि की थी और कहा था कि उनका नेटवर्क 5G तैयार है और बस सॉफ्टवेयर अपडेट को सक्षम करने और स्विच को अनिवार्य रूप से बदलने के लिए विनियामक अनुमोदन की आवश्यकता है. 



इन मेगाहर्ट्स पर हो सकती है टेस्टिंग 



हालांकि यह देखा जाना अभी बाकी है कि भारत में 5G मोबाइल नेटवर्क परीक्षणों के लिए कौन से बैंड तैनात किए जाएंगे. और जल्द ही दूरसंचार कंपनियां उपभोक्ताओं के लिए व्यावसायिक रूप से कैसे रोलआउट करने की स्थिति में होगी. उम्मीद की जा रही है कि भारत में 5G नेटवर्क 1800 मेगाहर्ट्स, 2100 मेगाहर्ट्स, 2300 मेगाहर्ट्स के साथ 800 मेगाहर्ट्स और 900 मेगाहर्ट्स बैंड को कवर करेगा. हालांकि यह कंपनियों के हिसाब से अलग-अलग हो सकता है. 



ये भी पढ़ें - कोरोना से जंग: Paytm दर्जनभर से ज्‍यादा शहरों में लगाएगा ऑक्सीजन प्लांट, Samsung देगा 50 लाख डॉलर की मदद







कंपनियां लॉन्च कर चुकी है 5G फोन



भारत में पिछले एक साल से ही कई फोन कंपनियों ने पहले से ही  5G कनेक्टिविटी के साथ अपने कई मॉडल्स को भारत में पहले ही लॉन्च कर दिया है.  भारत सरकार भी अपने मेक इन इंडिया कैंपेन के साथ भारत को ग्लोबल मैन्यूफैक्चरिंग हब की तैयारी में जुटी है. 



इन सेक्टर्स को मिलेगी मदद



पिछले साल डेलॉइट ने अपने 5G The Catalyst to Digital Revolution in India की रिपोर्ट में कहा था कि भारत में 5G के आ जाने से उम्मीद है कि फैक्ट्रियों को रियल टाइम सप्लायर्स और कस्टमर्स से जुड़ने का मौका मिलेगा जिससे वे अधिक स्मार्ट और कुशल बनेंगे. यह उम्मीद की जा रही है कि रिमोट मेडिसिन, स्मार्ट सिटीज, वर्चुअल बैंकिंग, 4k व 8k में कंटेंट स्ट्रीमिंग सब्सक्रिप्शन, ऑगमेंटेड रियलिटी (AR), बिग डेटा एनालिटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सभी में 5G को बढ़ावा मिलेगा.  



ये भी पढ़ें - Apple यूजर्स जल्द इस्तेमाल कर सकेंगे फोल्डेबल फोन, जानें किन फीचर्स के साथ और कब तक होगा लॉन्च







5G नेटवर्क की दौड़ में सबसे विकसित देशों से पीछे है भारत



हालांकि भारत  5G नेटवर्क की दौड़ में सबसे विकसित देशों से पीछे है. पिछले साल नेटवर्क परीक्षण प्रदाता VIAVI के आकड़ों के अनुसार 34 देशों के 378 शहरों में 5G नेटवर्क उपलब्ध थे और तब से इसमें वृद्धि हुई है. उस समय दक्षिण कोरिया ने 85 शहरों में कवरेज का मार्ग प्रशस्त किया, चीन ने 57, अमेरिका ने 5, यूके के पास पहले से ही 5G नेटवर्क वाले 31 से अधिक शहर है. 


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज